शेन वार्न ने ऑस्ट्रेलिया में स्पिनरों के प्रदर्शन की समीक्षा की

no photo
 |

© Getty Images

शेन वार्न ने ऑस्ट्रेलिया में स्पिनरों के प्रदर्शन की समीक्षा की

शेन वार्न ने ऑस्ट्रेलियाई ज़मीन पर स्पिनरों की असफलता के पीछे अपनी युक्ति को सिद्ध करने के लिए, स्पिनरों के प्रदर्शनों की समीक्षा की। वार्न इस सूची में सर्वोच्च हैं जबकि मुथैया मुरलीधरन असफल सिद्ध हुए हैं वहीं यासीर शाह भी कोई कमाल दिखा पाए हैं, जिन्हें वार्न ने विश्व का सर्वश्रेष्ठ स्पिनर कहा था।

इस सूची में पिछले दो तीन दशक के महान स्पिनरों को शामिल किया गया है। वार्न ने इन गेंदबाजों द्वारा, ऑस्ट्रेलिया खेले गए मुकाबलों की संख्या, लिए गए विकेट और औसत दर की तुलना की है। जहां वार्न इस सूची में औसत के मामले में सर्वोच्च स्थान पर हैं वहीं उनके कड़े प्रतिद्वंदी मुथैया मुरलीधरन आखिरी पायदान पर हैं।

"गर्मी के मौसम में जहां स्पिनरों को लेकर इतनी चर्चा हुई, तो मैंने सोचा क्यों ना पिछले 25/30 सालों से ऑस्ट्रेलिया का दौरा करने वाले प्रमुख स्पिनरों के ग्राफ को एक साथ लाया जाये, और इस प्रक्रिया में काफी दिलचस्प बातें सामने आई हैं, जो इस बात को दर्शाते हैं कि ऑस्ट्रेलियाई ज़मीन पर स्पिनरों की औसत दर कैसी रही है," वार्न ने फेसबुक पर लिखा।

जहां उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को स्पिन के खिलाफ बेहतरीन प्रदर्शन करने के लिए, उनकी तारीफ की, वहीं उन्होंने अपनी समीक्षा में यह भी बताया कि देश में स्पिनरों को अच्छे प्रदर्शन के लिए क्यों जूझना पड़ता है। वार्न के अनुसार दो प्रमुख बातें यह थीं कि स्पिनर असफल तब हुए हैं जब उन्होंने तेज़ गेंदबाजी की कोशिश की है या फिर उनके तरीकों को टीम समझ नहीं पायी है।   

"इसके साथ ही अहम यह भी है कि ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों ने उनका सामना कितने अच्छे से किया है! इस असफलता के पीछे कई कारण हैं, लेकिन सबसे अहम दो वजह स्पिनरों की तेज़ गेंदबाज़ी और उनकी चाल गलत होना है! मैं और भी कई बिन्दुएँ गिना सकता हूँ, लेकिन इसमें यह भी सामने आता है कि ल्योन ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है। मैंने इस सूची के आखिर में अपने आंकड़ों का उल्लेख भी कर दिया है, क्योंकि कई लोगों ने मुझसे उसके बारे में पूछा था!" वार्न ने कहा।

मुरली, हरभजन सिंह, डेनियल वेटोरी, अब्दुल कादिर और ग्रेम स्वान जैसे सभी प्रमुख खिलाड़ी ऑस्ट्रेलिया में जूझते नज़र आएं हैं, और इनमें से किसी का भी औसत 40 से कम का नहीं रहा है। इस सूची में, 26.3 के औसत के साथ वार्न सर्वोच्च स्थान पर हैं, जिनके बाद 34.1 और 33.6 के औसत के साथ, क्रमशः, पाकिस्तानी गेंदबाज़ सक़लैन मुश्ताक और मुश्ताक अहमद का नाम है। इस सूची में भारत का प्रतिनिधित्व अनिल कुंबले कर रहे हैं, जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया में खेले गए 10 टेस्ट मुकाबलों में 37.7 का औसत कायम किया था।  

अपने इस पोस्ट से वार्न एक काफी अहम मुद्दे पर प्रकाश डालें हैं। स्पिनर ऑस्ट्रेलियाई विकेट पर तेज़ गेंदबाजी की कोशिश करते हैं, जो असफल होती है। जो स्पिनर पिच की उछाल का इस्तेमाल करते हैं, ऑस्ट्रेलिया में उन्हें अधिक सफलता मिली है।

स्पोर्ट्सकैफ़े में, पहले, हमने अश्विन के प्रदर्शन की तुलना ऑस्ट्रेलियाई और श्री लंकाई प्रमुख गेंदबाजों से की थी और यह देखने की कोशिश की थी कि फिलहाल अपने कार्यकाल के इस पड़ाव पर उनकी क्या स्थिति है  

RCB vs KXIP - Who will be the winning team?

Predict IPL Matches NOW! Click here to download Nostra Pro & get ₹20 Joining Bonus!

Win cash daily by predicting the right result on Nostragamus. Click here to download the game on Android! To know more, visit Nostragamus.in

SHOW COMMENTS