सैम बिलिंग्स ने एमएस धोनी के उत्तराधिकारी के तौर पर ऋषभ पंत को चुना

no photo
 |

Getty

सैम बिलिंग्स ने एमएस धोनी के उत्तराधिकारी के तौर पर ऋषभ पंत को चुना

दिल्ली डेयरडेविल्स के बल्लेबाज सैम बिलिंग्स को यकीन है कि महेन्द्र सिंह धोनी के रिटायर होने के बाद टीम में उनकी जगह को पूरा करने की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी ऋषभ पंत निभा सकते हैं। साथ ही, इस खिलाड़ी ने राहुल द्रविड़ की भी प्रशंसा की जिनकी मदद से वो इस खेल के तकनीकी पक्ष को समझ पा रहे हैं।

रणजी ट्राॅफी के बाद, ऋषभ पंत ने इंडियन प्रीमियर लीग में बल्ले और गलव्स से धूम मचाई हुई है। दिल्ली के इस कीपर ने चार मुकाबलों में ही 140 रन बटोर लिए हैं और उनकी तकनीकी समझ ने पहले ही लोगों का ध्यान अपनी तरफ आकर्षित कर लिया है। ऋषभ पंत की सराहना करने वाले लोगों की फेहरिस्त में नया नाम जुड़ा है इंग्लैंड के बल्लेबाज सैम बिलिंग्स का, जिन्होंने भारतीय दिग्गज एमएस धोनी के वारिस के तौर पर इस युवा का नाम लिया है।

स्क्राॅल को दिए इंटरव्यू में बिलिंग्स ने कहा, ‘‘मैंने अब तक जितने खिलाड़ी देखे हैं, उनमें बिना किसी शक के ऋषभ पंत सर्वश्रेष्ठ युवा खिलाड़ी है। वो बल्लेबाजी और कीपर के तौर पर शानदार है, आप उसके शुरूआती कुछ मुकाबले देख सकते हैं। वो लगभग धोनी की तरह स्टंप के पीछे रहता है। इसमें कोई शक नहीं है कि जब एमएस धोनी जाने का फैसला करेंगे तब उनके स्थान पर पंत ही वो खिलाड़ी है जो उनकी भरपाई कर सकेगा। मैं जानता हूं ये बड़ी बात है लेकिन आप उसे देख सकते हैं।’’

‘‘मैंने उसे पिछले साल टीम की ट्रेनिंग के दौरान देखा था। नाथन-कल्टर नाइल और क्रिस मोरिस गेंदबाजी पर थे और ये कोटला के मैदान पर उन्हें बड़े शाॅट्स के लिए खेल रहा था। मुझे याद है तब मैं ये सोच रहा था, ‘जीसस ये सिर्फ 18 साल का है’?’’

आईपीएल की वजह से अलग-अलग देशों के खिलाड़ियों को करीब आने का मौका मिला है। इससे ना सिर्फ भारतीय खिलाड़ियों को मंच मिल रहा है बल्कि दूसरे देश के खिलाड़ी भी भारत को बेहतर तरीके से जान पा रहे हैं।

बिलिंग्स ने दिल्ली डेयरडेविल्स के मेंटर राहुल द्रविड़ की भी सराहना की, जिन्होंने तकनीक को सुधारने में मदद की है।

उन्होंने कहा, ‘‘राहुल द्रविड़ केंट के लिए खेले हैं और उन्होंने वहां काफी रन भी बनाए हैं। मैं बचपन में उन्हें खेलते देखा करता था। इसलिए उनके साथ मिलकर काम करना और खेल के बारे में सीखना काफी शानदार है। मैं कह सकता हूं कि उन्होंने मुझे इस पर और तकनीकी पक्ष पर मदद की लेकिन उससे जुड़े रहना काफी मुश्किल है क्योंकि टी20 का प्रारूप काफी जल्दी बदलता है। इस वजह से आप खुद को अलग ही स्थिति में पाते हैं।’’

‘‘मुझे लगता है कि ऐसे वक्त में द्रविड़ जैसे खिलाड़ी आपकी सबसे ज्यादा मदद कर सकते हैं। आपने अच्छा किया हो या फिर आॅफिस में दिन खराब रहा हो आप उनसे जाकर बात कर सकते हो।’’

SHOW COMMENTS