आईपीएल 2017। राहुल तेवतिया ने पंजाब के प्लेआॅफ में जाने की उम्मीदों को रखा बरकरार

no photo
 |

BCCI

आईपीएल 2017। राहुल तेवतिया ने पंजाब के प्लेआॅफ में जाने की उम्मीदों को रखा बरकरार

राहुल तेवतिया पंजाब के प्रशंसकों के हीरो उस वक्त बने जब उन्होंने 18 रन देकर 2 विकेट निकाले और पंजाब को 14 रनों से जीत दिलाई। साथ ही प्लेआॅफ में जाने की उम्मीदों को भी जिंदा रखा। मैक्सवेल के 44 रनों की पारी की मदद से पंजाब ने 167 का स्कोर किया था। क्रिस लिन की पारी भी केकेआर की जीत पक्की नहीं कर पाई।

Brief Scores: Kings XI Punjab 167/6 (Glenn Maxwell 44, Wriddhiman Saha 38; Chris Woakes 2/20, Kuldeep Yadav 2/34) defeated Kolkata Knight Riders 153/6 (Chris Lynn 84, Sunil Narine 18; Chris Woakes 2/20, Kuldeep Yadav 2/34) by 14 runs

क्वालिफिकेशन के लिहाज से किंग्स XI पंजाब के लिए आज का मुकाबला काफी अहम है। कोलकाता नाइट राइडर्स के कप्तान गौतम गंभीर ने टाॅस जीतकर पहले पंजाब को बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। कप्तान गौतम गंभीर ने शेल्डन जैकसन के स्थान पर रोबिन उथप्पा की वापसी कराई, वहीं पीयूष चावला के स्थान पर कुलदीप यादव आए। दूसरी तरफ गुजरात लायंस के खिलाफ मिली हार से आहत पंजाब के कप्तान ग्लेन मैक्सवेल ने चार बदलाव करते हुए टीम में स्वपनिल सिंह, राहुल तेवतिया, मनन वोहरा और मैट हेनरी को शामिल किया।

वोहरा और गप्टिल की सलामी जोड़ी पर लगाया विराम

पंजाब के लिए मार्टिन गप्टिल और मनन वोहरा पारी की शुरूआत करने उतरे। इन दोनों में से वोहरा ज्यादा आक्रामक होकर खेलते दिखे। चाौथे ओवर में उन्होंने सुनील नारायण की गेंदों को लगातार बाउंड्री के लिए भेजा। इस खिलाड़ी ने अपनी मजबूत कलाईयों का इस्तेमाल करके स्कोर बढ़ाने का प्रयास किया लेकिन कोलकाता के गेंदबाजों ने पिच की सतह में तेजी की कमी का फायदा उठाना शुरू किया और पंजाब पर दबाव बनाया। अचानक पंजाब के सलामी बल्लेबाज संघर्ष करते दिखे और ऐसे मौके पर उमेश यादव की शाॅर्ट गेंद मनन वोहरा को पवैलियन भेजने के लिए काफी थी। गप्टिल भी बड़ा योगदान करने में नाकाम रहे और 12 रन पर चलते बने। पावरप्ले की समाप्ति पर टीम का स्कोर 41/2 था। नारायण को पिच से मदद मिल रही थी तो वहीं रिद्धिमान साहा के रन बनाने की गति मद्धम हो चुकी थी। अगले चार ओवर में पंजाब सिर्फ 22 रन जोड़ पाई और आधी पारी के अंत में टीम का स्कोर 63/2 था।

साहा और मैक्सवेल ने पंजाब को बचाने का किया प्रयास

साहा पर काफी दबाव था, उन्होंने सिंगल और मौका लगने पर डबल लेकर स्कोरबोर्ड को गतिमान रखा। वहीं दूसरी तरफ मैक्सवेल ने बाउंड्री लेकर राहत देने की कोशिश की, वो एक बड़ी पारी की तरफ बढ़ते नजर आ रहे थे। पिच से टर्न मिल रहा था लेकिन मैक्सवेल ने अपने कदम को मजबूती से टिकाया और स्पिन को बड़े शाॅट्स में तब्दील करना शुरू कर दिया। लगातार दो छक्का लगानेे के बाद मैक्सवेल आखिरकार 16वें ओवर में आए कुलदीप यादव की तीसरी गेंद का शिकार बने और मेजबान टीम को 127/4 के स्कोर पर छोड़कर पवैलियन लौटे। स्लाॅग ओवर में पंजाब के बल्लेबाज रनों की गति नहीं बढ़ा पाए और आखिरी चार ओवर में सिर्फ 39 रन जोड़कर कोलकाता के सामने 168 रनों का लक्ष्य रखा।

क्रिस लिन ने दिलाई केकेआर को बेहतरीन शुरूआत लेकिन तेवतिया ने कराई पंजाब की वापसी

मोहाली की अप्रत्याशित पिच पर कोलकाता को जबर्दस्त शुरूआत की जरूरत थी। क्रिस लिन और सुनील नारायण ने मिलकर बिल्कुल वैसा ही आगाज टीम को दिलाया। आॅस्ट्रेलियाई खिलाड़ी के शाॅट्स में दम नजर आ रहा था जो गेंदबाजों की खबर लेने के लिए काफी थी। पंजाब सामान्य स्कोर करके पहले ही दबाव में आ चुकी थी और लिन के प्रदर्शन ने उन्हें और चिंतित कर दिया था। नारायण ने भी पंजाब को परेशान करने का कोई मौका नहीं छोड़ा और 10 के रन-रेट से बेहतरीन शाॅट्स खेले। लेकिन अति-आक्रामक रूख की वजह से वो मोहित शर्मा की स्लोअर गेंद पर 18 के निजी स्कोर पर वापस लौट गए। अपना पहला मुकाबला खेल रहे राहुल तेवतिया ने एक ही ओवर में गौतम गंभीर और रोबिन उथप्पा का विकेट लेकर दो बार की चैंपियन टीम को मुसीबत में डाल दिया था। कोलकाता की टीम ने आधी पारी की समाप्ति पर 3 विकेट के नुकसान पर 73 रन बना लिए थे और उन्हें जीत के लिए अगले 10 ओवर में 95 रनों की दरकार थी।

पंजाब के गेंदबाजों ने कोलकाता को वापसी से रोका

मैदान पर लिन और मनीष पांडे के रूप में कोलकाता के बेहतरीन बल्लेबाज मौजूद थे और टीम के लिए जीत दर्ज करना मुश्किल भी नहीं लग रहा था। लेकिन अक्षर पटेल, तेवतिया और स्वपनिल सिंह ने सही लाइन और लेंथ पर गेंदबाजी करके विपक्षी टीम को मुकाबले में वापस आने का कोई मौका ही नहीं दिया। पारी खत्म होने में 3 ओवर शेष थे और जरूरी रन रेट 12 से उपर चला गया था। क्रिस लिन 84 का स्कोर करके रन-आउट हुए। कोलकाता की बची हुई उम्मीदों को पंजाब के गेंदबाजों ने पूरी तरह से ध्वस्त करते हुए मेजबान टीम को 14 रनों से जीत दिलाई और इसके साथ ही प्लेआॅफ में जाने की उम्मीदों को भी बरकरार रखा।

SHOW COMMENTS