ऐसी पिच तैयार नहीं करेंगे जिसपर खेल ढाई दिनों में ही खत्म हो जाए, केएससीए के सेक्रेटरी ने कहा

no photo
 |

Getty

ऐसी पिच तैयार नहीं करेंगे जिसपर खेल ढाई दिनों में ही खत्म हो जाए, केएससीए के सेक्रेटरी ने कहा

भारत और आॅस्ट्रेलिया के बीच दूसरा टेस्ट मुकाबला 4 मार्च से शुरू होगा। केएससीए के सेक्रेटरी आर सुधाकर राव के मुताबिक ये मुकाबला बैंगलोर के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम के अच्छे सपोर्टिंग पिच पर होगा। स्टेट-आॅफ-द-आर्ट ड्रेनेज सिस्टम के लगने के बाद ये इस मैदान का पहला टेस्ट मुकाबला होगा।

भारत और आॅस्ट्रेलिया के बीच पहला टेस्ट मुकाबला तीसरे दिन ही खत्म हो गया था जिसके बाद से पुणे के एमसीए स्टेडियम की पिच की काफी अलोचना हुई क्योंकि मुकाबले के पहले सत्र से ही स्पिनर्स को मदद मिलने लगी थी। मेहमान टीम का स्वागत स्पिनिंग ट्रैक से करने की योजना भारत पर ही भारी पड़ गई। इस मुकाबले में स्टीफन ओ‘कीफे और नेथन ल्योन की आॅस्ट्रेलियाई स्पिन जोड़ी ने कुल 17 विकेट हासिल किए।

लेकिन इस बात की आशंका कम है कि बैंगलोर में भी ऐसा कुछ होगा।

केएससीए के सेक्रेटरी आर सुधाकर राव ने बताया कि उन्हें टीम मैनेजमेंट की तरफ से पिच को लेकर कोई निर्देश नहीं मिले हैं।

राव ने द हिन्दु को बताया, ‘‘अभी तक हमें कुछ भी नहीं बताया गया है। एक बार उन्हें आने देते हैं, उसके बाद देखेंगे अगर उनके कोई सुझाव हुए।’’

‘‘हमारा उद्देश्य सपोर्टिंग, टेस्ट मैच पिच तैयार करना है। हम पांच दिनों तक चलने वाला मुकाबला चाहते हैं। हम बिल्कुल नहीं चाहते हैं कि मुकाबला ढाई दिनों में खत्म हो जाए।’’

2015 में भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच हुए टेस्ट मुकाबले के बाद केएससीए ने बड़े पैमाने पर मरम्मत का काम करवाया और स्टेट-आॅफ-द-आर्ट ड्रेनेज सिस्टम इन्स्टाॅल करवाया। उसके बाद से ये पहला मौका होगा जब टेस्ट मुकाबले का आयोजन किया जा रहा है। उम्मीद है कि बीसीसीआई के ग्राउंड और पिच कमेटी के साउथ जोन के हेड पीआर विश्वनाथन टेस्ट की तैयारियों का जायजा लेने आएंगे। लेकिन फिलहाल, केएससीए के क्यूरेटर के श्रीराम मैदान की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं।

राव ने कहा, ‘‘हम चाहते हैं कि नीचे नमी बनी रहे। इसलिए हमने पानी डालना बंद नहीं किया है। हम मैच से दो या तीन दिन पहले तक पानी देते रहेंगे। उसके दो दिन बाद हम देखेंगे की पिच की स्थिति क्या है और फिर निर्णय लेंगे।’’

उन्होंने आगे कहा, ‘‘पहले दो दिन पिच बल्लेबाजी के लिए अच्छी होगी और मध्यम तेज गेंदबाजों को मदद करेगी। दूसरे और तीसरे दिन हल्का टर्न मिलेगा। और आखिर के दो दिनों में थोड़ा ज्यादा टर्न मिलेगा। मैंने श्रीराम से कहा है कि वो इसी तरह की पिच तैयार करें। यही हमारा विचार है।’’

SHOW COMMENTS