शायद कोहली को माफ़ी माँगनी नहीं आती, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख जेम्स सदरलैंड ने कहा

no photo
 |

Getty Images

शायद कोहली को माफ़ी माँगनी नहीं आती, क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख जेम्स सदरलैंड ने कहा

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख जेम्स सदरलैंड ने, एक रेडियो स्टेशन पर अपने इंटरव्यू के दौरान, विराट कोहली पर टिप्पणी करते हुए कहा कि उन्हें लगता है भारतीय कप्तान को माफ़ी मांगनी नहीं आती। क्योंकि उनके अनुसार कोहली को स्टीव स्मिथ की निष्ठा सवाल खड़े करने के लिए, उनसे माफ़ी मांगनी चाहिए थी।

ऑस्ट्रेलियाई विराट कोहली पर चर्चा करते नहीं थक रहे। कुछ ऑस्ट्रेलियाई अखबारों के बाद, अब क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख जेम्स सदरलैंड ने भी कोहली पर टिप्पणी की है।

ऑस्ट्रेलिया के एक रेडियो स्टेशन पर इंटरव्यू के दौरान सदरलैंड से पूछा गया था कि क्या कोहली को, बैंगलोर में हुए दूसरे टेस्ट के दौरान, स्मिथ की निष्ठा पर सवाल खड़े करने के लिए माफ़ी मांगनी चाहिए। इसके जवाब में सदरलैंड ने कहा, "देखिए, मुझे नहीं पता उन्हें माफ़ी मांगनी आती भी है या नहीं।"

कोहली ने, DRS निर्णय के लिए ड्रेसिंग रूम से मदद मांगने के लिए, स्मिथ की निष्ठा पर सवाल उठाये थे। इसके बाद, दोनों देशों के बीच काफी अनबन हो गयी थी। सदरलैंड ने कोहली द्वारा लगाए गए 'छल' के दावों को निंदनीय कहा था, और इसके बाद दोनों क्रिकेट बोर्ड ने मामले को सुलझा लिया। चल रही शृंखला में एक के बाद एक विवाद उठता रहा है और सदरलैंड को उम्मीद है कि दोनों टीमों के बीच धरमशाला में होने वाले आखिर टेस्ट के बाद, शांति ही जाएगी।    

उन्होंने कहा, "इस लम्बी शृंखला के बाद, उम्मीद करता हूँ कि दोनों टीम अपने बीच की खटास मिटा सकेंगे। मुझे पता है ये खिलाड़ी IPL में भी एक लम्बे वक़्त तक साथ खेलेंगे, इसीलिए मुझे यकीन है कि अगर धरमशाला में यह संधि नहीं हो पायी तो IPL में ज़रूर हो जाएगी।"

हालांकि कोहली इस सीरीज से पहले काफी फॉर्म में थे। लेकिन इस बार वह कुछ ख़ास नहीं कर पाए जिसके कारण उन्हें ऑस्ट्रेलियाई मीडिया से आलोचनाओं का सामना करना पड़ा। हाल ही में कहीं पर उन्हें 'खेल जगत का डोनाल्ड ट्रम्प' करार दिया गया था।

मीडिया के साथ साथ, इयन हिली और मिचेल जॉनसन जैसे पूर्व खिलाड़ियों ने भी कोहली पर निशाना साधा जिसके बाद भारतीय दिग्गज सुनील गावस्कर ने ऑस्ट्रेलियाई मीडिया को उनके देश की क्रिकेट टीम का सहायक बताया था।

तीसरे टेस्ट से पहले, गावस्कर ने NDTV से कहा था, "हमें ऑस्ट्रेलियाई मीडिया की बातों पर गौर नहीं करनी चाहिए, उनकी ख़बरों से लगता है कि अपने देश की क्रिकेट टीम के सहायक हैं। अब लोगों का ध्यान मैदान के बाहर के मुद्दों से हटकर खेल पर होना चाहिए।"

SHOW COMMENTS