आईपीएल 2017। गेंदबाजों की बदौलत मुंबई ने रिकाॅर्ड तीसरी बार जीता आईपीएल खिताब

no photo
 |

BCCI

आईपीएल 2017। गेंदबाजों की बदौलत मुंबई ने रिकाॅर्ड तीसरी बार जीता आईपीएल खिताब

मुंबई इंडियन्स के गेंदबाजों ने धैर्य कायम रखते हुए राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स को 1 रन से मात दी और टीम को रिकाॅर्ड तीसरी बार आईपीएल का खिताब दिलवाया। इससे पहले पुणे के गेंदबाजों ने मुंबई को महज 129 रनों पर रोक दिया था लेकिन पुणे पर जीत कायम करने के लिए ये स्कोर भी काफी रहा।

Brief Scores: Mumbai Indians 129/8 (Krunal Pandya 47; Rohit Sharma 24; Jaydev Unadkat 2/19, Adam Zampa 2/32) XXX Rising Pune Supergiant XXX/X (Ajinkya Rahane 44, Steve Smith 51; Mitchell Johnson 3/, Jasprit Bumrah 2/26) by 1 run. 

मुंबई इंडियन्स को परफेक्ट शुरूआत दिलाने के मकसद से रोहित शर्मा ने टाॅस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया, इस बात को जानते हुए की फाइनल में पहले बल्लेबाजी करते हुए नौ में से छह मौकों पर टीम को जीत मिली है। कोलकाता के खिलाफ उतारी मुंबई टीम को आज के मुकाबले के लिए बरकरार रखा, वहीं पुणे ने भी पहले क्वालिफायर में मुंबई को हराने वाली टीम में कोई फेरबदल नहीं किया।

उनादकट की मदद से पुणे ने बनाई पकड़

पर्पल कैप का पीछा कर रहे जयदेव उनादकट ने ये सुनिश्चित किया कि उनकी टीम को अच्छी शुरूआत मिले। पहले ओवर में सिर्फ 3 रन देने के बाद अपने दूसरे ओवर की पहली गेंद में उन्होंने खतरनाक पार्थिव पटेल को चलता किया। तीन गेंदों के बाद 25 वर्षीय इस खिलाड़ी ने अपनी ही गेंद पर लेंडल सिमन्स का बेहतरीन कैच लपक कर उन्हें पवैलियन भेजा। तीन ओवर के बाद मुंबई की टीम 9/2 के स्कोर पर संघर्ष कर रही थी, तब रोहित शर्मा और अंबाती रायडू ने साझेदारी तैयार करने का फैसला किया। उन्होंने लोकी फग्र्युसन को निशाना बनाया और उसके ओवर में बाउंड्री हासिल की। पावरप्ले की समाप्ति पर टीम का स्कोर 32/2 पहुंचा। स्टीव स्मिथ ने बेहतरीन डायरेक्ट हिट के जरिए रायडू को आउट किया लेकिन मुंबई की टीम आधी पारी की समाप्ति पर किसी तरह 56/3 के स्कोर पर पहुंच पाई।

कृणाल की साहसिक पारी से मुंबई पहुंचा सम्मानजनक स्कोर पर

जब मुंबई अपनी पारी की गति को बढ़ाने के बारे में सोच रही थी तभी एडम जम्पा ने आकर उनकी योजना को असफल बनाते हुए 11वें ओवर में रोहित और किरोन पोलार्ड का विकेट निकाल लिया। मैदान पर अपने भाई का साथ देने के लिए हार्दिक पांड्या आए लेकिन वो भी बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे। पारी में 6 ओवर शेष थे और मुंबई 79/6 के स्कोर पर थी। अगले ही ओवर की पहली गेंद पर कर्ण शर्मा भी चलते बने और मुंबई अगले तीन ओवर में सिर्फ 13 रन जोड़ पाई। बहरहाल कृणाल ने 47 रनों की पारी खेली। उन्होंने आखिरी 18 गेंदों में मिचेल जाॅनसन के साथ मिलकर 37 रन जोड़े और 20 ओवर के बाद टीम का स्कोर 129/8 पहुंचाया।

त्रिपाठी के विकेट के बाद स्मिथ और रहाणे ने संभाली पारी

पुणे की टीम के पास बढ़त हासिल थी लेकिन आईपीएल ट्राॅफी के दबाव के कारण राहुल त्रिपाठी अपना विकेट गंवा बैठे। वो बुमराह की गेंद का शिकार बने जब टीम महज 17 के स्कोर पर थी। मुंबई को तुरंत ही एक और सफलता हासिल हो सकती थी लेकिन कृणाल ने बेहद आसान-सा कैच गंवाते हुए अजिंक्य रहाणे को जीवनदान दे दिया। पावरप्ले की समाप्ति पर पुणे का स्कोर 38 रन था लेकिन मुकाबले में उनका नियंत्रण नजर आ रहा था। मुंबई को पहली पारी में लड़खड़ाता देखने के बाद रहाणे और स्मिथ ने किसी भी तरह के रिस्क से दूर रहना ही ठीक समझा। अगले 60 गेंदों में पुणे को पहली बार आईपीएल ट्राॅफी जीतने के लिए 72 रनों की जरूरत थी।

जाॅनसन और बुमराह ने दिलाई मुंबई को रोमांचक जीत

अगले दो ओवर में दोनों खिलाड़ियों ने बाउंड्री लेकर पुणे को लय देने का प्रयास किया। लेकिन जाॅनसन की स्लोअर गेंद का रहाणे शिकार बन गए। रहाणे के विकेट के बाद पुणे की टीम मुकाबले में पहली बार दबाव में नजर आई। अगले तीन ओवर में टीम सिर्फ 12 रन जोड़ सकी। 16वें ओवर में जरूर उन्होंने 14 रन बटोरे लेकिन अगले ओवर में बुमराह ने महज 3 रन दिए और एमएस धोनी का अहम विकेट हासिल किया, जरूरी रन-रेट दोहरे अंकों में जा चुका था। मगर स्मिथ रूके नहीं और उन्होंने अपना अर्धशतक पूरा किया। टीम को जीत के लिए छह गेंदों में 11 रनों की जरूरत थी। जाॅनसन की पहली गेंद पर मनोज तिवारी ने बाउंड्री हासिल की। ऐसा लग रहा था कि मुंबई का प्रयास व्यर्थ जाने वाला है। लेकिन जाॅनसन ने टीम की वापसी कराते हुए लगातार गेंदों पर तिवारी और स्मिथ का विकेट निकाला। मुकाबले का अंत पुणे के हक में नहीं रहा और मुंबई को इस रोमांचक मुकाबले में 1 रन से जीत मिली। 

तीन बार खिताब जीतने वाली मुंबई की टीम आईपीएल के इतिहास में सबसे सफल टीम बन गई है। इसके बाद चेन्नई सुपरकिंग्स और कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम है जिन्होंने ये ट्राॅफी दो बार जीती है।

Jason Holder or Bhuvneshwar Kumar? Who will take more wickets?

Since start of 2014, Holder has taken 59 wickets at an avg of 34 while Kumar has taken just 38 wickets at an avg of 43. Kumar picked 3 wickets last time he played vs WI at this ground.

Win cash daily by just predicting the right result of matches. Click here to download the game on Android for FREE! To know more, visit Nostragamus.in

SHOW COMMENTS