आईपीएल 2017। ऋषभ की पारी हुई व्यर्थ, बैंगलोर ने दर्ज की पहली जीत

no photo
 |

RCB

आईपीएल 2017। ऋषभ की पारी हुई व्यर्थ, बैंगलोर ने दर्ज की पहली जीत

राॅयल चैलेंजर्स बैंगलोर आईपीएल 2017 में अपनी पहली जीत दर्ज करने में कामयाब रही। बिली स्टानलेक और ताइमल मिल्स की शानदार गेंदबाजी की बदौलत दिल्ली 158 का लक्ष्य हासिल नहीं कर पाई और ऋषभ पंत के प्रदर्शन को उन्होंने कमतर कर दिया। आरसीबी के लिए केदार जाधव के 69 रनों की पारी खेली।

Brief scores : Royal Challengers Bangalore 157/8 ( Kedar Jadhav 69, Shane Watson 24; Chris Morris 3/21, Zaheer Khan 2/31) beat Delhi Daredevils 142/9 (Rishabh Pant 57, Sam Billings 25; Pawan Negi 2/3, Billy Stanlake 2/29) by 15 runs.

चिन्नास्वामी स्टेडियम का रूख करें तो राॅयल चैलेंजर्स बैंगलोर के सामने दिल्ली डेयरडेविल्स के रूप में ऐसी टीम सामने दिखी जो बैंगलोर की तरह ही चोटिल खिलाड़ियों के बाहर होने से परेशान है। दोनों टीमों के बीच टाॅस बैंगलोर के कप्तान शेन वाॅटसन ने जीता और इंडियन प्रीमियर लीग के इस सत्र में पहली बार पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया।

आज भी खामोश रहा गेल का बल्ला, शीर्ष क्रम को करना पड़ा संघर्ष

खुद को क्रम में उपर भेजते हुए शेन वाॅटसन ने क्रिस गेल के साथ मिलकर पारी की शुरूआत की और रनों की रफतार को पहले ही ओवर में दो चैके लगाकर बढ़ाने की कोशिश की। गेल ने मोरिस की गेंद को चैके के लिए भेजकर कप्तान का साथ देना शुरू ही किया था कि छक्के के लिए खेली गेंद ने उन्हें पवैलियन पहुंचा दिया। वाॅटसन ने एक छोर थामे रखा और दूसरे छोर पर आए मंदीप सिंह से पारी को तेजी से आगे बढ़ाने की उम्मीद की जा रही थी। मंदीप ने पैट कमिन्स को लगातार दो चैके लगाए लेकिन पैट ने जल्द ही इसका बदला लिया जिसकी वजह से वो ज्यादा देर क्रीज पर नहीं रूक पाए। उनकी तेज-तर्रार गेंद ने 12 रनों पर ही मंदीप को चलता कर दिया। ओस के प्रभाव देखते हुए दिल्ली डेयरडेविल्स के कप्तान जहीर खान ने गेंद शाहबाज नदीम को थमाई, जिन्होंने वाॅटसन का अहम विकेट लिया। विराट कोहली और एबी डिविलियर्स के बिना खेल रही आरसीबी की टीम नौ ओवर के बाद 55/3 के स्कोर पर पहुंच गई।

आरसीबी को अच्छे स्कोर तक ले जाने में चमके केदार जाधव

जल्द विकेट गिर जाने से केदार जाधव पर थोड़ा प्रभाव पड़ा लेकिन मंदीप सिंह का विकेट गिरने के बाद बल्लेबाजी करने के लिए आए जाधव ने आरसीबी के स्कोर को मजबूत तरीके से आगे बढ़ाया। दूसरे छोर से उनका साथ दे रहे थे स्टुअर्ट बिन्नी। जाधव ने कार्लोस ब्रेथवेट के ओवर में छक्का और चैका लगाकर अपना अर्धशतक पूरा किया। 15वें ओवर में दूसरी बार गेंदबाजी करने आए जहीर खान ने 66 रनों की साझेदारी तोड़ते हुए बिन्नी को पवैलियन भेजा। विष्णु विनोद के रन-आउट के बाद, भारत के तेज गेंदबाजी आक्रमण के अगुवा रहे जहीर ने केदार की शानदार पारी पर पर्दा गिरा दिया। जाधव बैंगलोर को एक अच्छी स्थिति में ले आए थे, उनके विकेट के बाद टीम का स्कोर 17 ओवर पर 142/6 था। उनके बाद आए खिलाड़ी आखिरी तीन ओवर में सिर्फ 15 रन ही और जमा कर पाए। 20 ओवर के बाद आरसीबी ने दिल्ली को जीत के लिए 158 रनों का लक्ष्य दिया।

दिल्ली ने की धीमी और सधी शुरूआत

बल्लेबाजी की मुफीद बैंगलोर की पिच और दिल्ली डेयरडेविल्स के लाईनअप को देखते हुए 158 का लक्ष्य मुश्किल नजर नहीं आ रहा था लेकिन सलामी बल्लेबाज सैम बिलिंग्स और आदित्य तारे ने आक्रमकता के बजाए धैर्यपूर्ण आगे बढ़ने का फैसला करते हुए पहले चार ओवर में 32 रन हासिल किए। इसके बाद अपना पहला ओवर कराने आए ताइमल मिल्स ने बैंगलोर को तारे के रूप में पहली सफलता दिलवाई। तारे के विकेट के बाद दिल्ली उबरने का प्रयास ही कर रही थी की जल्द ही उन्हें नायर और सैम बिलिंग्स के रूप में झटके लगे। 33/0 से टीम का स्कोर 55/3 पर पहुंच गया। पिता के देहांत के बाद टीम के साथ जुड़े ऋषभ पंत मैदान पर संजू सैमसन के साथ पारी को आगे बढ़ाने के लिए पहुंचे। 10 ओवर के बाद दिल्ली को जीत के लिए 79 रनों की दरकार थी।

पंत की पारी हुई व्यर्थ, नेगी ने कराई आरसीबी की वापसी

दिल्ली जीत की और अग्रसर हो रही थी कि स्टानलेक ने सैमसन का विकेट लेकर बैंगलोर की उम्मीदों को फिर जगा दिया। लेकिन दूसरे छोर पर खड़े पंत खुद को साबित करने के लिए तत्पर थे। वाॅटसन की गेंद पर छक्का लगाया और इकबाल अब्दुल्ला की गेंदों से भी रन बटोरे। लेकिन खेल अभी खत्म नहीं हुआ था। अब्दुल्ला ने क्रिस मोरिस का विकेट हासिल किया तो वहीं चहल ने जोरदार शाॅट्स खेलने वाले कार्लोस ब्रेथवेट को ड्रेसिंग रूम भेजा। दिल्ली दबाव में आ चुकी थी, उन्हें जीतने के लिए 9 रन प्रति ओवर के दर से स्कोर बढ़ाने की जरूरत थी। पंत और कमिन्स हर ओवर में बाउंड्री लगाकर दबाव को कम करने का प्रयास कर रहे थे लेकिन एक बार फिर बैंगलोर ने वापसी करते हुए कमिन्स का विकेट झटका और मुकाबले में अपना नियंत्रण बना लिया। आखिरी ओवर में दिल्ली को जीत के लिए 19 रनों की जरूरत थी।

SHOW COMMENTS