माइकल क्लार्क एमएस धोनी को चैंपियंस ट्रॉफी के लिए भारतीय टीम का अहम हिस्सा मानते हैं

no photo
 |

BCCI

माइकल क्लार्क एमएस धोनी को चैंपियंस ट्रॉफी के लिए भारतीय टीम का अहम हिस्सा मानते हैं

माइकल क्लार्क ने इंग्लैंड में होने वाले ICC चैंपियंस ट्रॉफी के लिए भारतीय टीम में एमएस धोनी को शामिल करने के फैसले की सराहना की। ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने कहा कि धोनी का शानदार प्रदर्शन ही पहले प्लेऑफ मुकाबले में मुंबई इंडियन्स के खिलाफ अहम साबित हुआ।

धोनी के औसतन प्रदर्शन के बाद भी उन्हें टीम में शामिल करने को लेकर जहां हर तरफ सवाल खड़े हो रहे हैं, वहीं माइकल क्लार्क ने पूर्व भारतीय कप्तान के पक्ष में अपनी राय रखी है। 36 वर्षीय ने कहा कि धोनी टीम में शामिल होने के योग्य हैं और वह भारत के सबसे अच्छे विकेटकीपर हैं।

"मेरे ख्याल से वह पहले जितने ही अच्छे हैं। मैंने IPL के दौरान भी ये कहा है और चैंपियंस ट्रॉफी के लिए भी मेरा यही मानना है, भारत ने उन्हें टीम में रखकर एक अच्छा निर्णय लिया है," क्लार्क ने इंडिया टुडे से कहा।

"उन्हें टीम में शामिल होने का हक है। वह देश के सबसे अच्छे विकेट कीपर हैं। उनकी बल्लेबाजी भी अच्छी है। IPL में समय समय पर उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया है और मुझे यकीन है वह चैंपियंस ट्रॉफी में भी अच्छा खेलेंगे।"

"मैं देखना चाहूँगा कि विराट उन्हें किस पोजीशन पर मैदान में उतारते हैं। मैं उन्हें टी20 में चौथे स्थान पर उतारना चाहूँगा। और ODI में एंड्रू सायमंड्स जैसे खिलाड़ी के साथ पांचवे स्थान पर। उनका अनुभव और उनकी प्रतिभा भारत के लिए अहम साबित होगा।"

मुंबई के खिलाफ पहले क्वालीफ़ायर में, दो ओवर के बाकी रहते हुए राइजिंग पुणे सुपरजायंट का स्कोर 121/ 3 का था। धोनी ने एक बेहतरीन पारी खेलते हुए इस स्कोर में और 26 रन जोड़े - जिनमें 24 बाउंड्री से प्राप्त हुए थे। उनके इस योगदान से पुणे का स्कोर 162/4 पर पहुंचा और मुंबई इस लक्ष्य को पूरा नहीं कर सकी।

"इससे खेल ही बदल गया। 160 रन के बाद, टीम का आत्मविश्वास बढ़ गया। पुणे की टीम में जोश आ गया था। पिच ही ऐसी थी कि बल्लेबाजों को जमने में समय लग रहा था और धोनी को भी लगा लेकिन उन्हें मालूम था कि वह बड़ा बदलाव ला सकते हैं," क्लार्क ने कहा।

"उनकी विकेटकीपिंग पर भी काफी कम चर्चा हुई है। यह उनका अहम कार्य है और वह इसमें कुशल भी हैं। वहीं वह ऐसे बल्लेबाज़ हैं जिनपर भरोसा किया जा सकता है और मंगलवार को उन्होंने यह सिद्ध कर दिया। एमएस तब प्रदर्शन करते हैं जब टीम को उनकी ज़रुरत होती है, और यह हर बेहतरीन खिलाड़ी की फितरत होती है। वह उन गिने चुने खिलाड़ियों में से हर जो हर बार मुसीबत के वक़्त अपनी टीम को बचाते हैं। मंगलवार के मुकाबले में वही हुआ।"

SHOW COMMENTS