भारत दबाव में है, स्टीव स्मिथ का दावा

no photo
 |

© Getty Images

भारत दबाव में है, स्टीव स्मिथ का दावा

स्टीव स्मिथ ने कहा है कि भारत पुणे टेस्ट हारने के बाद, दबाव में है और साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी पर अपनी पकड़ बनाये रखने के लिए उन्हें सिर्फ एक जीत की आवश्यकता है। स्मिथ का मानना है कि बेंगलुरु के बल्लेबाजी अनुकूल विकेट पर भी स्टीव ओ'किफे बेहतरीन प्रदर्शन करेंगे।

सीरीज के शुरू होने से पहले, भारत और घरेलू मैदान में उसके बेहतरीन प्रदर्शन पर चर्चा हो रही थी लेकिन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पुणे में 333 रनों से मिली हार के बाद तस्वीर बदल चुकी है और अब हालात मेहमान टीम के पक्ष में है।

"मेरे ख्याल से वे अब दबाव महसूस कर रहे हैं," स्मिथ ने मैच से पहले के प्रेस कांफ्रेंस में कहा।

"सीरीज की शुरुआत से पहले, हम उनसे 4-0 से हार की बातें सुन रहे थे। लेकिन अब वे एक मुकाबला हार चुके हैं। और हम बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी पर पकड़ बनाये रखने के लिए एक जीत से पीछे हैं, यहां समीकरण बहुत जल्दी बदल सकते हैं।

स्मिथ इस बात पर जोर दे रहे हैं कि उन्हें उस योजना पर अमल करना होगा, जिसे उनके सहायक बल ने तय किया है, ताकि, अच्छे नतीजे हाथ लगे। ऑस्ट्रेलिया के कप्तान ने कहा कि टीम को एक सकारात्मक भाव से खेलना होगा, तब भी, जब चीज़ें अपने पक्ष में ना हो।

"जिस तरह से हमने पिछले हफ्ते खेला, वह एक सकारात्मक अंदाज़ था। वह एक मुश्किल विकेट था और हमने उन परिस्थितयों का सामना किया। और सबसे महत्वपूर्ण बात, हमने आत्मविश्वास हासिल किया," स्मिथ ने स्पष्ट किया।

"हमें अपनी शैली पर टिके रहना था और यह सुनिश्चित करना था कि दोनों ही पारियों में हमारी योजना सही जा रही है या नहीं। हमें इस बात का पता पिछले टेस्ट में चल गया। पहली पारी में खिलाड़ी बचकर खेल रहे थे, जैसे जैसे हम खेल में आगे बढ़ते गए, स्थिति बदलती गयी और हमें अलग तरह के शॉट्स खेलने पड़े।

"आपने खिलाड़ियों को स्वीप और रिवर्स स्वीप करते देखा होगा, जब आप खेल में आगे होते हैं तो ऐसा करना आसान होता है। लेकिन (जब परिस्थिति अनुकूल नहीं होती) तो सोच समान रखने की ज़रुरत होती है।"

पहले टेस्ट में सतह की वजह से खेल पर काफी असर पड़ा था जिसे, पांच दिनों के मुकाबले में के तीन दिनों में ख़त्म होने पर, मैच रेफ़री क्रिस ब्रॉड ने 'निराशाजनक' करार दिया था। हालांकि, स्मिथ ने कहा कि चिन्नास्वामी स्टेडियम पर काम किया गया है और वह पुणे के स्टेडियम से अलग है।

"यह पिछले विकेट से अलग है। मेरे ख्याल से वह थोड़ा और घास हटायेंगे लेकिन लगता है इसपर गेंद की गति सही रहेगी और मुकाबले के आगे बढ़ने के लिए यह और बेहतर होगा," स्मिथ ने कहा।

"इस पर गेंद थोड़ी ज्यादा स्पिन होगी लेकिन यह उस पिच से काफी समान है जिसपर इंग्लैंड ने हाल ही में खेला था, यहां पहली पारी का स्कोर बहुत अहम होगा। अगर आप पहली पारी अच्छे से खेलते हैं तो चीज़ें आपके पक्ष में हो सकती है।"

"मेरे ख्याल से इस पिच पर हमें बड़ा स्कोर करना होगा, लेकिन चीज़ें बदल भी सकती है। हो सकता है खेलते वक़्त इस पिच पर कुछ और ही नज़र आये।"

"आपको समझना होगा और उसके अनुकूल खुद को ढालना होगा और बाकियों को भी इस बारे में बताना होगा।"

स्मिथ की बातों से तो यही लगता है कि दूसरे टेस्ट में स्पिनरों के लिए मुश्किल हो सकती है। पुणे के पिच पर भी सिर्फ एक ही तेज़ बल्लेबाज़ विकेट लेने में कामयाब हुआ था। उमेश यादव के 6-71 का स्कोर सबसे अच्छा था, जबकि स्पिनरों का स्कोर बेहद निराशाजनक था। हालांकि, स्मिथ से पूछा गया कि क्या पिछले टेस्ट में 12-70 का आंकड़ा हासिल करने वाले स्टीव ओ'किफे इस बल्लेबाजी अनुकूल पिच पर भी कमाल दिखा पाएंगे।

"मेरे ख्याल से वह इस बार भी अच्छा खेलेंगे। अपने देश के उन पिचों पर उनका रिकॉर्ड बहुत ही शानदार है, जिनपर स्पिन नहीं होती," स्मिथ ने जवाब में कहा।

"उनकी गेंदबाजी पिच के अनुकूल ढल जाती है, वह पिछले दो दिन से नेट्स पर मेहनत कर रहे हैं, ताकि उनका प्रदर्शन अच्छा हो। हमने उन्हें अलग अलग स्थितियों पर अलग अलग गेंद डालते देखा है, और मुझे यकीन है वह इस स्थिति के अनुकूल भी ढल जायेंगे।"

SHOW COMMENTS