ISL 2016 | एटलेटिको डी कोलकाता इतिहास को दोहराकर फिर बना चैंपियन

no photo
 |

© ISL

ISL 2016 | एटलेटिको डी कोलकाता इतिहास को दोहराकर फिर बना चैंपियन

आईएसएल में इतिहास एक बार फिर दोहराया गया जब कोची में हुए फाइनल मुकाबले में एटलेटिको डी कोलकाता ने केरला ब्लास्टर्स को निर्धारित और अतिरिक्त समय में खेल 1-1 से बराबर रहने के बाद 4-3 से पेनल्टी शूट-आउट में हराकर ख़िताब जीत लिया। रफ़ी ने केरला के लिए खाता खोला जिसे सेरेनो ने कोलकाता के लिए बराबर कर दिया।

एटलेटिको डी कोलकाता ने 2014 में हुई पहली आईएसएल प्रतियोगिता में अंतिम क्षणों में गोल कर केरला ब्लास्टर्स को हराकर खिताब जीता था और दो वर्ष पश्चात उन्होंने फिर से केरला ब्लास्टर्स को उनके घरेलु मैदान में मात देकर तीन वर्षों में दूसरा आईएसएल ख़िताब अपने नाम कर लिया.

जब ईएन ह्यूम पहली पेनल्टी पर गोल करने में असफल रहे तो ऐसा प्रतीत हुआ कि इस बार कोलकाता ख़िताब से चूक जायेगा परन्तु कोलकाता कि ओर से समीघ डौतिए, बोर्या फर्नान्डेज़, जेविएर लारा और ज्वेल राजा ने अगली चार पेनल्टी पर गोल कर के उनकी उम्मीद कायम रखी.

केरला ब्लास्टर्स की ओर से एंटोनियो जर्मन, केरवेंस बेल्फोर्ट और मोहम्मद रफ़ी ने पेनल्टी पर गोल किये जबकि अल हाजी एन्डोये ने पेनल्टी गोल से बाहर मारी और कप्तान सेड्रिक हेंगबार्ट की पेनल्टी को गोलकीपर देबजीत मजूमदार ने पैरों से रोक लिया.

निर्धारित समय समाप्त होने तक दोनो टीमें 1-1 से बराबरी जिसमें दोनो गोल पहले हाफ में हुए थे. मोहम्मद रफ़ी केरला को खेल के 37वें मिनट गोल कर के बढ़त दिला दी जिसके जवाब में कोलकाता की ओर से हेनरिके सेरेनो ने 44वें मिनट गोल कर बरबरी दिला दी.

फाइनल मुकाबले में दोनो ही टीमों ने पहले हाफ में आक्रामक खेल दिखाया जिसमें दोनो ही टीमों को बढ़त बनाने के कई मौके मिले.

केरला ब्लास्टर्स को पहला मौका 10वें मिनट में मिला जब हेल्डर पोस्तीगा से गेंद छूट गयी और केरवेंस बेल्फोर्ट को पलटवार करना का मौका मिल गया. उन्होंने गेंद पर नियंत्रण कर रफ़ी को पास दिया जिन्होंने गेंद को गोल में मारने का प्रयास किया परन्तु  रक्षापंक्ति के खिलाड़ी ने फिसलते हुए रफ़ी के शॉट को रोक कर गोल का बचाव किया.

हालांकि 37वें मिनट में वो रफ़ी को नहीं रोक पाए जब रफ़ी ने उछलते हुए गोल कर केरला ब्लास्टर्स को बढ़त दिला दी. केरला के गोल का मुख्य कारण कोलकाता का खराब बचाव बचाव था परन्तु रफ़ी ने एक बढ़िया उछाल लेकर मेहताब हुसैन द्वारा लिए गए कार्नर को गोलकीपर देबजीत मजूमदार के पास से गोल में पहुँचाया.

केरला को झटका तब लगा जब उनके एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी आरोन ह्यूस को चोट के कारण बहार जाना पड़ा नूर इसका प्रभाव उनकी रक्षापंक्ति पर नज़र आ रहा था. 44वें मं मिनट में उनकी कमी अधिक खली जब एटलेटिको डी कोलकाता ने समीघ डौतिए के कार्नर पर हेनरीके सेरेनो के माध्यम से गोल कर बराबरी करते हुए मुकाबले में वापसी की.

दूसरे हाफ में दोनो ही टीमों ने ध्यानपूर्वक खेलते हुए अधिक खिलाड़ियों को आगे नहीं भेजा जिसके परिणामस्वरूप गोल करने के अधिक अवसर नहीं बने.

केरला ब्लास्टर्स के कोच स्टीव कोपल ने मैच पर अपनी पकड़ बनाने के उद्देश्य से मोहम्मद रफीक को मैदान पर उतारा. परन्तु रफीक, जिन्होनें दो वर्ष पहले हुए आईएसएल के फाइनल में कोलकाता के लिए अंतिम क्षणों में गोल किया था, को गोल करने का कोई अवसर नहीं मिला और मैच 30 मिनट के अतिरिक्त समय में चला गया.

दोनों ही टीमें अतरिक्त समय में भी गोल करने में असफल रहीं जिसके फलस्वरूप मुकाबले का फैस पेनल्टी शूट-आउट पर चला गया जहाँ एटलेटिको डी कोलकाता ने बाज़ी मार ली.

Otamendi or Adam Smith? Who will make more tackles?

Presenting Nostragamus, the first ever prediction game that covers all sports, inlcuding Football. Play the Premier League challenge and win cash prizes daily.

Download the app for FREE and get Rs.20 joining BONUS. Join 30,000 other users who win cash by playing NostraGamus. Click here to download the app for FREE on android!

SHOW COMMENTS
!-- advertising -->