IPL 2017। विराट कोहली की वापसी पर पोलार्ड ने फेरा पानी, मुंबई को दिलाई जीत

no photo
 |

BCCI

IPL 2017। विराट कोहली की वापसी पर पोलार्ड ने फेरा पानी, मुंबई को दिलाई जीत

आखिरकार किरोन पोलार्ड फाॅर्म में आ ही गए और सैमुअल बद्री के हैट्रिक लेने के बावजूद उन्होंने 47 गेंदों में 70 की पारी खेलकर मुंबई इंडियन्स को जीत दिलाई। इससे पहले कोहली ने IPL 2017 में अपना पहला मुकाबला खेलते हुए 47 गेंदों में 62 रनों का योगदान करके टीम को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाने का प्रयास किया।

Brief scores: Royal Challengers Bangalore 142/5 (Virat Kohli 62, Chris Gayle 22; Mitchell McClenaghan 2/20, Hardik Pandya 1/9) lost to Mumbai Indians 145/6 (Pollard 70, Pandya 37; Badree 4/9, Binny 1/9) by 4 wickets.

चिन्नास्वामी का मैदान आरसीबी फैन्स की मौजूदगी से सजा नजर आया। टाॅस के लिए आज राॅयल चैलेंजर्स बैंगलोर की तरफ से विराट कोहली मैदान पर उतरे, मगर टाॅस का फैसला मुंबई इंडियन्स के कप्तान रोहित शर्मा के हक में गया और उन्होंने पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। कोहली के अलावा आरसीबी की टीम में शेन वाॅटसन की जगह क्रिस गेल की वापसी हुई, वहीं बिली स्टेनलेक के स्थान पर सैमुअल बद्री को मौका दिया गया, कोहली के लिए जगह बनाने के लिए विष्णु विनोद को बाहर रखा गया था। इकबाल अब्दुल्ला को बाहर बैठाकर घरेलू खिलाड़ी श्रीनाथ अरविंद को टीम में बुलाया गया। वहीं मुंबई की टीम में एक बड़ा बदलाव देखने को मिला, लसिथ मलिंगा की जगह टीम साउदी को शामिल किया गया।

प्रशंसकों ने देखा कोहली का जलवा

पिछले मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ हरभजन सिंह ने मलिंगा के साथ नई गेंद साझा की थी और आज रोहित ने टाॅस जीतने के बाद एक बार फिर इसी योजना को लागू करते हुए हरभजन सिंह को गेंद थमाई। ऐसा करने के पीछे वजह क्रिस गेल को टिकने से रोकना था। हरभजन और साउदी ने पहले दो ओवर में सिर्फ सात रन खर्च किए। मगर इतना वक्त कोहली के लिए मैदान के बाउंस के साथ तालमेल बिठाने के लिए काफी था। उधर रोहित ने सही गेंदबाजों का चयन करके और फिल्डिंग में जरूरी बदलाव करके बैंगलोर को पावरप्ले में 41 रनों पर ही रोक दिया। दूसरे हाफ में ओस फैक्टर को ध्यान में रखते हुए कोहली और गेल को आगे बढ़कर खेलने की जरूरत थी। लेकिन गेंदबाजों के लगातार दबाव की वजह से गेल ने 22 के निजी स्कोर पर हार्दिक पांड्या के हाथों अपना विकेट गंवा दिया। बैंगलोर की टीम 10 ओवर के बाद 66/1 के स्कोर पर पहुंच पाई। 

डेथ ओवरों में मुंबई ने कराई शानदार गेंदबाजी, आरसीबी का स्कोर 142 पर रोका

दूसरी पारी में भी बैंगलोर को संघर्ष करना पड़ा, कोहली और एबी डिविलियर्स अगले तीन ओवर में सिर्फ 19 रन ही जोड़ पाए। लेकिन जब मैदान पर विराट और डिविलियर्स जैसे उच्च स्तरीय खिलाड़ी मौजूद हो तो आप बड़े शाॅट्स देखने की उम्मीद कर सकते हैं। इन्होंने दर्शकों को निराश नहीं किया और अगले ही ओवर में उतने ही रन जोड़ डाले। जब कोहली पूरी तरह से विध्वंसक रूप में नजर आने लगे तभी मिचेल मैक्लेनघन की गेंद को खेलने के दौरान डीप एक्स्ट्रा कवर में मौजूद जोस बटलर को कैच थमा बैठे। बैंगलोर को उस वक्त निराशा हाथ लगी जब अगले ही ओवर डिविलियर्स का विकेट उन्होंने गंवाया औैर उसके बाद केदार जाधव फ्री हिट गेंद में आउट होकर पवैलियन लौटे। आखिर के तीन ओवर में बैंगलोर सिर्फ 23 रन ही जोड़ पाई और मुंबई के सामने जीत के लिए 143 रनों का लक्ष्य रखा।

सैमुअल बद्री ने मुकाबले में कराई बैंगलोर की वापसी

मुंबई को मुकाबले में जीत हासिल करने के लिए 7.2 रन प्रति ओवर की दर से शुरूआत करने की जरूरत थी लेकिन सैमुअल बद्री के पहले ओवर में वो सिर्फ चार रन ही हासिल कर पाए। अहम गेंदबाज ताइमल मिल्स के बजाए कोहली ने स्टुअर्ट बिन्नी को गेंद थमाई, जिन्होंने पिछले तीन मुकाबलों में सिर्फ एक ही ओवर कराया था। ये फैसला सही साबित हुआ और 32 वर्षीय इस खिलाड़ी ने जोस बटलर का विकेट हासिल कर लिया। मुंबई के बल्लेबाजी क्रम को ढहाने का ये बस पहला प्रयास था। इसके बाद सैमुअल बद्री ने आईपीएल में पहली हैट्रिक हासिल करते हुए पार्थिव पटेल, मैक्लेनघन और रोहित शर्मा को पवैलियन भेजा। इस टूर्नामेंट में अब तक मुंबई इंडियन्स के लिए बेहतरीन बल्लेबाज के रूप में साबित हुए नीतिश राणा ने किरोन पोलार्ड के साथ मिलकर 26 रनों की साझेदारी की लेकिन बद्री ने अपने ओवर की आखिरी गेंद पर राणा को वापस ड्रेसिंग रूम भेजकर अपने चार ओवर में 4/9 का आंकड़ा हासिल किया। मुंबई की टीम 10 ओवर के बाद 5 विकेट के नुकसान पर 48 रन ही बना सकी।

पोलार्ड ने आखिरकार दिखाया अपना असली फाॅर्म 

गिरते विकेटों के बीच पोलार्ड ने दूसरा छोर संभाले रखा और हर ओवर में बाउंड्री लगाकर रनरेट को बढ़ाने का काम किया। इस साझेदारी को तोड़ने के लिए कोहली ताइमल मिल्स को लेकर आए लेकिन इंग्लैंड के इस गेंदबाज को इस ओवर में 11 रन पड़ गए। मुंबई को जीत के लिए पांच ओवर में 52 रनों की जरूरत थी और किरोन पोलार्ड ने अपना आक्रामक रूप दिखाना शुरू कर दिया। उन्होंने पवन नेगी के ओवर में 19 रन बटोरे। मुकाबले में टीम की वापसी कराने के उद्देश्य से कोहली अपने भरोसेमंद गेंदबाज युजवेंद्र चहल को लेकर आए। 26 वर्षीय इस खिलाड़ी ने पोलार्ड का विकेट तो हासिल किया लेकिन तब तक मामला हाथ से निकल चुका था और मुंबई ने ये मुकाबला 7 गेंदे शेष रहते ही जीत लिया। कृणाल पांड्या ने इस जीत में 37 रनों का योगदान दिया और पोलार्ड के जाने के बाद मैदान पर आए हार्दिक पांड्या ने चार गेंदों में 9 रनों की अहम पारी खेली।

SHOW COMMENTS