राहुल द्रविड़ को बीसीसीआई और आईपीएल में से चुनना होगा कोई एक

no photo
 |

राहुल द्रविड़ को बीसीसीआई और आईपीएल में से चुनना होगा कोई एक

राहुल द्रविड़ ने भारत की अंडर-19 टीम के लिए अहम भूमिका निभाई और एक मेंटर के तौर पर वो आईपीएल की कई टीमों के साथ जुड़े। बहरहाल, बीसीसीआई के नए नियमों के मुताबिक, द्रविड़ को देश के लिए अपनी भूमिका और आईपीएल फ्रैंचाइजी के लिए अपनी सेवाओं में से किसी एक को चुनना होगा ताकि हितों में टकराव ना हो।

बीसीसीआई की कमेटी आॅफ एडमिनिस्ट्रेटर्स द्वारा जारी किए गए नए नियमों के मुताबिक आगामी सत्र से बीसीसीआई के अनुबंध की अवधि 12 महीनों की होगी। वर्तमान में, द्रविड़ जूनियर भारतीय क्रिकेट टीम के कोच के रूप में काम कर रहे हैं और इसकी अवधि 10 महीनों की है, इस वजह से वो बाकि दो महीनों में आईपीएल में शामिल हो सकते हैं जहां वो दिल्ली डेयरडेविल्स के मेंटर हैं।

संजय बांगर (बल्लेबाजी कोच), आर श्रीधर (फिल्डिंग कोच) और फिजियोथेरेपिस्ट पैट्रिक फरहर्ट इन सभी के अनुंबंध में भी यही नियम लागू होंगे। बांगर किंग्स 11 पंजाब के कोच हैं तो श्रीधर भी उसी आईपीएल टीम का हिस्सा हैं। फरहर्ट मुंबई इंडियंस के बैकरूम स्टाफ के सदस्य हैं।

सीओए ने बांगर और श्रीधर के अनुबंध को 1 करोड़ से 1.5 करोड़ करने का फैसला किया है।

बीसीसीआई के एक स्रोत ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया, ‘‘हम उन्हें (द्रविड़) उतना भुगतान करेंगे जो उन्हें आईपीएल में मिलता है। 12 महीनों तक उनकी सेवा हासिल होने से हम उनकी जिम्मेदारियों को बढ़ा सकते हैं। बीसीसीआई नहीं चाहती है कि हितों के मामले में किसी भी तरह का टकराव पैदा हो, खासतौर से तब जब सीओए बोर्ड के मामले देख रही है। नया काॅन्ट्रेक्ट सिर्फ द्रविड़ के लिए नहीं बल्कि सपोर्ट स्टाफ के लिए भी है।’’

SHOW COMMENTS