सुधीर असनानी ने याद की वो घटना, जब उनके फैसले से भड़क गए थे धोनी

no photo
 |

सुधीर असनानी ने याद की वो घटना, जब उनके फैसले से भड़क गए थे धोनी

भारतीय अंपायर सुधीर असनानी ने उस घटना को याद किया जब उनके फैसले पर असहमत ‘कैप्टन कूल’ और पूर्व भारतीय कप्तान धोनी ने अपना आपा खो दिया था। ये घटना इस अंपायर के लिए काफी खास है क्योंकि इसमें धोनी का खेल के प्रति जज्बा और साथ ही विनम्रता दिखी और अंत में धोनी को एक नया फैन भी मिला।

भारत के सबसे सफल कप्तान रहे एमएस धोनी अपने शांत और धैर्यपूर्ण व्यवहार के लिए जाने जाते हैं। भारत के पूर्व कप्तान गंभीर मुकाबलों में भी अपने भावों को नियंत्रित करने में सफल रहे। धोनी ने कभी भी अपनी भावुकता को मैदान पर जाहिर होने नहीं दिया। शायद ही कभी उन्होंने अंपायर के फैसले पर नराजगी जाहिर की हो।

सुधीर असनानी ने उस घटना को साझा किया जब धोनी ने उनके फैसले पर नाराजगी जताई। सुधीर 10 अंतर्राष्ट्रीय एकदिवसीय मुकाबले, 4 अंतर्राष्ट्रीय टी20 और 23 आईपीएल मुकाबलों में अंपायर की भूमिका निभा चुके हैं। ये घटना इंग्लैंड और भारत के बीच हुए अंतर्राष्ट्रीय एकदिवसीय मुकाबले के दौरान हुई। ईशांत शर्मा की गेंद केविन पीटरसन के पैड से टकराई थी जिसके बाद पूरी टीम ने एलबीडब्ल्यू के लिए अपील की।

अंपायर ने कहा, ‘‘मैंने जैसे ही अपील को खरिज किया, फिल्डर मायूस हो गए।’’ धोनी उनके पास आए और इस फैसले के प्रति उन्होंने शिकायत की। ‘‘मैंने उन्हें बताया कि गेंद आॅफ स्टंप से बाहर थी।’’ धोनी असहमति के साथ ही अपने स्थान पर वापस चले गए। सुधीर ने आगे कहा ‘‘मैं उनकी असहमति से विचलित था। नर्वस होने की वजह से मुकाबले पर से मेरा ध्यान डगमगाने लगा था।’’

बहरहाल, ड्रिंक ब्रेक के दौरान फोर्थ अंपायर अनिल चौधरी आए और उन्होंने बताया कि कमेंटेटरों ने उनके फैसले की प्रशंसा की है, जिससे उन्हें दोबारा आत्मविश्वास हासिल करने में मदद मिली। वहां मौजूद धोनी भी इस बात को सुन रहे थे और वो असनानी के पास आए और कहा ‘‘वन प्लस, सुधीर।’’

असनानी कप्तान के इस शानदार व्यवहार से हैरान रह गए। उन्होंने कहा, ‘‘मैंने अपने करियर में किसी कप्तान को अंपायर के साथ ऐसा करते नहीं देखा।’’

SHOW COMMENTS