ISL 2016 । चेन्नयिन FC ने किया FC गोवा का हाल बदतर

no photo
 |

© ISL media

ISL 2016 । चेन्नयिन FC ने किया FC गोवा का हाल बदतर

पिछले साल के घटनापूर्ण फाइनल के बाद, इस सीजन में चेन्नयिन FC और FC गोवा के बीच हुए पहले मैच में, गोवा को सीजन में लगातार तीसरी हार मिली। चेन्नई में हुए इस मैच में चेन्नयिन FC ने 2-0 से जीत हासिल किया। हार के बाद, तीन मैचों से कोई अंक न हासिल करने के कारण, FC गोवा पूल के आखिरी पायदान पर पहुँचा।

चेन्नयिन FC के प्रबंधक मार्को मेटेराज़ी ने अपनी टीम को चेतावनी दी थी कि अगर उसने इस सीजन में बेहतर खेलकर कर सेमी-फाइनल्स में अपनी जगह नहीं बना पाई, तो अगले सीजन में वह उनके मार्ग दर्शन से वंचित रहेगी। हालांकि, इस चेतावनी उतना असरदार लगा नहीं, जब मैच के शुरू होते ही चेन्नयिन FC ने डिफेन्स में गलतियाँ करनी शुरू कर दी।

दूसरे ही पल में, FC गोवा ने एक आसान बढ़त पाने का अवसर तब मिला, जब फुलगांसो कार्डोजो के लॉन्ग बॉल फॉरवर्ड को, गोलकीपर करनजीत सिंह ने, सरलता से, हाथ से पकड़ने के बजाय पैर से नियंत्रित करने का निर्णय लिया और रेनाल्डो ओलिवेरिया को गेंद दे बैठे। हालांकि, इस ब्राज़ीलियाई खिलाड़ी के पैर गेंद को अधिक समय तक नहीं संभाल सके और उनकी कोशिश नाकामयाब रही।   

तनाव थोड़ा हल्का हुआ, तो चेन्नयिन FC ने आगे बढ़ने का प्रयास किया। खेल में दिलचस्प मोड़ तब आया, जब 15वे मिनट में मुल्डर ने, बॉक्स के बाहर, राफेल अगस्टो से गेंद ली, इत्मिनान से उस पर पकड़ बनाते हुए गेंद को डिफेंडर्स की प्रतिक्रिया आने से पहले ही, गोवा के गोलकीपर लक्ष्मीकांत कट्टिमणि को पार कराते हुए आगे पहुंचा दिया।

26वे मिनट में चेन्नयिन FC ने 2-0 की बढ़त बना ली, और इस बार ये काम और भी आसान था। चेन्नयिन FC के कप्तान मेहराजुद्दीन वादू पहले गोलमाउथ के अन्दर बॉल को डालना चाहते थे लेकिन बाद में, उन्होंने, गोवा के डिफेंडर रिचर्ड डुमास के षड्यंत्र को मात देते हुए, कट्टिमणि को पार कर गेंद को गोवा के बार तक पहुँचाया।    

FC गोवा के पास खेल में वापसी करने के काफी अवसर थे लेकिन उनमें वह उत्साह नहीं नज़र आई। राफेल कोएल्हो पहले 45 मिनट में गोल करने वाले खिलाड़ियों में से एक माने जाते हैं। पहले तो ब्राज़ीलियाई स्ट्राइकर ने जोफ्री गोंज़ालेज़ के क्रॉस पर हेडर मारने की कोशिश की लेकिन गेंद गोलपोस्ट से काफी बाहर निकल गयी और फिर 42वे मिनट पर गोलपोस्ट के पास से, ऊपर की तरफ से मारने की नाकामयाब कोशिश की।

दूसरे सेशन में, FC गोवा के प्रमुख कोच जीको ने आक्रामक बदलाव से खेल को बदलने की कोशिश की लेकिन हरबार चेन्नयिन FC इनसे बचता नज़र आया।

अगर स्ट्राइकरों ने अपना संय्यम नहीं खोया होता तो मेज़बान टीम, इस मैच को, और भी बड़े मार्जिन से जीत सकती थी। डेविड सुची के पास, टीम को 3-0 से जीताने का सुनेहरा मौका था, जब वह मुल्डर के एक लंबे ओवरहेड गेंद को गोल पोस्ट तक पहुँचाने में मदद कर सकते थे लेकिन कट्टिमणि ही सिर्फ उस गेंद पर अपनी पकड़ बना पाए।   

वहीं मुल्डर, बलजीत सहनी के एक और सटीक क्रॉस के चश्मदीद बने लेकिन भारतीय स्ट्राइकर के शॉट से गेंद साइड नेटिंग तक ही पहुँच सकी।

Otamendi or Adam Smith? Who will make more tackles?

Presenting Nostragamus, the first ever prediction game that covers all sports, inlcuding Football. Play the Premier League challenge and win cash prizes daily.

Download the app for FREE and get Rs.20 joining BONUS. Join 30,000 other users who win cash by playing NostraGamus. Click here to download the app for FREE on android!

SHOW COMMENTS
!-- advertising -->