IPL 2017। एमएस धोनी के धमाकेदार प्रदर्शन की बदौलत पुणे ने हैदराबाद को हराया

no photo
 |

BCCI

IPL 2017। एमएस धोनी के धमाकेदार प्रदर्शन की बदौलत पुणे ने हैदराबाद को हराया

राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स ने आखिरकार इस सत्र में लगातार दूसरी जीत दर्ज करते हुए पुणे में सनराइजर्स हैदराबाद को 6 विकेट से हराया। एमएस धोनी की शानदार पारी की बदौलत पुणे ने आसानी से 177 रनों के लक्ष्य को हासिल कर लिया। धोनी ने 34 गेंदों में 61 रनों की पारी खेली।

Brief Scores: Sunrisers Hyderabad 176/3 (Moises Henriques 55*, David Warner 43; Daniel Christian 1/20, Imran Tahir 1/23) lost to Rising Pune Supergiant 179/4 (Rahul Tripathi 59, MS Dhoni 61; Rashid Khan 1/17, Bipul Sharma 1/30) by 6 wickets.

सनराइजर्स हैदराबाद की टीम को मुकाबला शुरू होने से पहले ही एक बड़ा झटका तब मिला जब अस्वस्थ होने की वजह से युवराज सिंह को बाहर होना पड़ा, उनकी जगह बिपुल शर्मा टीम में आए। वहीं राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स ने वाशिंगटन सुंदर को आईपीएल में पदार्पण करने का मौका देते हुए राहुल चाहर को बाहर बिठाया। दोनों टीामें ने टाॅस के वक्त इस बात को स्वीकारा की वो लक्ष्य का पीछा करना पसंद करेंगे। आज किस्मत स्टीव स्मिथ के साथ रही और उन्होंने टाॅस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया। 

सनराइजर्स ने की धीमी मगर ठोस शुरूआत

डेविड वाॅर्नर और शिखर धवन ने सनराइजर्स हैदराबाद को एक सधी हुई शुरूआत दिलाई, जिसकी मदद से पिछले साल की चैंपियन टीम ने पावरप्ले की समाप्ति पर बिना किसी नुकसान के 45 रन बना लिए थे। विकेट निकालने की जरूरत को महसूस करते हुए स्टीव स्मिथ ने नौंवे ओवर में गेंद स्ट्राइक गेंदबाज इमरान ताहिर को थमाई। ओवर की पहली ही गेंद पर उन्होंने धवन को पवैलियन भेजा, उनका कैच राहुल त्रिपाठी ने लपका। इस विकेट के बाद फाॅर्म में चल रहे खिलाड़ी केन विलियमसन को मैदान में आने का मौका मिला और डेविड वाॅर्नर के साथ मिलकर 10 ओवर के बाद टीम का स्कोर 65/1 तक ले गए।

मोईसेस हेनरिक्स की मदद से टीम ने दिया प्रतिस्पर्धात्मक लक्ष्य

इस जोड़ी ने सेटल होने के लिए वक्त लिया लेकिन किवी खिलाड़ी ने बेन स्टोक्स के ओवर में 13 रन लेकर इसकी गति को बढ़ाने की कोशिश की। लेकिन डेनियल क्रिश्चियन ने उनका विकेट लेकर मेहमान टीम पर दबाव बढ़ा दिया। वाॅर्नर की 40 गेंदों पर 43 रनों की पारी भी उस वक्त समाप्त हो गई जब वो जयदेव उनादकट की गेंद पर स्विच हिट नहीं लगा पाए। पारी में तीन ओवर शेष रहने पर हैदराबाद की टीम 134 रनों पर थी और लग रहा था पुणे टीम को आज एक आसान लक्ष्य मिलेगा। लेकिन इन बचे हुए ओवर में मोईसेस हेनरिक्स (28 गेंदों में 55 रन) और दीपक हूडा (10 गेंदों में 19 रन) ने फटाफट 42 रन जोड़ लिए, जिसकी बदौलत हैदराबाद टीम एक सम्मानजनक स्कोर पर पहुंच पाई।

त्रिपाठी ने दिखाई क्लास परफाॅर्मेंस

राहुल त्रिपाठी ने आखिरकार आईपीएल में अपना हुनर दिखाने का फैसला कर ही लिया, लेकिन पारी की शुरूआत ऐसी नहीं थी। भुवनेश्वर कुमार ने पहला ओवर कराते हुए महज चार रन दिए। अजिंक्य रहाणे विकेट की गति से तालमेल बिठाने में संघर्ष करते नजर आ रहे थे और उन्होंने इसी दबाव में बिपुल शर्मा की गेंद खेली लेकिन मिड आॅन पर खड़े सिद्धार्थ कौल ने उन्हें पवैलियन जाने के लिए मजबूर कर दिया। बहरहाल, उनके युवा जोड़ीदार ने मोहम्मद सिराज के ओवर में 13 रन और सिद्धार्थ के ओवर में 18 रन लेकर अपने इरादे जाहिर कर दिए। रिस्क को थोड़ा कम करते हुए पुणे ने रन बनाने की गति को थोड़ा मद्धम किया और राशिद खान के प्रभाव को कम करने के लिए उन्होंने स्ट्राइक रोटेट करना शुरू किया। पारी के मध्य तक पुणे की टीम सही ट्रैक पर थी और उन्होंने सिर्फ 1 विकेट के नुकसान पर 83 रन बना लिए थे। 

धोनी ने फिर जीता प्रशंसकों का दिल

भरोसेमंद राशिद खान वो खिलाड़ी थे जिन्होंने पुणे के कप्तान का विकेट लेकर हैदराबाद को वापस मुकाबले में लेकर आए। अफगानस्तिान के इस युवा खिलाड़ी ने अपनी ही गेंद पर जबर्दस्त फिल्डिंग करके शानदार बल्लेबाजी कर रहे राहुल त्रिपाठी को ड्रेसिंग रूम भेजा। पुणे को इस मुश्किल स्थिति से निकालने के लिए एमएस धोनी मैदान पर थे। पारी के आखिरी तीन ओवर में पुणे को जीत के लिए 47 रनों की दरकार थी। मौदान पर धोनी की मौजूदगी ने मुकाबले का रूख ही बदल दिया। उन्होंने सिराज के ओवर में 17 रन हासिल किए। बेन स्टोक्स का विकेट गिरने के बाद उनका साथ देने के लिए मनोज तिवारी मैदान पर थे। रोमांचक हो चुके इस मुकाबले में एक बार फिर धोनी ने शानदार फिनिशर की भूमिका निभाई और टीम को 6 विकेट से जीत दिलाने में अहम रोल निभाया।

SHOW COMMENTS