मिचेल स्टार्क के चैंपियंस ट्रॉफी से पहले ठीक होने की उम्मीद

no photo
 |

Bcci

मिचेल स्टार्क के चैंपियंस ट्रॉफी से पहले ठीक होने की उम्मीद

दाएं पैर में स्ट्रेस फ्रैक्चर होने के कारण, भारतीय दौरे से जल्द ही लौटने वाले मिचेल स्टार्क को उम्मीद है कि जून में जून में इंग्लैंड में आयोजित चैंपियंस ट्रॉफी में वह भाग ले पाएंगे। ऑस्ट्रेलिया के तेज़ गेंदबाज़ ने कहा कि उनकी मौजूदा चोट उनके 18 महीने पहले की चोट से ज्यादा गंभीर नहीं है।

स्टार्क को उम्मीद है कि गुरुवार (23 मार्च) को अपने डॉक्टर से मिलकर उन्हें अपने सुधार के बारे में बेहतर जानकारी मिलेगी। "यह ठीक ठाक है, यह 18 महीने पहले लगी चोट जैसी बुरी भी नहीं है," उन्होंने फॉक्स स्पोर्ट्स से कहा।"

"मैंने पिछली बार तीसरा मेटाटारसल कराया था, यह चौथा है। यह बड़ा फ्रैक्चर है लेकिन चुकी डिस्प्लेस नहीं हुआ, तो सौभाग्यवश मुझे बूट नहीं पहनना होगा। मैं अब भी जिम जाता हूँ, और वापसी करने की उम्मीद में हूँ। गुरुवार को डॉक्टर से मिलकर मुझे इसके बारे में जानकारी मिलेगी, तब शायद बातें स्पष्ट होंगी। लेकिन मैं चैंपियंस ट्रॉफी में यकीनन भाग लूँगा।"

रांची में हुए तीसरे टेस्ट के ड्रा होने पर स्टार्क ने अपनी टीम की तारीफ की। "इससे पता चलता है, कि हम टीम के तौर पर कैसा खेल रहे हैं और भारतीय टीम काफी मुश्किल टीम है, उनसे बचाव करने की ज़रुरत होती है।

"पहले टेस्ट मैच हम जीते, हम चुनौती के लिए तैयार थे, विरोधी डरे हुए थे कि कहीं हम उन्हें उन्ही के देश में न हरा दें। इसीलिए, उन्होंने बचाव रुख अपनाया और दूसरे टेस्ट मैच में बेहतरीन प्रदर्शन कर, शृंखला में वापसी की।

इस शृंखला में कई बड़ी चीज़ें हुई हैं, वहीं स्टार्क ने यह पाया है कि सीरीज में ऑस्ट्रेलिया के बजाय भारतीय आक्रामक ज्यादा हुए हैं। स्टार्क हालांकि, बेंगलुरु में हुए, दूसरे टेस्ट में रविचंद्रन अश्विन के हमले को नहीं भूले हैं और वह इसका जवाब भारत के ऑस्ट्रेलियाई दौरे पर देना चाहते हैं।

"मैं ऑस्ट्रेलिया में अश्विन को गेंद डालना चाहता हूँ," मैं उनकी सलाह लेकर उन्ही पर आक्रमण करूँगा। (इस बार अपशब्दों का इस्तेमाल) हमारी टीम से ज्यादा उनकी टीम ने की है। इस बारे में शृंखला के शुरू होने के पहले काफी चर्चा हुई थी। मेरे ख्याल से हमने क्रिकेट ही खेला है और ऐसा हम करते आ रहे हैं।"

SHOW COMMENTS