संजू सैमसन: राहुल द्रविड़ के साथ काम करना खुशकिस्मती की बात है

no photo
 |

BCCI

संजू सैमसन: राहुल द्रविड़ के साथ काम करना खुशकिस्मती की बात है

कल पुणे के खिलाफ आईपीएल में अपना पहला शतक लगाने वाले संजू सैमसन ने खुद को खुशकिस्मत बताया है, क्योंकि उन्हें राहुल द्रविड़ के साथ काम करने का मौका मिला है। दिल्ली के कप्तान जहीर खान ने भी इस जीत को काफी महत्वपूर्ण बताया क्योंकि उन्हें पिछले मुकाबले में बैंगलोर से शिकस्त मिली थी।

दिल्ली की पहली जीत में संजू सैमसन ने महत्वपूर्ण रोल निभाया, उन्होंने 63 गेंदों में 102 रनों की पारी खेली। 22 वर्षीय ये खिलाड़ी इंडिया ए टीम में पूर्व भारतीय कप्तान के साथ काम कर रहा था और अब वो आईपीएल में उसी टीम का हिस्सा बना है जहां राहुल द्रविड़ मेंटर की भूमिका में हैं।

पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक, सैमसन ने कहा, ‘‘मैं ये पारी खेलकर काफी खुश हूं और मुझे खुशी है कि टीम ने ये मुकाबला जीता।’’

‘‘मैं खुशकिस्मत हूं कि इस टीम का हिस्सा बना और राहुल सर के साथ काम कर रहा हूं और बाकि सपोर्ट स्टाफ भी सहयोगी है। इस वक्त मैं मानसिक रूप से मजबूत हूं और यहां सभी लोग मेरा साथ देते हैं और प्रोत्साहित करते हैं।’’

‘‘मैं पारी का अंत करने और टीम के लिए मुकाबले जीतने के लिए काफी उत्साहित हूं। मैं इस बारे में सीख रहा हूं और उम्मीद है कि आने वाले सालों में बेहतर हो जाउंगा।’’

सैमसन ने छक्का लगाकर अपना शतक पूरा किया और उसकी अगली गेंद पर पुणे उनका विकेट लेने में सफल रही थी। लेकिन उनके बाद आए क्रिस मोरिस ने नौ गेंदों में 38 रन हासिल करके दिल्ली का स्कोर 200 के पार पहुंचाने में मदद कि, 2012 के बाद ये पहली बार हुआ है जब टीम ने 200 से उपर का स्कोर किया।

22 वर्षीय इस खिलाड़ी ने कहा, ‘‘मोरिस ने कुछ बड़े शाॅट्स खेले और ऋषभ ने भी अच्छी बल्लेबाजी की। हमने एक अच्छा मुकाबला खेला। आज मैंने फिल्डिंग और अपनी बल्लेबाजी का आनंद उठाया।’’

दिल्ली ने अपने अभियान का आगाज आरसीबी के खिलाफ बैंगलोर में मुकाबला खेलकर किया। जहां वो ऋषभ पंत की साहसिक पारी पर निर्भर हो गए थे लेकिन वो जीत से 15 रन दूर रह गए और आखिरी ओवर में सिर्फ 3 रन ही बना पाए। दिल्ली के कप्तान ज़हीर खान के लिए ये राहत की बात है कि पुणे को हराकर दिल्ली ने अंकतालिका में अपना खाता खोला है।

खान ने कहा, ‘‘हमें इसकी जरूरत थी। इस टीम के पास गजब की क्षमता है, हमें बस खुद पर विश्वास रखना है। हमारे पास हुनरमंद खिलाड़ी हैं, आप सैमसन की बल्लेबाजी देखें और मोरिस जिस तरीके से आखिर तक मुकाबले को लेकर गए हैं वो शानदार है। हमें बस अपनी प्रक्र्रिया पर फोकस करना है।’’

टीम से बाहर हमारे पास रबाड़ा और शमी और टेस्ट में शतक लगाने वाले जयंत जैसे खिलाड़ी हैं। बेंच स्ट्रेंथ को देखना अच्छा लगता है, हमारे पास काफी सामथ्र्य है।’’

इस मुकाबले में सैमसन और मोरिस हीरो बने, वहीं खान एंड कंपनी ने चुपचाप अपना काम करते हुए पुणे की टीम को 108 रनों पर समेट दिया। आईपीएल से पहले तक अपने फिटनेस लेवल को हासिल करने के लिए संघर्ष कर रहे ज़हीर खान ने इस मुकाबले में शानदार गेंदबाजी करते हुए 3/20 का आंकड़ा हासिल किया।

उन्होंने कहा, ‘‘उन 92 टेस्ट मुकाबलों ने मुझे सही लेंथ ढूंढने में मदद की। मैं खुशकिस्मत हूं कि मेरे पास ऐसे फिजियो रहे जिन्होंने मुझे सही राह दिखाई और अभी मैं अपनी फिटनेस का आनंद ले रहा हूं।’’

‘‘हम एक युवा टीम हैं और ये मैदान में दिखाने की भी जरूरत है, ये उर्जा नजर आनी चाहिए लेकिन मुझे लगता है कि ये स्वाभाविक तौर से उनमें प्रदर्शित होगी।’’

SHOW COMMENTS