IPL 2017 । कोलकाता नाइट राइडर्स बनाम गुजरात लायंस - खिलाड़ियों की समीक्षा

no photo
 |

IPL

IPL 2017 । कोलकाता नाइट राइडर्स बनाम गुजरात लायंस - खिलाड़ियों की समीक्षा

गौतम गंभीर और क्रिस लिन की सांझेदारी की बदौलत कोलकाता नाइट राइडर्स को गुजरात लायंस के खिलाफ 10 विकेट की शानदार जीत मिली। लायंस को 183 रनों तक पहुंचाने का श्रेय सुरेश रैना और दिनेश कार्तिक को जाता है लेकिन लायंस का ये स्कोर विरोधियों के लिए चुनौती साबित न हो सकी।

गुजरात लायंस

जैसन रॉय - (6/10)

अपने स्ट्रोकप्ले के लिए मशहूर रहने के बावजूद, रॉय IPL की शुरुआत अच्छे से नहीं कर सके। उन्होंने पहले ओवर में, ट्रेंट बोल्ट की गेंद पर बाउंड्री तो लगाए लेकिन जैसे ही गंभीर ने स्पिनरों को गेंद सौंपी, रॉय जूझने लगे और आख़िरकार पियूष चावला की गेंद के शिकार हो बैठे।

ब्रेंडन मैक्कलम - (7/10)

आक्रामक कीवी बल्लेबाज़ किसी भी गेंदबाज़ को धुल चटाने में माहिर है। इस मुकाबले में भी उन्होंने अच्छी शुरुआत की लेकिन कुलदीप यदाव की सीधी डिलीवरी के शिकार बन बैठे। मैक्कलम महज़ 35 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। लेकिन उम्मीद ये थी की वह इससे ज्यादा करेंगे।

सुरेश रैना - (8/10)

IPL के साथ सुरेश रैना के 10 साल पुराने रिश्ते से सभी वाकिफ है। हर IPL सत्र में उन्होंने अपना अलग अंदाज़ पेश किया है। इस बार भी उन्होंने KKR के गेंदबाजों के पसीने छुड़ाए और 49 गेंदों में 63 रन बटोरे।

आरोन फिंच - (6/10)

SCA के सपाट स्टेडियम में यह ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी आक्रामक रुख अपना सकते थे। लेकिन स्पिनरों का सामना न कर पाने के कारण उन्हें इस बार भी मुंह की खानी पड़ी। आठ गेंदों में 15 रन बनाने वाले यह बल्लेबाज़ कुलदीप की गेंद से आउट हो गए।

दिनेश कार्तिक - (8/10)

कार्तिक का समय अच्छा चल रहा है और शायद इसकी बदौलत वह भारतीय टीम में वापसी भी कर सकते हैं। एक शानदार घरेलू सत्र के बाद उन्होंने IPL में भी अच्छी शुरुआत की है। हालांकि उनके मुकाबले रैना ने ज्यादा रन बनाये और बाउंड्री लगाए लेकिन कार्तिक के प्रदर्शन में विभिन्नता नज़र आई।

ड्वेन स्मिथ - (4/10)

कैरीबीयन हरफनमौला के लिए इस मुकाबले को भूल जाना बेहतर है। हालांकि उन्हें गेंदों का सामना करने का मौका नहीं मिला लेकिन लेकिन गेंदबाजी में अपने एक ही ओवर में उन्होंने 23 रन दे दिए। आने वाले समय में अगर वह जेम्स फौकनर से आगे रहना चाहते हैं तो उन्हें मेहनत करनी होगी।  

मनप्रीत गोनी - (3/10)

पंजाब पेसर ने भी बेहद निराश किया। उन्होंने दो ओवर 32 रन दिए। और ऐसे में उनके प्रदर्शन का कोई भी हिस्सा तारीफ के काबिल नहीं नज़र आया।

प्रवीण कुमार - (7/10)

उत्तर प्रदेश के गेंदबाज़ ने न सिर्फ पूरे जोश और भिन्नता के साथ गेंदबाजी की बल्कि उन्होंने काफी होशियारी के साथ अपने इस काम को अंजाम दिया। और इसी के साथ वह इस मुकाबले में टीम के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज़ भी बने।

शादाब जकाती - (6/10)

जकाती ने तीन ओवर में 30 रन दिए। वह बेहतर प्रदर्शन कर सकते थे लेकिन उनके स्ट्रैट गेंद KKR के बल्लेबाजों को चुनौती नहीं दे सके।

धवल कुलकर्णी - (3/10)

वैसे तो भारतीय टीम में इनका काफी बोलबाला रहा है लेकिन मुंबई के तेज़ गेंदबाज़ राजकोट का यह मुकाबला भुलाना चाहेंगे। किये गए 2.5 ओवर में, लिन और गंभीर ने उनके छक्के छुड़ा दिए।

शिविल कौशिक - (6/10)

कौशिक के गेंदबाजी का अनोखा अंदाज़ सबके लिए मनोरंजक रहा लेकिन KKR के ओपेनरों ने उन्हें धुल चटा दिए। उन्हें जल्द ही गेंद सौंपी गयी थी, लेकिन वह उम्मीदों पर खरे नहीं उतर सके।

कोलकाता नाइट राइडर्स

गौतम गंभीर - (8/10)

गंभीर के कल के प्रदर्शन की जितनी तारीफ की जाए कम है। लिन के साथ मिलकर उन्होंने शुरू से ही लायंस पर दबदबा बनाया। नाइट राइडर्स के कप्तान ने अपना 32वा IPL अर्धशतक पूरा किया और टीम को सत्र की पहली जीत दिलाई।

क्रिस लिन - (9/10)

लिन ने रोबिन उथप्पा को गंभीर के ओपनिंग पार्टनर के तौर पर विस्थापित किया और यह नीति काम आ गयी। पहले ही ओवर से उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया और महज़ 19 गेंदों में 50 रन पूरे कर लिए। 184 रनों की बेहतरीन सांझेदारी में उन्होंने नाबाद 93 रनों की पारी खेली।

रोबिन उथप्पा - (6/10)

इन्हें बल्लेबाजी का मौका नहीं मिला। हालांकि विकेटकीपर के तौर पर इन्होने अच्छा प्रदर्शन किया।

मनीष पाण्डेय - (6/10)

गंभीर-लिन की बदौलत कर्नाटक के इस बल्लेबाज़ को भी बल्लेबाज़ी का मौका नहीं मिला।

युसूफ पठान - (5/10)

पठान ने जैसन रॉय का केच पकड़कर उन्हें पवेलियन भेजने में अपना योगदान दिया। हालांकि इन्हें भी बल्लेबाजी का मौका नहीं मिला।

सूर्यकुमार यादव - (6/10)

यादव KKR की फील्डिंग का अहम हिस्सा रहे। आरोन फिंच और दिनेश कार्तिक के कात्च पकड़कर उन्होंने अपना योगदान दिया।

क्रिस वोक्स - (6/10)

क्रिस वोक्स ने तीन ओवर गेंदबाज़ी की और वह ज्यादा फायेदेमंद साबित नहीं हुए। वेस्ट इंडीज के खिलाफ एक दिवसीय शृंखला में साथ रन लेने वाले वोक्स से काफी उम्मीदें थी, जिनपर वह खरे नहीं उतरे।

पियूष चावला - (7/10)

पियूष चावला ने टी20 में लेग स्पिनर की अहमियत को उजागर किया और KKR के लिए चार किफायती ओवरों में गेंदबाजी की। उन्होंने 33 रन दिए और रॉय का विकेट चटकाकर शुरुआती कामयाबी दिलाई।  

कुलदीप यादव  - (8/10)

अंतर्राष्ट्रीय मुकाबले खेलने के बाद, कुलदीप ने IPL में अपना बेहतरीन प्रदर्शन जारी रखा है। 6.25 के दर पर उन्होंने सिर्फ 25 रन दिए और दो विकेट भी चटकाए। हालांकि, सुरेश रैना को रन आउट करने का सुनेहरा मौका भी उन्हें के कारण बर्बाद हुआ।

सुनील नारायण - (6/10)

वेस्ट इंडीज के खिलाड़ी ने 33 रन दिए लेकिन नाइट राइडर्स को उनसे काफी उम्मीदें हैं। कार्तिक और रैना के पिच पर रहते हुए, नारायण किसी भी बल्लेबाज़ पर दबाव नहीं बना सके।

ट्रेंट बोल्ट - (6/10)

ट्रेंट बोल्ट IPL के पिछले सत्र में भाग नहीं ले पाए थे क्योंकि वह सनराइजर्स के टीम में स्थायी जगह हासिल करने में नाकामयाब रहे थे। इस साल ऑक्शन में KKR ने उन्हें अपनाया और टीम के लिए वह फायेदेमंद भी साबित हुए। उन्होंने 40 रन देकर 1 विकेट लिया और फील्डिंग भी काफी अच्छी की। 

SHOW COMMENTS