आईपीएल 2017। रोहित शर्मा के मुताबिक हैदराबाद के हाथों मिली हार ने मुंबई की आंखे खोल दी

no photo
 |

Getty images

आईपीएल 2017। रोहित शर्मा के मुताबिक हैदराबाद के हाथों मिली हार ने मुंबई की आंखे खोल दी

पहले ही प्लेआॅफ में जगह बना चुकी मुंबई इंडियन्स की टीम पर पिछले मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद से मिली हार का असर नहीं होगा। बहरहाल, कप्तान रोहित शर्मा ने कहा कि ये हार टीम की आंखे खोल देती है। उन्हें छोटी-छोटी बातों पर ध्यान रखना होगा जिनकी मदद से वे टूर्नामेंट में आगे बढ़ रहे हैं।

मुंबई इंडियन्स ने इस सत्र में शानदार प्रदर्शन किया और आमतौर पर लक्ष्य का पीछा करके जीत दर्ज की। उन्होंने बदलाव करते हुए गत विजेता सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। उनका ये कदम उन पर ही भारी पड़ गया और उनकी टीम 20 ओवर में सिर्फ 138 रन ही बना सकी और वो ये मुकाबला सात विकेट से हार गए।

प्रेस काॅन्फ्रेंस में उन्होंने कहा, ‘‘आज हम पहले बल्लेबाजी करके कुछ अलग करना चाहते थे और इसका नतीजा सही नहीं रहा। बाद में बल्लेबाजी करना आसान रहता है लेकिन 138 का स्कोर काफी कम था। अगर आप विकेट नहीं निकालते हैं तो ये आपके लिए हमेशा मुश्किल रहता है। ये हमारी आंखे खोलने के लिए था कि जब हम पहले बल्लेबाजी कर रहे हैं तो हमें क्या करना चाहिए, पहले छह ओवर में क्या कदम उठाने चाहिए और इसी तरह की छोटी-छोटी बातें हमें ध्यान रखनी होगी।’’

‘‘हमें पहले बल्लेबाजी करने के लिए कहा जा सकता है, ये हर बार हमारे हक में नहीं होगा इसलिए हमें इस हार से काफी कुछ सीखने की जरूरत है।’’

रोहित ने इस बात को भी माना कि उन्होंने स्कोरबोर्ड पर ज्यादा रन नहीं जोड़े थे। उन्होंने कहा, ‘‘हम जानते थे कि विकेट आसान नहीं है लेकिन हम अच्छे स्कोर के आसपास भी नहीं थे। सनराइजर्स ने अच्छी गेंदबाजी की और हमें रनों से दूर रखा।’’

वहीं दूसरी तरफ डेविड वाॅर्नर इस जीत से काफी खुश हैं। उनकी योजना के अनुरूप सभी काम हुए। गेंदबाजों ने अच्छा प्रदर्शन करके मुंबई को आसान से स्कोर पर रोका और फिर शिखर धवन ने 62 रनों की मैच जिताउ पारी खेली।

वाॅर्नर ने कहा, ‘‘इसका श्रेय गेंदबाजों को जाता है, जिन्होंने बेहतरीन काम किया और हमें जीत के लिए एक छोटा लक्ष्य दिया। बल्लेबाजी में मैंने शीर्ष चार में से एक खिलाड़ी को पारी के अंत तक रहने के लिए कहा और उन्होंने ऐसा ही किया। मुंबई के शीर्ष क्रम में बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं, बाउंड्री लंबी है और हवा चल रही थी और इसलिए मैंने नबी को गेंद सौंपी और यह दांव चल गया। हम अब हर मैच को नाकआउट की तरह ले रहे हैं।’’

धवन को उनके प्रयास के लिए मैन आॅफ द मैच चुना गया। बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने कहा, ‘‘ये एक अहम मुकाबला था। योजना ये थी कि मुझे मैदान पर ज्यादा से ज्यादा वक्त के लिए रूकना था। मोईसेस ने भी अच्छी पारी खेली। मैं अच्छा महसूस कर रहा था। मेरे पास जब कुछ महीने थे तब मैं अपनी निरंतरता पर काम कर रहा था। मैंने इसके लिए जितनी मेहनत की, अब उसका नतीजा सामने आ रहा है। इसलिए मैं बहुत खुश हूं।’’

SHOW COMMENTS