सचिन और सहवाग ने 2011 विश्व कप जीत की याद को किया ताज़ा

no photo
 |

सचिन और सहवाग ने 2011 विश्व कप जीत की याद को किया ताज़ा

छह साल पहले भारत ने मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में श्रीलंका को हराकर अपना दूसरा विश्वकप जीता था। सचिन तेंदुलकर, वीरेंदर सहवाग, आर अश्विन और मोहम्मद कैफ ने सोशल मीडिया के जरिए इस याद को फिर से ताजा किया। बीसीसीआई ने भी इस उपलब्धि पर एक वीडियो पोस्ट किया है।

2 अप्रैल 2011, ये तारीख सभी भारतीय क्रिकेट प्रशंसकों के जेहन में छप चुकी है। यही वो तारीख है जब भारत ने श्रीलंका को हराकर 28 बरसों के बाद विश्व कप का ताज वापस जीता था।

भारत ने पहले गेंदबाजी की और श्रीलंका ने 275 का लक्ष्य भारत के लिए रखा। भारतीय पक्ष की शुरूआत अच्छी नहीं रही, टीम ने सहवाग और तेंदुलकर का विकेट जल्दी गंवा दिया था।

दिल्ली के खिलाड़ी गौतम गंभीर और विराट कोहली ने लड़खड़ाते बल्लेबाजी क्रम को सहारा देने का प्रयास किया और भारत की जीत की उम्मीद को कायम रखा।

कोहली 35 के स्कोर पर दिलशान का शिकार बने।

क्रीज पर आए एमएस धोनी, जिन्होंने गौतम गंभीर के साथ 109 रनों की साझेदारी की। श्रीलंका की टीम दबाव में आने लगी। गंभीर इस टूर्नामेंट के फाइनल मुकाबले में अपना शतक पूरा करने वाले थे लेकिन उनका ध्यान भटका और वो चूक गए।

युवराज सिंह और एमएस धोनी ने भारत को जीत से हमकिनार कराया। धोनी ने विजयी छक्का लगाया और पूरा देश इस जीत के जश्न में डूब गया।

6 साल बाद सचिन ने इस जीत की याद को दोबारा जीने के लिए ट्विटर का सहारा लिया। 

वीरेंदर सहवाग ने भी इस विश्वकप से जुड़ी तस्वीरें साझा की और उस शानदार लम्हें को याद किया।

रविचंद्रन अश्विन ने भी कभी न भूलने वाली रात और एमएस धोनी के विजयी छक्के का जिक्र किया।

वहीं बीसीसीआई ने भारत की उपलब्धि के छह साल पूरे होने की खुशी में 2011 विश्व कप का वीडियो पोस्ट किया है ताकि प्रशंसक उस पल को दोबारा जी सकें।

मोहम्मद कैफ ने भारत की जीत को याद किया साथ ही उन्होंने गौतम गंभीर और एमएस धोनी के जबर्दस्त प्रदर्शन की सराहना की।

SHOW COMMENTS