रिद्धिमान साहाः ये मेरे अब तक के करियर की सबसे बेहतरीन टेस्ट पारी थी

no photo
 |

BCCI

रिद्धिमान साहाः ये मेरे अब तक के करियर की सबसे बेहतरीन टेस्ट पारी थी

रिद्धिमान साहा ने आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ चल रहे तीसरे टेस्ट मुकाबले में खेली 117 रनों की पारी को सबसे बेहतरीन बताया और कहा कि टीम की तरफ से मिल रहे समर्थन ने उनपर सकारात्मक प्रभाव पड़ा है। साहा और पुजारा ने मिलकर 199 रनों की साझेदारी की जिसकी बदौलत भारत 603/9 का स्कोर खड़ा कर पाया।

साहा ने प्रेस काॅन्फ्रेंस में कहा, ‘‘तीन में से ये मेरी सबसे बेहतरीन पारी थी। हमें साझेदारी की सख्त जरूरत थी। मेरी साझेदारी धीरे-धीरे शुरू हुई। ये बेहतरीन में से एक है।’’

‘‘मैंने नेट्स पर शाॅर्ट गेंदों के खिलाफ काफी अभ्यास किया। मैंने बल्लेबाजी कोच (संजय बांगर), रघु, अनिल भाई, तेज गेंदबाजों के साथ काम किया। मेरी मजबूती शाॅर्ट गेंदों को जाने देना है और इसी ने काम किया।’’

विकेट के पीछे साहा की काबिलियत पर कभी शक नहीं रहा, उन्होंने अपने बल्लेबाजी हुनर को धीरे-धीरे निखारा। न्यूजीलैंड के खिलाफ बल्लेबाजी करके उन्होंने अपने दम पर मुकाबला भी जिताया है। 

‘‘मैंने ज्यादा कुछ बदलाव नहीं किया है, बस मैं खुद पर भरोसा कर रहा हूं। अब मैं यकीन से अपने शाॅट, स्वीप और उपर की ओर शाॅट खेलता हूं। शुरूआती दिनों में जब मैं टेस्ट टीम में आया था तब हिचकिचाहट के साथ ये सब शाॅट खेलता था लेकिन अब मुझे सौ प्रतिशत यकीन है। टीम, कप्तान, कोच और सभी लोग मेरे साथ हैं और ये मेरे लिए काफी अच्छा है।’’

रांची में चेतेश्वर पुजारा के साथ हुई अपनी साझेदारी के बारे में साहा ने कहा, ‘‘पुजी ने डोमेस्टिक क्रिकेट में 200 और 300 बनाकर काफी धैर्य दिखाया है। उसके धैर्य की सीमा हमेशा शीर्ष पर रहती है। छोटी-छोटी साझेदारियों के बाद दूसरे छोर से लगातार विकेट गिरने के बाद भी वो शांत दिखे... वो अपने शाॅट खेलने का प्रयास कर रहे थे और साझेदारियों को लंबा बनाने की कोशिश कर रहे थे।’’

‘‘हमें साझेदारी की जरूरत थी और हमने धीरे-धीरे इसे तैयार किया। पुजी ने दोहरा शतक लगाया और मैंने सौ बनाए, मेरे अब तक लगाए शतकों में से ये सबसे बेहतरीन पारी रही। जब मैं बल्लेबाजी के लिए आया तब पुजी ने कहा कि हमें लंबी साझेदारी बनाने पर जोर देना है, एक बार में 10-15 रन लेने की कोशिश करो। मैंने ऐसा ही करने का प्रयास किया।’’

SHOW COMMENTS