चिन्नास्वामी की पिच को ‘‘औसत से नीचे’’ दर्जे का करार दिया गया

no photo
 |

Getty Images

चिन्नास्वामी की पिच को ‘‘औसत से नीचे’’ दर्जे का करार दिया गया

एक बार फिर भारतीय पिचों की चर्चा हो रही है लेकिन गलत वजहों के कारण। आईसीसी द्वारा पुणे की पिच को ‘‘खराब’’ रेटिंग मिलने के बाद, दूसरे टेस्ट की मेजबानी करने वाले बैंगलोर के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम को अधिकारियों ने ‘‘औसत से नीचे’’ दर्जे का माना है।

दो सप्ताह में ये दूसरा मौका रहा जब इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल ने मौजूदा सीरीज की पिचों को खराब कहा। क्रिस ब्राॅड के द्वारा तैयार मैच रिपोर्ट में बताया गया कि ‘‘(बैंगलोर की) पिच रेटिंग औसत से नीचे है और आउटफील्ड अच्छी थी।’’

दूसरा टेस्ट मुकाबला चार दिनों में ही खत्म हो गया था और भारत ने इसमें जीत दर्ज करके सीरीज 1-1 से बराबर कर ली थी। ब्राॅड ने ही पुणे के महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन की पिच को ‘‘खराब’’ रेटिंग दी थी। इस पिच पर सीरीज का पहला टेस्ट मुकाबला खेला गया था जो तीन दिनों में ही खत्म हो गया था।

इतना ही नहीं आॅस्ट्रेलियाई मीडिया तीसरे टेस्ट के लिए रांची में तैयार की गई पिच की आलोचना करना शुरू कर चुका है। 

बीते साल मे, भारत ने तीन टेस्ट मुकाबले न्यूजीलैंड, चार मुकाबले इंग्लैंड और एक टेस्ट मुकाबला बांग्लादेश के खिलाफ खेला लेकिन इस तरह की आलोचना किसी भी मुकाबले में नहीं देखने को मिली थी।

SHOW COMMENTS