आईएसएल 2016 का आगाज़ ,जाने टीम और खिलाड़ियो की स्थिति

no photo
 |

© ISL Media

आईएसएल 2016 का आगाज़ ,जाने टीम और खिलाड़ियो की स्थिति

इंडियन सुपर लीग एक बार फिर अपनी सारी चकाचौंध के साथ तीसरी बार आयोजित होने जा रहा है। एआईएफएफ ने भारतीय फुटबाॅल में आईएसएल को ऊंचा दर्जा दिया है जिस वजह से इस लीग की अहमियत और भी बढ़ गई है। यहां वो सब कुछ है जो आपको आईएसएल 2016 के बारे में जानना चाहिए।

पिछले सीजन के विवादास्पद फाइनल में एफसी गोवा को हराकर जीता चेन्नइयन इस बार अपने ताज को बचाने उतरेगा लेकिन दूसरी टीमें भी यहां पूरी तैयारी के साथ आई हैं। ऐसे में मार्को मेटेराज़ी और उनके खिलाड़ियों के लिए ये सफर आसान नहीं होगा।

मेनेजर और मार्की खिलाडी

 © SportsCafe

एटलेटिको डि कोलकाता

 © Indian Super League

पहले सीज़न के चैंपियंस के लिए नए मैनेजर और नए स्टेडियम के साथ ये एक नई शुरूआत होगी। एंटोनिओ हाबस इस टीम का साथ छोड़ कर दूसरी टीम के साथ जुड़ चुके हैं, वहीं भारत में होने वाले अंडर-17 वल्र्ड कप के कारण साल्ट लेक स्टेडियम टीम के लिए उपलब्ध नहीं है। 68,000 की क्षमता वाले साल्ट लेक स्टेडियम के बजाय टीम अपने घरेलू मुकाबले 22,000 क्षमता वाले रबिन्द्र सरोबर स्टेडियम में खेलेगी।

पूर्व एटलिटको मैड्रिड और डिपोर्टिवो ला कोरूना के गोलकीपर जोस फ्रंसिस्को मोलिना को टीम की कमान सौंपी गई है। मैनेजर के तौर पर उनके क्लब से जुड़ने पर हो सकता है कि एटलेटिको डि कोलकाता के खेलने के तरीके में भी कई बदलाव देखने को मिल सकेंगे।

पिछले सत्र के लीग दौर में कोलकाता ने अपने लिए दूसरा स्थान सुरक्षित रखा लेकिन सेमीफाइनल मुकाबले में सत्र की विजेता टीम चेन्नइयन एफसी के हाथों हार झेलनी पड़ी। इस टीम ने अपने स्टार खिलाड़ी हेल्डर पोस्टिगा पर लगे प्रतिबंध के बावजूद दमदार खेल दिखाया था। उम्मीद है कि पुर्तगाल के इस स्ट्राइकर ने अपना खेल जहां छोड़ा था वहीं से वो अपनी शुरूआत करेंगे। अपने आखिरी मैच में हेल्डर ने दो गोल दागे साथ ही उन्होंने इयेन ह्यूम के साथ मिलकर वो लीग के सबसे खतरनाक अटैकिंग जोड़ी बनी थी।

क्लब ने पिछले सीज़न में जुड़े विदेशी खिलाड़ियों को टीम में बनाए रखा है जिसमें सेमीग डूती का नाम शामिल है। वहीं स्काॅटलैंड के पूर्व इंटरनेशनल खिलाड़ी स्टीफन पियर्सन और बिक्रमजीत सिंह मिडफील्ड को मजबूती देने के लिए टीम में मौजूद हैं। इन खिलाड़ियों से उम्मीद है की ये एक बार फिर टीम को नाॅकआउट स्टेज तक लेकर जाएंगे।

टीम का संभावित स्थान- सेमीफाइनल

चेन्नइयन एफसी

 © Getty Images

चेन्नइयन एफसी के पहले आईएसएल टाइटल जीतते ही स्टीवन मेंडोजा को हीरो आॅफ द लीग और गोल्डन बूट का खिताब मिला। लेकिन इस बार इस कोलंबियन फाॅरवर्ड खिलाड़ी ने न्यूयाॅर्क सिटी के एमएसएस क्लब के साथ करार के कारण इस चेन्नइयन क्लब को छोड़ दिया है। इस ज़ख़्म को और बढ़ाने का काम किया ब्राजील के खिलाड़ी एलानो ने, जो अपने शुरूआती क्लब सेंटोस के पास एक बार फिर चले गए। 2014 से शुरू हुए आईएसएस में चेन्नइयन के 59 गोल में से 29 गोल इन दोनों खिलाड़ियों के नाम है। ऐसे में टीम और मार्को मेटेराजी दोनों के लिए ही इन खिलाड़ियों को विस्थापित करना किसी चुनौती से कम नहीं है।

शुक्र है की चेन्नइयन के पास एलानो की कमी को पूरा करने के लिए राफेल अगस्टो जैसा खिलाड़ी मौजूद है। ये ब्राजीली खिलाड़ी टीम का नियमित हिस्सा नहीं था लेकिन एलानो के टीम से जाने के बाद चेन्नइयन के अटैक को मजबूती देने के लिए राफेल से उम्मीदें हैं। मेंडोजा की जगह किसी और खिलाड़ी को लाना वाकई एक मुश्किल काम है। ऐसे में इटली के फाॅरवर्ड खिलाड़ी डविडे सची पर वो भरोसा दिखा सकते हैं। मेंडोजा की तरह ही प्रायः डविडे भी अविश्वसनीय गोल करते हैं और यहां टीम के लिए गोल करने की जिम्मेदारी निभाने में अगस्टो उनका साथ देंगे। जाॅन आर्न रियास के टीम में आने से संभवतः एलानो को याद ना किया जाए पर ये देखना दिलचस्प होगा कि मेटेराजी उन्हें मिडफील्ड में खिलाते हैं या नहीं।

हालांकि इस बार ये टीम अपने खिताब को बचाने के लिए जूझती नजर आ सकती है। इस बार अगर ये टीम सेमीफाइनल में जगह नहीं बना पाई तो हैरानी नहीं होगी क्योंकि दूसरी टीमें भी मजबूती के साथ मैदान पर उतरने के लिए तैयार है।

टीम का संभावित स्थान- पांचवा स्थान

मुंबई सिटी एफसी

 © Getty Images

शुरूआती दो सीजन में मुंबई की टीम ने अपने प्रदर्शन से अब तक सबको निराश किया है। रणबीर कपूर और बिमल पारेख की इस टीम में कई बड़े नाम है लेकिन इसके बावजूद ये मैदान पर धोखा दे जाती है। मैदान से बाहर के मुद्दे, ड्रेसिंग रूम के झगड़े, गैर-जिम्मेदार मैनेजर और खिलाड़ी- ये सब किसी डेली सोप से कम नहीं लगते।

पिछले सत्र में निकोलस अनलका ने प्रेस काॅन्फ्रेंस से इतनी सुर्खियां बटोरी जितनी मैदान में उनकी टीम ने भी नहीं बटोरी थी। अनलका के स्थान पर आने वाले एलेक्जेंडर गिमरिस के पास टीम का प्रबंधन करने का अनुभव उनसे कहीं ज्यादा है। पिछले 22 साल से मैनेजर की भूमिका निभा रहे गिमरिस ही वो शख्स है जो मुंबई की संभावनाओं को लीग में बनाए रख सकते हैं।

जेकीचंद सिंह, प्राॅणय हल्दर और अमरिंदर सिंह को टीम में शामिल करके मुंबई क्लब को मजबूत बनाया गया है। वहीं पूर्व मेनचेस्टर यूनाईटेड के स्ट्राइकर डिएगो फोरलान के आगमन ने सबका ध्यान अपनी ओर खींचा है। सुनील छेत्री के साथ उनकी जोड़ी लीग में एक बेहतरीन साझेदारी का प्रमाण होगी।

मुंबई अब एक ऐसी टीम है जिसमें लीग को जीतने की क्षमता है। ये एक बड़ा उलटफेर करने का माद्दा रखती है।

टीम का संभावित स्थान- सेमीफाइनल

एफसी पुणे सिटी

 © ISL Website

इस सीजन के शुरू होने से पहले ही पुणे की टीम मुसीबतों से घिरी नजर आ रही है। उनके स्टार खिलाड़ी आइडर गुडजाॅनसेन टखने में लगी चोट के कारण टीम से बाहर हो चुके हैं वहीं मिडफील्डर आंद्रे बाइकी बाईं जांघ की चोट के कारण क्लब का हिस्सा नहीं है। अब भी गुडजाॅनसेन के स्थान पर आने वाले खिलाड़ी के नाम का ऐलान करना बाकी है। लीग लगभग शुरू होने की कगार पर है और पुणे के लिए इस जगह को पूरा करना चिंता का सबब बना हुआ है।

उनके नए मैनेजर एंटोनिओ लोपेज हाबस ने कोलकाता को दोनों ही बार नाॅकआउट स्टेज तक पहुंचाया। उसके साथ ही आईएसएल के पहले सीजन का विजेता बनवाया। लेकिन एंटोनिओ के लिए अपने इस बेहतरीन रिकाॅर्ड को पुणे के साथ बनाए रख पाना एक मुश्किल काम होगा। पहले दो सीजन में क्रमशः छटे और सातवें पायदान पर रहने वाली पुणे की टीम शायद इस बार भी कुछ खास ना कर पाए।

टीम का संभावित स्थान- आठवां स्थान

एफसी गोवा

 © FC Goa media

इस बार गोवा ने अपनी टीम के साथ सबसे कम बदलाव किए हैं। उन्होंने उसी टीम को बरकरार रखा है जो पिछले सीजन के रोमांचकारी फाइनल मुकाबले में चेन्नइयन से हारी थी, साथ ही अपने फुर्तीले मैनेजर ज़ीको को भी टीम के साथ जोड़े रखा है। एक बार फिर लूसियो, जाॅफर, रोमियो फर्नांडिस और मंदर राव देसाई ने मिलकर टीम की रीढ़ बनकर काम किया है। वहीं भारत के इंटरनेशनल खिलाड़ी राॅबिन सिंह के आगमन ने टीम की मजबूती बढ़ाई।

दिल्ली डायनामोज के पूर्व फाॅरवर्ड खिलाड़ी ने हाल ही में अपने चोट के कारण काफी मुश्किलों का समाना किया है और वो अपने आप को एक बार फिर साबित करने के लिए काफी उत्सुक है। भारतीय खिलाड़ियों के खेल की गुणवत्ता में सुधार डेंज़िल फ्रांको और सुभासीश राॅय चैधरी के जुड़ने से होगा और साथ ही उनसे वैसे ही प्रदर्शन की उम्मीद की जाएगी जैसा उन्होंने पिछले दोनों सीज़न के दौरान किया।

टीम का संभावित स्थान- सेमीफाइनल

डेल्ही डायनामोज

 © Getty Images

पिछले सीजन में सेमीफाइनलिस्ट रही डेल्ही डायनामोज इस सत्र में भी अपने पूरे दमखम के साथ उतरने की कोशिश करेगी। रोबर्टो कार्लोस के बदले विश्व-कप विजेता जिआनलुका ज़ेमब्रोटा को टीम के पतवार के रूप में लाया गया है लेकिन कार्लोस के सामने इस इटालियन मैनेजर के पास अनुभव की कमी है। स्विस क्लब चिआज़ो के साथ उनका समय कुछ ज्यादा अच्छा नहीं था और ये कार्यकाल इस युवा प्रबंधक के करियर को बना भी सकती है और बिगाड़ भी सकती है।

पहले सीजन में एक अंक से सेमीफाइनल से चूकने वाली ये टीम पिछली बार सेमीफाइनल में जगह बनाने में कामयाब रही थी। टीम में कुछ महत्वपूर्ण बदलावों के साथ ही ज़ेमब्रोटा ने ये साफ कर दिया है कि एक बार फिर वो खिताब के लिए पुरजोर कोशिश करेंगे। रियाल मैड्रिड के दो पूर्व खिलाड़ी भी इस दल से जुड़े हैं। डिफेंडर रूबेन रोका डिफेंस को मजबूती देंगे। वहीं मार्कोस टेबर, फलोरेंट मेलोडा के साथ मिलकर मिडफील्ड में अपना रंग जमाएंगे। मोहन बागान के 24 साल के मिडफील्डर कीन लुईस भी टीम की चमक को बढ़ाते नजर आएंगे।

हालांकि दूसरी टीमों की रणनीति के सामने ज़ेमब्रोटा का कम अनुभव उनकी टीम के लिए बाधा बन सकता है। इसके साथ ही पिछले सीजन के अटैक, मिडफील्ड और डिफेंस के तीन अहम खिलाड़ी क्रमशः रोबिन सिंह, अनवर अली और हंस मूल्दर का दल से बाहर हो जाना टीम के लिए सबसे बड़ा झटका है। इस बार उनका सेमीफाइनल में पहुंचना असंभव-सा नजर आता है।

टीम का संभावित स्थान- छठा स्थान

नाॅर्थईस्ट यूनाईटेड

 © Mohun Bagan Facebook

पहले सीजन के आखिरी पायदान पर रहकर निराशाजनक शुरूआत करने वाली नाॅर्थईस्ट यूनाईटेड ने पिछले सत्र में काफी सुधार करते हुए केवल दो अंकों से सेमीफाइनल की जगह अपने हाथों से गंवाई। हालांकि इस बार गुवाहाटी की इस टीम की शुरूआत अच्छी नहीं रही। दो महीने पहले ही आए मैनेजर सर्जिओ फेरियस ने टीम का साथ छोड़ दिया और वो अनौपचारिक रूप से थाईलैंड में अपने पूर्व क्लब के पास वापस चले गए। उनका स्थान पुर्तगाल के पूर्व मैनेजर नीलो विंगाडा ने लिया। 63 साल के इस मैनेजर के पास 35 सालों का लंबा अनुभव है। उन्होंने अपने करियर में अपने मुल्क की टीमों से लेकर साउदी अरब, मिस्र, जोर्डन और ईरान तक की टीमों को अपनी सेवाएं मुहैया कराई।

इस बार हुई नीलामी नाॅर्थईस्ट की टीम में कई बदलाव लेकर आई। टीम में सबसे बड़े बदलाव के रूप में मोहन बागान के स्टार खिलाड़ी कात्सुमी युसा को शामिल किया गया है और उम्मीद है कि ये खिलाड़ी मैदान पर जरूर प्रभावित करेगा। मैनेजर के तौर पर हुए बदलाव ने ये दर्शाया है कि नाॅर्थईस्ट यूनाईटेड इस दफा अपने दायरे से बाहर निकलने में कामयाब रहा है

टीम का संभावित स्थान- सेमीफाइनल

केरला ब्लास्टर्स

 © Getty Images

पहले सीजन के फाइनल में पहुंचने वाली केरला ब्लास्टर्स पिछले सत्र में आखिरी पायदान पर रही। इयेन ह्यूम के टीम छोड़ देने के कारण टीम की स्थिति उलट-पलट गई जबकि टीम ने डिफेंस में भी अपनी नाक कटाई। उनके मैनेजर को बीच सत्र मेे ही निकाल दिया गया जिसका प्रशंसकों ने जमकर विरोध किया।

इस सत्र में टेरी फेलन के स्थान पर स्टीव काॅपेल को लाया गया। मैनचेस्टर यूनाईटेड के इस विंगर के हाथों में ये एक मुश्किल काम है। एटलेटिको डि कोलकाता से मशहूर खिलाड़ियों एरोन ह्यूग्य और रिनो एंटो का आना केरला के लिए बहुत बड़ी बात है। वहीं उनके पास संदेश झिंगन भी हैं। कागज पर इस टीम का डिफेंस मजबूत नजर आता है। हालंकि कुछ मुद्दे अब भी चिंता का सबब है। पिछले सीजन में वो मैदान के बीचों-बीच जोसू की रचनात्मकता पर पूरी तरह निर्भर थे वहीं 34 साल के मेहताब के लिए फुर्ती के साथ पूरे मैदान को कवर करना मुश्किल होगा।

ये सत्र एक बार फिर केरला के प्रशंसकों के लिए मुश्किल हो सकता है।

टीम का संभावित स्थान- सातवां स्थान

जिन खिलाड़ियों पर होगी नज़रः

1. कात्सुमी युसा- मोहन बागान का यह स्टार खिलाड़ी तो पहले से ही अपनी कार्यक्षमता और प्रदर्शन के सहारे बागान के प्रशंसकों के बीच काफी लोकप्रिय हो गया है। अब वह इंडिया क्लब के शुरूआती 11 का भी हिस्सा है। नाॅर्थईस्ट काफी हद तक इस खिलाड़ी पर निर्भर है और ये भी निराश होने के कम ही मौके देते हैं।

2. हेल्डर पोस्टिगा- ये पुर्तगाली स्ट्राइकर इस सीजन में आपना पदार्पण कर रहे हैं। वो चोटों से काफी परेशान रहते हैं लेकिन इस सीजन में उन्हें खुद को साबित करने के काफी अवसर मिलेंगे जब वो एटलेटिको डि कोलकाता में इयेन ह्यूम के साथ खेलेंगे।

3. कीन लुईस- अभी हाल ही में हुए ईपीएल चैंपियन में लिसिस्टर सिटी के खिलाफ हुए ट्रायल मैच में इस 24 साल के खिलाड़ी ने मोहन बागान के साथ शुरूआत करते हुए सभी को प्रभावित किया। टाटा फुटबाॅल अकादमी के इस खिलाड़ी को डेल्ही डायनामोज के साथ जुड़ने का एक बेहतरीन मौका मिला है।

4. अमरिंदर सिंह- बैंगलुरू एफसी का यह खिलाड़ी शुरूआती कुछ मैच नहीं खेल पाएगा क्योंकि वो एएफसी कप में व्यस्त रहेंगे। लेकिन जब भी 23 साल के इस युवा खिलाड़ी को आईएसएल में अपना प्रदर्शन दिखाने का मौका मिलेगा तो यकीनन वह अपने मौजूदा फाॅर्म को जारी रखेंगे और खुद को लीग का सबसे अच्छा गोलकीपर साबित करेंगे।

5. डविडे सची- 34 साल के डविडे ने बहुत जल्द ही 10 क्लबों के साथ अपने अनुबंध किए हैं लेकिन अब तक का सबसे अच्छा खेल कार्यकाल उनका रेविना के साथ ही रहा, जो 8 साल पहले हुआ था। इस बार चेन्नइयन एफसी को उनके खेल से काफी उम्मीदें हैं और उनके वर्तमान प्रदर्शन से ये उम्मीदें और भी बढ़ गई है।

Otamendi or Adam Smith? Who will make more tackles?

Presenting Nostragamus, the first ever prediction game that covers all sports, inlcuding Football. Play the Premier League challenge and win cash prizes daily.

Download the app for FREE and get Rs.20 joining BONUS. Join 30,000 other users who win cash by playing NostraGamus. Click here to download the app for FREE on android!

SHOW COMMENTS