युसूफ पठान और मनीष पांडे को है उम्मीद, आईपीएल देगा राष्ट्रीय टीम में जाने का मौका

no photo
 |

© IPL

युसूफ पठान और मनीष पांडे को है उम्मीद, आईपीएल देगा राष्ट्रीय टीम में जाने का मौका

युसूफ पठान को अब भी राष्ट्रीय टीम का हिस्सा बनने की उम्मीद है, उनके मुताबिक आईपीएल उन्हें वापसी करने का मौका देगा। मनीष पांडे ने भी माना कि चैंपियंस ट्राॅफी से पहले आंकलन करने के लिए आईपीएल अच्छा प्लेटफाॅर्म है।

2012 में आखिरी बार नेशनल टीम की जर्सी पहनने वाले युसूफ पठान ने पिछले सत्र में कोलकता नाइट राइडर्स के लिए 72.20 की औसत से 361 रन स्कोर किए थे जो उनके शुरूआती सत्र से लेकर अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। 34 वर्षीय इस खिलाड़ी को 2017 में भी वैसा ही प्रदर्शन दोहराने की उम्मीद है, ताकि राष्ट्रीय टीम में वापसी के रास्ते उनके लिए दोबारा तैयार हो सके।

पीटीआई के मुताबिक पठान ने कहा, ‘‘जितनी भी क्रिकेट मैंने अभी तक खेली है, मेरा उद्देश्य भारत के लिए दोबारा खेलना रहा है। आईपीएल एक ऐसा प्लेटफाॅर्म है जहां मैं खुद को एक फिर साबित कर सकता हूं।’’

‘‘मेरा एकमात्र लक्ष्य देश के लिए वापसी करना है। जो मौका मुझे यहां मिलेगा मैं उसका पूरा इस्तेमाल करूंगा।’’

आईपीएल के सबसे शुरूआती सत्र में राजस्थान राॅयल्स की जीत में प्रभावकारी भूमिका निभाने वाले पठान ने 2008 में एकदिवसीय टीम के लिए पदार्पण किया था। बरौड़ा के इस खिलाड़ी को उम्मीद है कि वो टूर्नामेंट के 10वें सत्र में भी वैसा ही प्रर्दशन दोहराएंगे।

पठान ने आगे कहा, ‘‘दरअसल मैंने करियर की शुरूआत आईपीएल के पहले सत्र से की थी। जाहिर है मैं यहां प्रदर्शन करके वापसी करना चाहूंगा।’’

बहरहाल, पठान अकेले ऐसे खिलाड़ी नहीं है जो आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन करके राष्ट्रीय टीम के चयनकर्ताओं को प्रभावित करना चाहते हैं। मनीष पांडे के मुताबिक, वो नेशनल टीम में जगह बनाना चाहते हैं और ये आईपीएल के प्रदर्शन पर निर्भर करेगा।

आईपीएल में शतक लगाने वाले पहले भारतीय ने कहा, ‘‘आईपीएल एक अच्छा प्लेटफार्म है। अगर आप यहां अच्छा करते हैं तो सभी की नजरों में आ जाएंगे। आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन करना मेरे लिए महत्वपूर्ण है और मैं चैंपियंस ट्राॅफी का इंतजार कर रहा हूं।’’

SHOW COMMENTS