वसीम अकरम, इंजमाम उल हक और मुश्ताक अहमद मैच फिक्सिंग में शामिल थे, अब्दुल कादिर ने किया दावा

no photo
 |

Getty

वसीम अकरम, इंजमाम उल हक और मुश्ताक अहमद मैच फिक्सिंग में शामिल थे, अब्दुल कादिर ने किया दावा

अब्दुल कादिर ने अपने पूर्व साथी वसीम अकरम, इंजमाम उल हक और मुश्ताक अहमद पर आरोप लगाते हुए कहा कि ये सभी मैच फिक्सिंग में शामिल थे। इस दिग्गज लेग-स्पिनर ने कहा कि इसके लिए इन्हें अगर फांसी मिली होती तो स्पाॅट-फिक्सिंग ने कभी भी पाकिस्तान की क्रिकेट को प्रभावित नहीं किया होता।

पिछले सप्ताह शाहजेब हसन पांचवे पाकिस्तानी खिलाड़ी बने जिन्हें पीसीबी ने करप्शन मामले में निलंबित किया है। पिछले महीने पीएसएल में हुई इस घटना के लिए शरजील खान, नासिर जमशेद, खालिद लतीफ और मोहम्मद इरफान को पहले ही बैन किया जा चुका है।

कादिर ने एक्सप्रेस ट्रिब्यून से कहा, ‘‘क्या आपने वसीम अकरम, इंजमाम, मुश्ताक अहमद को फांसी दी, ऐसे नाम की लंबी सूची है, ऐसा किया जाता तो जो आज हो रहा है वो नहीं होता।’’

सन् 2000 में मैच फिक्सिंग विवाद में अता-उर-रहमान और सलीम मलिक को बलि का बकरा बनाया गया।

कादिर ने कहा, ‘‘अता-उर-रहमान और सलीम मलिक को इसका आरोपी बनाया गया। हमारे देश में बड़े आरोपियों को छोड़ कर छोटे आरोपियों को पकड़ने का चलन है। वसीम, वकार, इंजमाम और मुश्ताक या तो अभी काम कर रहे हैं या फिर पहले वो पीसीबी के साथ काम कर चुके हैं। जस्टिस कयूम की रिपोर्ट को क्यों लागू नहीं किया गया?’’

SHOW COMMENTS