झारखंड रणजी की सफलता के पीछे एमएस धोनी का हाथ: पूर्व अंडर-19 कप्तान इशान किशन

no photo
 |

© Official FB - Indian cricket team

झारखंड रणजी की सफलता के पीछे एमएस धोनी का हाथ: पूर्व अंडर-19 कप्तान इशान किशन

इस साल रणजी ट्राॅफी के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली झारखंड टीम की सफलता का श्रेय भारत के पूर्व अंडर-19 कप्तान और झारखंड टीम के खिलाड़ी इशान किशन ने एमएस धोनी को दिया है। इस सत्र में सर्वाधिक विकेट लेने वाले तेज़ गेंदबाज़ शाहबाज़ नदीम ने भी अपने प्रदर्शन का श्रेय धोनी को दिया।

झारखंड की टीम के लिए रणजी ट्राॅफी का 2016-17 का सत्र किसी सपने से कम नहीं रहा है। रणजी ट्राॅफी के सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए इस टीम ने हरियाणा को मात दी।

इस कामयाबी से काफी हद तक एमएस धोनी का काफी मज़बूत रिश्ता है। टेस्ट क्रिकेट से रिटायरमेंट के बाद घरेलू क्रिकेट में अपना दबदबा जमाने के बजाए धोनी ने नियमित तौर पर घरेलू क्रिकेट टीम से जुड़ कर उनके अभ्यास सत्र में मेंटर की भूमिका निभाई। उनके इस कदम के बाद टीम कमाल करती नज़र आ रही है।

न्यूज़18 को दिए साक्षात्कार में भारतीय अंडर-19 के पूर्व कप्तान ने बताया कि इस सत्र में उनकी टीम में आए बदलाव के लिए धोनी ज़िम्मेदार हैं।

किशन ने कहा, ‘‘धोनी भाई ने मुझे नेट्स में देखा और साथ आए और मुझे शुरूआत में अपनी आक्रामकता को कम करने की सलाह दी। उन्हें यकीन था कि लंबी पारी खेलने के लिए मुझे एक सधी शुरूआत करनी होगी और मैंने ऐसा ही किया। उन्होंने मुझे अपने तरीके में भी बदलाव करने के लिए कहा, ऐसी राय जब धोनी भाई जैसे शख्स से मिलती है तो आप उनके आंकलन पर आराम से भरोसा कर सकते हैं।’’

न्यूज़18 की रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने कहा, ‘‘मैंने खेलने के अपने तरीके पर दोबारा काम किया और सीज़न से पहले मैंने कैंप में अपने नए तरीके पर ट्रेनिंग की और मुझे महसूस हुआ कि मैं क्रीज़ पर काफी अच्छा महसूस कर रहा था। मैंने उस तरीके को कायम रखा है और मैंने देखा की इससे मेरे बल्लेबाजी के स्तर में बेहतरी आई है।’’

किशन ने ये भी बताया कि भारतीय कप्तान ने टीम में फिटनेस कल्चर को भी बढ़ावा दिया, जो आमतौर पर भारतीय घरेलू क्रिकेट में कम ही देखने को मिलता है।

‘‘धोनी भाई ने फिटनेस पर काफी ज़ोर दिया है। हम सभी जानते हैं कि वो फिटनेस लेवल के शीर्ष पर रहना उन्हें बेहद पसंद है। इस बार उन्होंने ये सुनिश्चित किया कि इस सत्र के प्रारंभ से पहले हम सभी अपनी फिटनेस पर काम करें। ये कुछ ऐसा था जो डोमेस्टिक टीमों में सामान्य नहीं था लेकिन जो अनुभव मिला वो बेहतरीन था।’’

50 विकेट लेकर इस सत्र में शीर्ष पर चल रहे शाहबाज़ नदीम ने भी बताया कि किस तरह धोनी ने उनकी मदद की।

नदीम ने खुलासा किया कि, ‘‘धोनी भाई जैसे किसी शख्स का होना आपकी हमेशा मदद करता है। उनकी रणनीतिक सूझबूझ पर कोई सवाल नहीं है और मुझे अभी भी याद है जब हम महाराष्ट्र के खिलाफ खेलने जा रहे थे तब विकेट पर हल्की हरी घास नज़र आ रही थी। धोनी भाई मेरे पास आए और कहा कि मैं शुरूआत में बल्लेबाज़ को रोकने का काम करूं और उसके बाद ही वेरिएशंस का इस्तेमाल करूं। उस सुझाव ने काम किया और इस वक्त में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ियों की सूची में शीर्ष पर हूं।’’

नए साल के दिन नागपुर में होने वाले सेमीफाइनल में झारखंड और गुजरात के बीच मुकाबला होगा।

Who is your Test wicketkeeper of 2016?
Quinton de Kock
Jonny Bairstow
Wriddhiman Saha
Dinesh Chandimal
Who is your ODI/T20I wicketkeeper of 2016?
Quinton de Kock
Jos Buttler
Dinesh Chandimal
Mahendra Singh Dhoni
Jonny Bairstow

England or West Indies? Who will win the first test?

Presenting Nostragamus, the first ever prediction game that covers all sports, including Cricket. Play the ENG vs WI challenge and win cash prizes daily!

Download the app for FREE and get Rs.20 joining BONUS. Join 30,000 other users who win cash by playing NostraGamus. Click here to download the app for FREE on android!

SHOW COMMENTS