आॅस्ट्रेलिया का सामना करने के लिए कुलदीप यादव ने इस्तेमाल की थी शेन वाॅर्न की तरकीब

no photo
 |

© BCCI

आॅस्ट्रेलिया का सामना करने के लिए कुलदीप यादव ने इस्तेमाल की थी शेन वाॅर्न की तरकीब

चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने इस बात को स्वीकार किया है कि धर्मशाला में आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ अपने पदार्पण मुकाबले में 4/68 आंकड़ा हासिल करने के लिए उन्होंने आॅस्ट्रेलिया के स्पिन दिग्गज शेन वाॅर्न की सलाह अपनाई। मेहमान टीम पहली पारी में 300 रन पर ही सिमट गई।

22 वर्षीय ये युवा टेस्ट क्रिकेट में भारत का पहला चाइनामैन गेंदबाज है, जिसकी वजह से मेहमान टीम को संघर्ष करना पड़ा। उन्होंने बताया की वो शेन वाॅर्न से प्रेरणा लेते हैं और उनके वीडियो को देखकर उन्होंने काफी कुछ सीखा है।

न्यूज काॅन्फ्रेंस में कुलदीप यादव ने बताया, ‘‘अगर आप देखेंगे तो पहला विकेट मैंने चाइनामैन से हासिल नहीं किया, वो फ्लिपर था जो मैंने वाॅर्न से सीखा था। उनसे सीखना और फिर उन्हीं के देश के खिलाड़ियों को आउट करना मजेदार है। वाॅर्न मेरे आदर्श हैं और मैं उनका अनुसरण बचपन से कर रहा हूं, मैं आज भी उनके वीडियो देखता हूं।’’

‘‘उनसे मिलना और बात करना सपने के सच होने जैसा है। मैं उनकी सलाह का पालन कर रहा हूं। उन्होंने मुझसे दोबारा मिलने और मेरे साथ ट्रेनिंग सत्र में हिस्सा लेने का वादा किया है।’’

इस युवा ने अंतिम एकादश में चोटिल विराट कोहली के स्थान पर जगह बनाई है और उन्होंने चयनकर्ताओं को निराश नहीं किया है।

उन्होंने कहा, चाइनामैन काफी मुश्किल होता है क्योंकि कई गेंदबाज इसे नहीं कराते हैं लेकिन मैंने जब से क्रिकेट खेलना शुरू किया है मैं आसानी से ये करा लेता हूं। इसके लिए काफी मेहनत और ट्रेनिंग की जरूरत होती है। ये काफी हद तक लेग-स्पिनर की तरह ही होता है लेकिन सिर्फ इसमें दाएं और बाएं हाथ का फर्क होता है।’’

इस स्पिनर के खिलाफ संघर्ष करने वाले मैथ्यू वेड ने इस गेंदबाज की स्पिन और वैरिएशन की तारीफ की है।

आॅस्ट्रेलिया के विकेटकीपर-बल्लेबाज ने कहा, ‘‘उसे समझने के लिए कुछ गेंदों का समय लगा। उसने काफी अलग-अलग तरीके की गेंदे कराई, उसने काफी स्पिन और साथ ही कुछ सीम गेंदे भी डाली।’’

SHOW COMMENTS