महज़ तीन या चार मुकाबलों के आधार पर धोनी जैसे खिलाड़ी को आंका नहीं जा सकता, वीरेंदर सहवाग ने कहा

no photo
 |

Getty

महज़ तीन या चार मुकाबलों के आधार पर धोनी जैसे खिलाड़ी को आंका नहीं जा सकता, वीरेंदर सहवाग ने कहा

वीरेंदर सहवाग ने एमएस धोनी को समर्थन दिया है और उनकी आलोचना करने वालों को ग़लत ठहराया है। उन्होंने यह भी कहा कि बल्लेबाजी के निचले क्रम में आने से धोनी के लिए प्रदर्शन करना मुश्किल होता है और उन्हें उम्मीद है कि वह जल्द ही वापसी भी करेंगे।

महेंद्र सिंह धोनी के लिए रनों का आकाल अब भी जारी है। पिछले मुक़ाबले में महज़ पांच रन बनाकर वह रविन्द्र जडेजा की गेंद का शिकार हो गए। चार मुकाबलों में उन्होंने 11 की औसत से 33 रन बनाए हैं। इसके साथ ही उन्हें लेकर आलोचनाएँ शुरू हो गयी हैं और आलोचकों में सौरव गांगुली जैसे दिग्गज भी शामिल हैं जिन्होंने धोनी की टी20 की बल्लेबाजी की प्रतिभा पर सवाल खड़े किये। लेकिन वीरेंदर सहवाग का मानना है कि धोनी को लेकर किसी भी निष्कर्ष तक पहुंचना अभी जल्दबाजी होगी, खासकर तब जब उनकी बल्लेबाजी की शैली से सभी वाकिफ हैं।

ABP न्यूज़ से बात करते हुए सहवाग ने कहा, “वह जिस पायदान पर आते हैं, बल्लेबाजी कर पाना उनके लिए मुश्किल होता होगा। वह अब भी न. 5 या न. 6 के लिए सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी हैं। इस बात पर कोई संदेह नहीं है कि वह जल्द ही वापसी कर लेंगे। अभी IPL में बहुत समय बाकी है। महज़ तीन-चार मुकाबलों में बाद धोनी का आंकलन करना ग़लत होगा।”

हालांकि, IPL में अब तक ऋषभ पन्त और संजू सेमसन जैसी नए खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन किया है, लेकिन सहवाग का मानना है कि धोनी चैंपियंस ट्रॉफी की टीम में शामिल होने के लिए सक्षम हैं।

पूर्व भारतीय ओपनर ने कहा, “उन्होंने हाल ही में इंग्लैंड के खिलाफ शतक लगाया था। इसीलिए मुझे नहीं लगता कि वह बिलकुल भी फॉर्म में नहीं हैं। आप धोनी के बिना चैंपियंस ट्रॉफी की टीम की कल्पना भी नहीं कर सकते। IPL जैसे टूर्नामेंट में ऐसी चीज़ें होती रहती हैं।”

“धोनी जैसे अनुभवी खिलाड़ी के आंकलन के लिए IPL के मंच को चुनना ग़लत है। अगर आप किसी युवा खिलाड़ी का आंकलन इस टूर्नामेंट के मद्देनज़र कर रहे हैं तो ठीक है क्योंकि एक नए खिलाड़ी के लिए बड़ी भीड़ के सामने प्रदर्शन करना मुश्किल होता है।’

धोनी और सहवाग के बीच रिश्तों में आई खटास की ख़बरों के बीच, सहवाग का पूर्व कप्तान को लेकर ऐसी बातें करना दिल को छू जाता है।

SHOW COMMENTS