2016 में टेस्ट क्रिकेट के लिए इंग्लैंड का भाग्य थम-सा गया है : एलेस्टर कुक

no photo
 |

© Getty

2016 में टेस्ट क्रिकेट के लिए इंग्लैंड का भाग्य थम-सा गया है : एलेस्टर कुक

इंग्लैंड के कप्तान एलेस्टर कुक ने टीम के निराशाजनक प्रदर्शन पर दुःख जताते हुए कहा कि 2016 में टेस्ट क्रिकेट के लिए इंग्लैंड का भाग्य थम-सा गया है। उन्होंने इस बात की पुष्टि भी की है कि भारत में सीरीज की हार के बाद भी वह अपनी टेस्ट कप्तानी को लेकर निर्णय लेने में कोई जल्दबाजी नहीं करना चाहते।

2016 में इंग्लैंड को, 17 टेस्ट मुकाबलों में से आठ में पराजय मिली है और साल के अंत में, टीम ICC टेस्ट रैंकिंग में न. 5 स्थान पर है। यह 2015 में उनके प्रदर्शन के बिल्कुल विपरीत है। उस साल, उन्होंने दक्षिण अफ्रीका में मेज़बान टीम को हराया था और साथ ही एशेज सीरीज पर भी जीत हासिल की थी। इसके बाद का वक़्त इंग्लैंड के लिए पतन लेकर आया है।

जब कुक से यह पूछा गया कि क्या इंग्लैंड उनकी कप्तानी में आगे नहीं बढ़ पा रहा, तब उन्होंने इस बात से इनकार किये बिना, एक अविवाद बयान देना बेहतर समझा।

स्काई स्पोर्ट्स को दिए गए इंटरव्यू में कुक ने कहा, "लोगों का नाराज़ होना जायज़ है, वे कह सकते हैं जो उन्हें कहना है। अगर इसपर मैं पीछे मुड़कर उनके साथ बहस करने लगूं तो यह सही नहीं होगा। जब आप हारते हैं तो आपकी आलोचना होती है। आपको उसे सहना पड़ता है।"

उन्होंने कहा, "यह सब देखने में अच्छा नहीं लगा और ऐसा कहीं भी हो सकता है, खासकर, जब टेस्ट मुकाबले के पांचवे दिन पर इतना दबाव हो। जब एक टीम जीत की ओर बढ़ती है, वह भी पूरी भीड़ के समर्थन के साथ, तो उसे रोक पाना मुश्किल होता है। आपको दबाव से पीछा छुड़ाने के लिए बेहद अच्छा प्रदर्शन करना पड़ता है और हम ऐसा नहीं कर सके। मुझे अपनी टीम के लिए बुरा लग रहा है, काश हम मुकाबले को ड्रा कर पाते लेकिन हम ऐसा करने में सक्षम नहीं हुए।

इस जीत के साथ ही इंग्लैंड के इतिहास के सबसे कामयाब बल्लेबाज़ ने अपने नाम एक और रिकॉर्ड कर लिया है, जिसे शायद वह कभी याद रखना नहीं चाहेंगे। यह रिकॉर्ड है इंग्लैंड के किसी कप्तान के अंतर्गत टीम को मिली सबसे अधिक हार का। माइकल एथरटन को पीछे छोड़ते हुए, कुक की कप्तानी में खेले गए 59 टेस्ट मुकाबलों में, 22 में इंग्लैंड की टीम को हार मिली है। हालांकि कुक ने स्पष्ट किया है कि वह ECB के अध्यक्ष एंड्रू स्ट्रॉस के साथ, नए साल के बाद, अपनी टीम की कप्तानी को लेकर चर्चा करेंगे। वह कोई भी निर्णय जल्दबाजी में नहीं लेना चाहते।

"मैं यहाँ खड़े-खड़े इतने बड़े सवाल का जवाब नहीं दे पाउँगा," कुक ने कहा। "मुझे वापस जाकर इसपर विचार करना होगा। अभी मुझे घर जाना होगा, और पिछले दिनों के सारे घटनाओं से परे हटकर इसपर फैसला लेना होगा।"

"मुझे पहले घर जाना है और क्रिसमस मनाना है और फिर जनवरी में स्ट्रॉस के साथ बैठकर इसपर चर्चा करना है। मुझे इस बात को सोचने के लिए थोड़ा वक़्त चाहिए कि क्या मैं इंग्लैंड को आगे ले जाने के लिए एक सही कप्तान हूँ? जब हार की वजह से हम मानसिक रूप से तनाव में है, तो ऐसे में कोई निर्णय लेना ठीक नहीं होगा| जब आपके अन्दर ऊर्जा नहीं हो तो आप कोई गलत फैसला ले सकते हैं।

"जब अगले सात महीनों तक कोई टेस्ट मुकाबले होने ही नहीं वाला है तो यह बेवकूफी होगी कि मैं यहां खड़े-खड़े एक ऐसा फैसला ले लूं जिसपर भविष्य निर्भर करेगा। अगर तीन हफ़्तों के अन्दर कोई टेस्ट मुकाबला होने वाला होता, तो सोचा जा सकता था। लेकिन जब ऐसा नहीं है, तो बेवकूफी क्यों की जाये?" उन्होंने कहा।

Predict IPL & WIN CASH! Can you predict the Game?

Join & Play NOW! Click here here to download Nostra Pro & get ₹20 Joining Bonus!

Win cash daily by predicting the right result on Nostragamus. Click here to download the game on Android! To know more, visit Nostragamus.in

SHOW COMMENTS