सचिन तेंदुलकर ने चेतेश्वर पुजारा को कहा ‘खामोश खिलाड़ी’

no photo
 |

Getty Images

सचिन तेंदुलकर ने चेतेश्वर पुजारा को कहा ‘खामोश खिलाड़ी’

सचिन तेंदुलकर ने चेतेश्वर पुजारा को ‘खामोश खिलाड़ी’ करार दिया। सौराष्ट्र के खिलाड़ी के खेलने की शैली को देखते हुए उन्हें यह नाम दिया गया है। तेंदुलकर ने उमेश यादव के समर्पण की भी जमकर तारीफ़ की।

पुजारा ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ, धरमशाला में हुए आखिरी टेस्ट में, टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक रन बनाने के गौतम गंभीर द्वारा बनाए गए आठ साल पुराने रिकॉर्ड को तोड़ा। तेंदुलकर ने उनके व्यवहार की तारीफ़ की है।

“पुजारा खामोश खिलाड़ी रहे हैं, जिनका व्यवहार बहुत ही अच्छा रहा है और वह बेहद समर्पित हैं। मैंने उन्हें करीब से देखा है, और उनके खेलने की शैली से मैं बहुत खुश हूँ, वह एक लम्बे वक़्त तक इस खेल में टिकेंगे,’ टाइम्स ऑफ़ इंडिया के अनुसार तेंदुलकर ने कहा।

पुजारा ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शानदार टेस्ट प्रदर्शन किया और रांची टेस्ट में 202 की पारी खेलने पर वह टेस्ट क्रिकेट में सबसे लम्बी पारी खेलने वाले भारतीय बल्लेबाज़ बने। उन्होंने बेंगलोरे के टेस्ट में भी 92 रन बनाकर भारत को जीत दिलाने में मदद की थी।

तेंदुलकर ने तेज़ गेंदबाज़ उमेश की भी खूब तारीफ की। घरेलू सत्र में 13 टेस्ट में उन्होंने 12 मुक़ाबले खेले। “जिस तरह का समर्पण खिलाड़ियों ने लगातार 13 टेस्ट मुकाबलों में दिखाए हैं, मुझे नहीं लगता कि हमने हमारे वक़्त में ऐसा कुछ किया भी था। उमेश ने 13 में से 12 टेस्ट खेले हैं और एक तेज़ गेंदबाज़ के लिए ऐसा करना बहुत मुश्किल होता है, क्योंकि आपको लगातार मेहनत करनी पड़ती है,” तेंदुलकर ने कहा।

 “उमेश वक़्त के साथ बेहतर होने वाले खिलाड़ी हैं, जितनी ज्यादा वह गेंदबाजी करेंगे, उतना वह बेहतर बनेंगे। और आप देख सकते हैं कि सत्र की आखिरी पारी में उकी गेंदबाजी शानदार थी।”

“मेरे ख्याल से जो भी अच्छा रिवर्स स्विंग करता हो, वह भारत के लिए फायेदेमंद ही साबित हुआ है। यहाँ की सतह रिवर्स स्विंग के लिए सही है और ऐसा ही धरमशाला में भी हुआ। उमेश ने कुछ बेहद अच्छे रिवर्स स्विंग डाले थे।”

SHOW COMMENTS