भारतीय नेत्रहीन क्रिकेट कप्तान के विरोध के बाद वीरेंदर सहवाग ने #OtherMenInBlue ट्वीट पर दी सफाई

no photo
 |

©Getty

भारतीय नेत्रहीन क्रिकेट कप्तान के विरोध के बाद वीरेंदर सहवाग ने #OtherMenInBlue ट्वीट पर दी सफाई

वीरेंदर सहवाग ने भारत की नेत्रहीन क्रिकेट टीम को #OtherMenInBlue का इस्तेमाल करके बधाई दी थी लेकिन ट्विटर ने इसे हल्के में नहीं लिया और ना ही नेत्रहीन क्रिकेट टीम के कप्तान ने। क्या सही मैं सहवाग ने बड़ी गलती की? विश्व चैंपियंस के सम्मान को उन्होंने आघात पहुंचाया।

बीते रविवार को भारतीय नेत्रहीन क्रिकेट टीम ने पाकिस्तान को फाइनल में हराकर दूसरी बार ब्लाइंड क्रिकेट टी20 विश्व कप जीता। भारत ने बड़ी ही आसानी के साथ सिर्फ 1 विकेट के नुकसान पर 198 रनों के लक्ष्य का पीछा किया था।

इस जीत के बाद सभी जगह से बधाई संदेश आने लगे। इस बीच वीरेंदर सहवाग का एक ट्वीट सभी की नजरों में आ गया।

इसमें आप देख सकते हैं की वीरेंदर सहवाग ने ‘मेन इन ब्लू’ के स्थान पर ‘अदर मेन इन ब्लू’ का इस्तेमाल किया। और इसके बाद बाकि काम ट्विटर ने किया। उनका विरोध होने लगा। कुछ ही मिनटों के बाद सहवाग को इस टीम के लिए ‘अदर’ शब्द जोड़ने के लिए आलोचना का शिकार होना पड़ा।

बात इतनी आगे पहुंची की भारतीय नेत्रहीन क्रिकेट टीम के कप्तान अजय रेड्डी ने भी ‘अदर मेन इन ब्लू’ पर आपत्ति जताई। उन्होंने इंडियन एक्सप्रेस से कहा, ‘‘हम भी वही नीली जर्सी पहनते हैं, उसी तिरंगे की नुमाइंदगी करते हैं और उसी गर्व और जज्बे के साथ खेलते हैं फिर हमारे लिए ‘अदर’ शब्द का इस्तेमाल क्यों? मैं शुक्रिया अदा करता हूं कि उन्होंने हमें बधाई दी लेकिन हम उनसे अलग नहीं हैं। हम भी मेन इन ब्लू हैं।’’

और वो बिल्कुल सही भी हैं। ब्लाइंड क्रिकेट टीम वैसी ही नीली जर्सी पहनती है, उसी तिरंगे के लिए खेलती है और वो भी मेन इन ब्लू है। लेकिन उन्हें ये भी समझना होगा कि सहवाग ने ऐसा उनका अपमान करने की नीयत से नहीं किया है। हम में से कई लोगों की तरह उन्होंने भी मार्केटिंग टैगलाइन का इस्तेमाल किया। जी हां, ‘अदर मेन इन ब्लू’ ब्लाइंड क्रिकेट टीम की मार्केटिंग टैगलाइन के रूप में तैयार की गई थी। ये चर्चा करने का दूसरा मुद्दा बन सकता है।

लोग इस बारे में ज्यादा बात करते, इससे पहले ही सहवाग ने ये प्वाइंट सबके सामने रख दिया।

इसलिए यहां सहवाग की आलोचना को रोका जाना चाहिए। बेशक, अजय रेड्डी की टीम किसी भी दूसरी भारतीय टीम से ज्यादा सम्मान पाने की हकदार है। ऐसा कहने में सहवाग ही आगे रहे हैं। अगर आप वीरू पाजी को फाॅलो करते हैं तो ये जानते होंगे की वो किसी भी भारतीय एथलीट, क्रिकेटर या खिलाड़ी के सम्मान पर चोट नहीं करते हैं। इसलिए मार्केटिंग टैगलाइन पर उनकी आलोचना करना काफी गलत है।

Predict IPL & WIN CASH! Can you predict the Game?

Join & Play NOW! Click here here to download Nostra Pro & get ₹20 Joining Bonus!

Win cash daily by predicting the right result on Nostragamus. Click here to download the game on Android! To know more, visit Nostragamus.in

SHOW COMMENTS