सचिन तेंदुलकर के मुताबिक कुलदीप यादव में है 500 टेस्ट विकेट निकालने की क्षमता

no photo
 |

BCCI

सचिन तेंदुलकर के मुताबिक कुलदीप यादव में है 500 टेस्ट विकेट निकालने की क्षमता

25 मार्च 2017 को कुलदीप यादव ने टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया और क्रिकेट की दुनिया को शानदार वैरिएंशस से प्रभावित किया। उनके बेहतरीन प्रदर्शन को खुद क्रिकेट के दिग्गज सचिन तेंदुलकर ने परखा और उन्होंने इस युवा के भविष्य के लिए अहम सुझाव दिए।

क्रिकेट के इतिहास में कुलदीप यादव का पदार्पण सबसे कामयाब भारतीय टेस्ट गेंदबाज के रूप में हुआ। उन्होंने अपने दम पर मैच का रूख पलट दिया था और अपने चाइनामैन वैरिएशंस से आॅस्ट्रेलियाई टीम को परेशान किया था। पहली पारी में उन्होंने 4/68 का आंकड़ा हासिल किया और वो भारत के पहले चाइनामैन बने जिन्होंने अपने टेस्ट करियर की इतनी शानदार शुरूआत की।

इस प्रदर्शन के बाद दिन भर कुलदीप को बधाई के लिए फोन और संदेश आते रहे लेकिन एक काॅल उनके लिए बेहद खास था, क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर ने खुद उनसे बात की।

सचिन ने स्टैंड-इन कप्तान अजिंक्य रहाणे को फोन किया और यादव के बारे में पूछा।

कुलदीप यादव ने टेलीग्राफ को बताया, ‘‘सर बहुत खुश थे... मेरे टेस्ट डेब्यू से उन्हें बहुत खुशी हुई और उन्होंने टिप्पणी कि की मैं वैरिएशंस अच्छे से कर पा रहा हूं।’’

दिग्गज खिलाड़ी ने उनसे कहा कि अपना अच्छा काम जारी रखो और कामयाबी के साथ आने वाले चकाचौंध से सावधान रहना और अपने खेल पर फोकस रखना।

यादव ने कहा, ‘‘मुझे मेहनत करने के लिए प्रोत्साहित करने के अलावा उन्होंने सावधान करते हुए कहा कि मैं किसी लालच में ना आ जाउं, मुझे फोकस रहने की सलाह दी और 500 टेस्ट विकेट लेने का लक्ष्य बनाने के लिए कहा। उन्होंने मुझसे कहा, ‘तुम्हें 500 विकेट लेना है टेस्ट क्रिकेट में’।’’

कुलदीप ने बताया कि क्रिकेट के दिग्गज से प्रशंसा मिलना सम्मान की बात है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘सर का ऐसा कहना काफी बड़ा सम्मान है। बहुत ही बड़ी बात थी मेरे लिए।’’

चाइनामैन गेंदबाज को सचिन तेंडुलकर से मिलने का मौका 9 अप्रैल को मिला, जब मुंबई इंडियन्स और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच मुकाबला खेला गया, उस दिन भी सचिन ने उन्हें मुबारकबाद दी। तेंदुलकर ने कुलदीप को नीता अंबानी से भी मिलवाया और बताया कि 22 वर्षीय इस युवा ने आईपीएल करियर की शुरूआत मुंबई के साथ की थी। 

कुलदीप ने याद करते हुए कहा, ‘‘सर ने मुझे कड़ी मेहनत करने और अपने बाएं कंधे को मजबूत करने के लिए कहा। सीधे शब्दों में उन्होंने राय दी कि ‘फोकस रखना, सब कुछ दूर रखना’।

कुलदीप ने मुंबई के साथ दो साल बिताए हैं लेकिन उन्हें एक भी मुकाबला खेलने का मौका नहीं मिला था, लेकिन अब वो कई बड़े खिलाड़ियों के साथ केकेआर के अंतिम एकादश का हिस्सा बनते नजर आ रहे हैं।

सचिन के साथ अपने इस रिश्ते पर कुलदीप काफी उत्साहित नजर आए। उम्मीद है कि वो 500 टेस्ट विकेट लेकर मास्टर ब्लास्टर और क्रिकेट की पूजा करने वाले इस देश को उनपर गर्व करने का मौका देंगे।

SHOW COMMENTS