जब क्विंटन डी कॉक ने अपनाया ऋद्धिमान साहा का रास्ता

no photo
 |

Getty images

जब क्विंटन डी कॉक ने अपनाया ऋद्धिमान साहा का रास्ता

कभी कभी क्रिकेट खेलने वाले विकेटकीपर ऐसे कैच लेते हैं, जिसमें फुटबॉल के गोलकीपर का अंदाज़ नज़र आता है। और हाल फिलहाल में ऐसे नज़ारे काफी देखने को मिल रहे हैं, ऋद्धिमान साहा के बाद, क्विंटन डी कॉक ने भी बल्लेबाज़ को आउट करने का अनोखा तरीका अपनाया। आप दोनों कैच इस ख़बर में डाले गए विडियो में देख सकते हैं।

कहा जाता है कि केच मैच को जिताने की काबिलियत रखता है और यह बात तब सिद्ध हो गयी जब नील ब्रूम को आउट करने के लिए दक्षिण अफ्रीका के विकेटकीपर क्विंटन डी कॉक ने एक शानदार कैत्च पकड़ा। कगिसो रबाडा गेंदबाजी कर रहे थे और एक लम्बी छलांग लगाकर डी कॉक ने बेहतरीन कैच पकड़ा और रबाडा को उनका दूसरा विकेट मिला।

क्विंटन का यह कैच काफी हद तक, बेंगलुरु में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ हुए दूसरे टेस्ट में ऋद्धिमान साहा द्वारा लिए गए कैच जैसा था।

डी कॉक के प्रयासों के बाद, दक्षिण अफ्रीका ने अपने लिए 81 रनों का लक्ष्य निर्धारित किया। शनिवार को बेसिन रिज़र्व के हो रहे दूसरे टेस्ट के तीसरे दिन पर न्यू जीलैंड की पारी उन्हीने 171 रनों पर समेटा। प्रोटीज़ के स्पिनर केशव महाराजा ने 6-40 के स्कोर के साथ अपने कार्यकाल का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया।

टेस्ट में इससे पहले, दक्षिण अफ्रीका अपनी पहली पारी में 359 रन बनाये थे और मोर्ने मोर्केल ने तीन विकेट चटकाकर न्यू जीलैंड की बल्लेबाजी को हिला दिया था। महाराजा ने भी न्यू जीलैंड के बल्लेबाजों को अपनी शानदार गेंदबाजी से धूल चटाया। कीवी टीम के ओपनर जीत रावल ने टीम में सबसे अच्छा स्कोर किया। महाराजा के हाथों आउट होने से पहले उन्होंने 80 रन बनाये थे।  

SHOW COMMENTS