IPL 2017 । राइजिंग पुणे सुपरजायंट बनान कोलकाता नाइट राइडर्स - खिलाड़ियों की समीक्षा

no photo
 |

BCCI

IPL 2017 । राइजिंग पुणे सुपरजायंट बनान कोलकाता नाइट राइडर्स - खिलाड़ियों की समीक्षा

पुणे को उसके घरेलू मैदान में ही कोलकाता ने परास्त कर दिया। 182 रनों के बड़े लक्ष्य को मेहमान टीम ने आसानी से पूरा कर लिया। गंभीर और उथप्पा की बेहतरीन प्रदर्शन के सामने पुणे के कप्तान स्टीव स्मिथ की शानदार पारी भी फीकी पड़ गयी।

खिलाड़ियों की समीक्षा इस प्रकार है।

राइजिंग पुणे सुपरजायंट

अजिंक्य रहाणे - (7/10)

रहाणे सलामी बल्लेबाज़ के तौर पर काफी जम गए हैं। उन्होंने क्रीज़ पर अपनी स्थिति मज़बूत बनाने के लिए थोड़ा वक़्त लिया लेकिन 65 रन पर अपने साथी के पवेलियन लौटने के बाद, उन्होंने अपने रन बनाने की गति को बढ़ाया। रहाणे मायूस ज़रूर होंगे क्योंकि उन्हें अर्धशतक से केवल 4 रन कम रहते हुए, आउट होना पड़ा था।  

राहुल त्रिपाठी - (7/10)

यह युवा खिलाड़ी IPL के सितारे बनते जा रहे हैं। उन्होंने शुरुआत तो धीमी की लेकिन क्रीज़ पर जमते ही अपना जादू चलाया। उन्होंने रहाणे का साथ बखूबी दिया और उनपर दबाव कम करते हुए, स्ट्राइक लेने की ज़िम्मेदारी अपने कंधे पर उठायी। लेकिन उन्हें 38 पर ही पवेलियन लौटना पड़ा।

स्टीवन स्मिथ - (8/10)

 © BCCI

कप्तान एक बार फिर सामने आये और 182 के बेहतरीन स्कोर पर टीम को लेकर गए। उन्होंने स्ट्राइक रोटेशन और एक और दो रनों की मदद से रन बटोरने की गति को बरक़रार रखा। उनका स्कोर नाबाद 51 का रहा।

फाफ डू प्लेसिस - (4/10)

चोटिल बेन स्टोक्स की जगह पर इस दक्षिण अफ़्रीकी खिलाड़ी को टीम में शामिल किया गया पर वह इंग्लैंड के हरफनमौला खिलाड़ी की तरह योगदान नहीं दे सकते। उन्होंने अपना यह मौका पूरी तरह से बर्बाद कर दिया।

एमएस धोनी - (6/10)

पिछले मुकाबले से सीख लेते हुए इस बार उन्होंने इंतज़ार करने की गलती नहीं की। उन्होंने शुरू से ही रन बटोरना शुरू किया। बाउंड्री के ज़रिये उन्होंने 17 रन बटोरे जबकि उनका कुल स्कोर 23 रनों का था लेकिन चाइनामैन कुलदीप यादव की गेंद पर आउट होने के कारण वह आखिर तक टीम का साथ नहीं दे सके।

मनोज तिवारी - (3/10)

मनोज तिवारी ने 13 गेंदों पर 22 रन बनाकर मुंबई इंडियन्स के खिलाफ टीम को सफलता तक पहुँचने में मदद की थी। और इस बार भी उनसे कुछ ऐसी ही उम्मीद थी। लेकिन कुलदीप यादव ने उन्हें 1 रन पर ही आउट कर दिया।

डेनियल क्रिस्चियन - (7/10)

ऑस्ट्रेलियाई हरफनमौला ने यह साबित किया कि वह बल्लेबाजी में क्या कर सकते हैं। उन्होंने महज़ 6 गेंदों में 16 रन बनाए। उनकी गेंदबाजी भी अच्छी रही और 7.75 के किफ़ायत में उन्होंने विरोधियों के रन की गति को काबू में रखा। दुर्भाग्यवश सुन्दर ने उनकी गेंद पर. 32 रन पर गंभीर की केच छोड़ दी, क्योंकि इससे कोलकाता की टीम पर गहरा असर पद सकता था। आख़िरकार उन्होंने गंभीर का विकेट लिया ज़रूर लेकिन काफी देर हो चुकी थी। चार ओवर में उनका स्कोर 31-1 था।

वाशिंगटन सुन्दर - (4/10)

17 वर्षीय ने शुरुआत अच्छी की और अपने पहले ओवर में 3 रन दिए। इसके अलावा उन्होंने नारायण का विकेट भी चटकाया लेकिन अब भी इस खिलाड़ी को और भी अभ्यास करना होगा। उन्होंने बाद में काफी रन दिए और 32 रन पर उन्होंने गंभीर का केच भी छोड़ा। 3 ओवर में उन्होंने 32-0 का स्कोर कायम किया।

शार्दुल ठाकुर - (3/10)

युवा खिलाड़ी इस बार भी अच्छे प्रदर्शन से चूके। न वह विरोधियों के रन रोक सके, न कोई विकेट चटका सके। अब टीम में रहना उनके लिए मुश्किल होगा। और आगे चलकर उन्हें कुछ कमाल दिखाना ही होगा। 3.1 ओवरों में उन्होंने 31 रन दिए।

इमरान ताहिर - (4/10)

MCA स्टेडियम में गंभीर और उथप्पा की जोड़ी ने ताहिर की गेंदों पर हर जगह पर शॉट लगाए। उनकी गेंद पर उनाढ़कट से उथप्पा का केच छूट गया। इस मुकाबले में उनका जलवा नहीं दिखा। 4 ओवर में उन्होंने 48-0 का स्कोर कायम किया।

जयदेव उनाढ़कट - (4/10)

पिछले मैच में अपना जादू चलाने वाले यह बल्लेबाज़ इस मैच में फ़ैल हो गए। हालांकि उन्होंने रोबिन उथप्पा का विकेट ज़रूर किया, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी। इससे पहले उन्होंने उथप्पा का केच छोड़ा भी था, जब उथप्पा महज़ 12 रन पर थे। चार ओवर में उन्होंने 26-1 का स्कोर कायम किया।

कोलकाता नाइट राइडर्स

गौतम गंभीर - (9/10)

गंभीर के बल्ले का जादू इसबार भी दिखा। उन्होंने KKR को एक अच्छी शुरुआत दिलाई और बारी बारे से स्ट्राइक लिया। उन्होंने उथप्पा के साथ मिलकर 158 की सांझेदारी कायम की। इससे पहले, गेंदबाजी के वक़्त, उनके कुछ अच्छे फैसलों ने पुणे की टीम को 182 के रन पर सीमित किए।

सुनील नारायण - (6/10)

नारायण ने मुकाबले की शुरुआत गेंदबाजी से की लेकिन वह महंगे साबित हुए। हालांकि उन्होंने 46 रन पर अजिंक्य रहाणे को पवेलियन लौटाया लेकिन उन्होंने काफी रन भी दिए। 4 ओवर में उन्होंने 34-1 का स्कोर कायम किया। बाउंड्री के साथ ही उन्होंने अपनी बल्लेबाजी की शुरुआत की लेकिन फिर सिंगल लेते हुए वह महज़ 16 रनों पर रन आउट हो गए।

रोबिन उथप्पा - (9.5/10)

 © BCCI

उथप्पा मानो बल्लेबाजी करने से पहले यह सौदा करके आये थे कि वह कितनी जल्दी मैच ख़त्म कर पाएंगे। उन्होंने पुणे के खिलाफ शानदार पारी खेली और मैदान में मौजूद लोगों का मनोरंजन किया। वहीं KKR की गेंदबाजी के दौरान भी, उन्होंने अपने स्टंप्स से पुणे के तीन खिलाड़ियों के विकेट चटकाए।

डैरेन ब्रावो- (6/10)

वेस्ट इंडियन खिलाड़ी ने इस मुकाबले के साथ IPL में अपना डेब्यू किया और जीतने वाली टीम का हिस्सा बन्ने से अच्छा और क्या हो सकता है। उन्होंने अपनी टीम को बल्लेबाजी कर विरोधी को धुल चटाते हुए देखा होगा, लेकिन फिर ऐसी दिलचस्प परिस्थिति में वह बल्लेबाजी करने से रह गए।

मनीष पाण्डेय - (6/10)

उथप्पा की शानदार पारी की वजह से मनीष पाण्डेय को अपना बल्ला चलाने का मौका नहीं मिला। भले ही उन्हें प्रदर्शन का मौका नहीं मिला हो, लेकिन टीम की जीत की ख़ुशी ज़रूर मन रहे होंगे।

युसूफ पठान - (5/10)

पठान को बस कुछ ही रन बनाने की ज़रुरत थी, लेकिन वह अगले मैच में प्रदर्शन करने का मौका ज़रूर तलाशेंगे। उन्होंने फील्डिंग के दौरान दो केच भी छोड़े, पर खुशकिस्मती से, उसका कोई बुरा प्रभाव नहीं हुआ।

कोलिन डी ग्रैंडहोम- (4/10)

कीवी गेंदबाज़ ने अच्छा खेला और दो ओवर में महज़ 14 रन दिए। हालांकि वह विकेट लेने से चूक गए।

क्रिस वोक्स - (3/10)

इंग्लैंड के तेज़ गेंदबाज़ का प्रदर्शन बेहद निराशाजनक रहा। उन्होंने 12.67 प्रति ओवर के दर से रन दिए। गंभीर ने वोक्स को और गेंद नहीं सौंपी जब उन्होंने अपने तीसरे ओवर में 18 रन दिए। 3 ओवर में उनका स्कोर 38-0 था।

पियूष चावला - (6/10)

सूर्यकुमार यादव की जगह उनके टीम में शामिल किया गया और उन्होंने विरोधियों का पहला विकेट चटकाया। अपने पहले ही ओवर में उन्होंने राहुल त्रिपाठी को 38 पर आउट किया और ऐसा लग रहा था जैसे चावला अपनी टीम के लिए कोई कमाल करेंगे। लेकिन, अपने बाकी के तीन ओवर में उन्होंने 33 रन दे दिए और 36-1 का स्कोर कायम किया।

कुलदीप यादव - (7/10)

चाइनामैन ने मैच पर अपना गहरा छाप छोड़ा और 200 तक पहुँचने लायक RPS की टीम को 182 के रन पर सीमित किया। कप्तान ने उन्हें 18वे ओवर पर गेंदबाजी करने की ज़िम्मेदारी सौंपी और एमएस धोनी और मनोज तिवारी को पवेलियन लौटाकर उन्होंने कप्तान के बरोसे को बरक़रार रखा। वह KKR के सबसे किफायती गेंदबाज़ साबित हुए और 4 ओवर में उन्होंने 31-2 का स्कोर कायम किया।

उमेश यादव - (4/10)

भारतीय तेज़ गेंदबाज़ इस मुकाबले में महंगे साबित हुए। वह ज्यादा विकेट नहीं ले सके और अपने तीन ओवर में उन्होंने 28-1 का स्कोर हासिल किया।

मैच का हीरो - रोबिन उथप्पा

मैच का मुजरिम - जयदेव उनाढ़कट 

SHOW COMMENTS