अजिंक्य रहाणे: धर्मशाला टेस्ट से पहले सचिन के फोन से मिली थी मुझे प्रेरणा

no photo
 |

BCCI

अजिंक्य रहाणे: धर्मशाला टेस्ट से पहले सचिन के फोन से मिली थी मुझे प्रेरणा

अजिंक्य रहाणे की अगुवाई में भारतीय टीम ने धर्मशाला में आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ आखिरी टेस्ट मुकाबले में जीत हासिल की, स्टैंड-इन कप्तान ने बताया कि इस अहम मुकाबले से पहले सचिन तेंदुलकर ने उन्हें फोन करके शुभकामनाएं दी थी। रहाणे भारत के 33वें टेस्ट कप्तान बने और भारत ने चार मैचों की सीरीज 2-1 से जीती।

बाॅर्डर गावस्कर ट्राॅफी हासिल करने के लिए भारत को एक जीत की दरकार थी। इस मुकाबले के लिए टीम इंडिया को अपने करिश्माई कप्तान विराट कोहली के बगैर ही मैदान पर उतरना था, जो कंधे की चोट की वजह से टीम से बाहर थे। कप्तानी की जिम्मेदारी रहाणे के कंधों पर आ गई।

अजिंक्य रहाणे ने क्रिकबज को बताया, ‘‘ये मेरे लिए एक गौरवपूर्ण लम्हा था लेकिन विराट के चोटिल होने की वजह से ड्रेसिंग रूम का माहौल उदास था। चोट के बावजूद उसने अपने आत्मविश्वास और समर्थन से सभी को प्रेरित किया। कप्तान के तौर पर मैं जानता था कि मैं एक अलग शख्स हूं और कप्तानी करने का सभी का तरीका अलग होता है।’’

‘‘मैं जानता था कि मैदान पर मुझसे सीनियर खिलाड़ी मौजूद हैं लेकिन मुझे फैसले लेने थे। पूरे मैच के दौरान में चाहता था कि मैं अपने स्टाइल को ही अपनाउं। मैच से पहले मुझे सचिन का फोन आया था। उन्होंने भी मुझे अपने तरीके को ही फाॅलो करने के लिए कहा, जिससे मुझे प्रेरणा मिली।’’

ये सीरीज विवादों के लिए भी याद रखी जाएगी। आॅस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ ने रहाणे और भारतीय क्रिकेट टीम को मुकाबले के बाद ड्रेसिंग रूम में साथ ड्रिंक्स पीने के लिए आमंत्रित किया लेकिन टीम इंडिया के स्टैंड-इन कप्तान ने उन्हें मना कर दिया।

बहरहाल, रहाणे ने इस तरह की बातों को खारिज कर दिया कि ऐसा उन्होंने सीरीज के दौरान हुई घटनाओं की वजह से किया था बल्कि वो टीम की जीत का जश्न टीम के साथ ही मनाना चाहते थे।

‘‘ये मामला बीत चुका है। मैं खुश हूं कि हमने टेस्ट सीरीज जीत ली और एक टीम की तरह हमने अच्छा प्रदर्शन किया। टीम के तौर पर हमारा अपना सेलिब्रेशन चल रहा था। ये मेरे लिए काफी अहम था और लंबे व कामयाब सत्र के बाद हम टीम के तौर पर साथ थे। जब आप एक टीम के तौर पर जीत दर्ज करते हैं तो टीम की तरह ही जश्न मनाना चाहिए। इसलिए हम इसकी खुशी अपने ड्रेसिंग रूम में मना रहे थे।’’

रहाणे राइजिंग पुणे सुपरजाइंट टीम का हिस्सा हैं जिनका पहला मुकाबला 6 अप्रैल को मुंबई इंडियन्स के खिलाफ होगा। पुणे की अगुवाई स्टीव स्मिथ करेंगे जिन्हें धोनी के स्थान पर ये जिम्मेदारी सौंपी गई है।

रहाणे ने कहा, ‘‘स्मिथ कप्तान है, इसलिए ये जरूरी है कि उन्हें उनका जरूरी अहम स्थान दिया जाए। हम खुश्किस्मत हैं कि धोनी भाई हमारी टीम में हैं और वो ना सिर्फ भारतीयों के लिए बल्कि विदेशी खिलाड़ियों के लिए भी प्रेरणा का स्रोत हैं। मैं निश्चित तौर पर कह सकता हूं कि स्मिथ भी उनकी सलाह लेंगे।’’

SHOW COMMENTS