रहाणे हो गए हैं लापरवाह और गिर गया है उनका आत्मविश्वास, सौरव गांगुली ने कहा

no photo
 |

© Getty Images

रहाणे हो गए हैं लापरवाह और गिर गया है उनका आत्मविश्वास, सौरव गांगुली ने कहा

पिछले कुछ सालों से रहाणे भारत के लिए निरंतर बल्लेबाजी करने वाले खिलाड़ी रहे हैं, लेकिन न्यूजीलैंड सीरीज के बाद से उन्हें संघर्ष करना पड़ा और सौरव गांगुली ने इसकी वजह आत्मविश्वास की कमी को बताया। इंग्लैंड और आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले सात मुकाबलों में रहाणे ने सिर्फ 223 रन बनाए है।

रहाणे उन मौजूदा भारतीय बल्लेबाजों में से एक है जिन्होंने विदेश की परिस्थितियों में खुद को साबित किया। विदेशी सरजमीं पर खेले 21 टेस्ट मुकाबलों में अजिंक्य रहाणे ने 51.22 की औसत से 1588 रन बनाए हैं। बहरहाल, इसकी तुलना में घरेलू मैदान में उनका रिकाॅर्ड फीका नजर आता है। उन्होंने 16 टेस्ट मैचों में 954 रन बनाए हैं।

28 वर्षीय इस खिलाड़ी ने लंबे घरेलू सत्र की शुरूआत शानदार तरीके से की थी। न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन टेस्ट मुकाबलों में उन्होंने 347 रन स्कोर किए थे, उसके बाद से ही उन्हें अपनी फाॅर्म से जूझना पड़ रहा है। रहाणे ने इंग्लैंड के खिलाफ तीन टेस्ट में सिर्फ 63 रन बनाए तो बांग्लादेश के खिलाफ एकमात्र टेस्ट मुकाबले में उन्होंने 110 रन स्कोर किए। आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ चल रही मौजूदा सीरीज में उन्होंने 160 रन स्कोर किए हैं।

गांगुली ने इंडिया टुडे से कहा, ‘‘वह लापरवाह हो गए हैं। वह वो रहाणे नहीं है जो हम कुछ साल पहले देखते थे। लॉर्ड्स (2013) में रहाणे को वो पारी याद है, जहाँ उन्होंने सीमिंग, डेकिंग और उछाल भरी पिच पर शानदार बल्लेबाजी की थी और उस अलग ट्रैक पर भी उन्होंने अच्छी बल्लेबाजी की थी।’’

‘‘ऑस्ट्रेलिया में रहाणे का शतक भी शानदार था। वो शायद अभी मानसिक तौर पर थोड़ा भटका हुआ है। रहाणे के कद के अनुसार इंग्लैंड की सीरीज और मौजूदा सीरीज अच्छी नहीं रही हैं, जिसके कारण उनके आत्मविश्वास के स्तर में गिरावट आई है।’’

गांगुली ने अपनी बात रखते हुए कहा, ‘‘मुझे लगता है, कि यह वो रहाणे नहीं है, जिसे हम जानते हैं, लेकिन वह सर्वाइव कर रहे है, वह कड़ी मेहनत कर रहे हैं, वह प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं, लेकिन हमने एक बेहतर रहाणे को देखा है। और मुझे लगता है, कि मौजूदा सीरीज खत्म होने के बाद उन्हें आराम से बैठकर अपने आत्मविश्वास को वापस लाने का रास्ता खोजना चाहिए।’’

SHOW COMMENTS