पूर्व यूनाइटेड प्रबंधक लुइस वान गाल ने लिया फुटबॉल से संन्यास

no photo
 |

© Getty Images

पूर्व यूनाइटेड प्रबंधक लुइस वान गाल ने लिया फुटबॉल से संन्यास

पूर्व मेनचेस्टर यूनाइटेड प्रबंधक लुइस वान गाल ने, सोमवार को, पेशेवर फुटबॉल से संन्यास लेने का ऐलान किया, और अपने 26 साल के सफल कार्यकाल पर विराम लगाया। डच खिलाड़ी ने 1995 में अजाक्स के साथ चैंपियंस लीग जीता था और बार्सिलोना और बेयर्न म्युनिख के साथ रहते हुए भी, उन्होंने लीग के खिताब हासिल किये।

जहां कई लोग इस बात का इंतज़ार कर रहे थे कि, अब वान गाल किस टीम का प्रबंधन करेंगे, वहीं 65 वर्षीय ने पेशेवर फुटबॉल को अलविदा कह दिया। हाल ही में, डच सरकार ने उन्हें, फुटबॉल के प्रति उनके योगदान को देखते हुए, लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से नवाज़ा था।  

"मैंने पहले सोचा कि क्या मुझे संन्यास लेना चाहिए या फिर एक अवकाश लेना चाहिए, लेकिन अब यह स्पष्ट है कि मैं दोबारा कोचिंग नहीं करूँगा," वान गाल ने डच अखबार, डी टेलेग्राफ से कहा।

"मेरे परिवार में काफी कुछ हुआ है, और आपको कभी ना कभी, सच्चाई को समझते हुए जिम्मेदारियां उठानी पड़ती है," इस फैसले के पीछे पारिवारिक मुद्दों को वजह बताते हुए उन्होंने कहा।

पूर्व नेदरलैंड्स कोच ने, आखिरी साल मई में, यूनाइटेड के प्रबंधक के तौर पर, अपने कार्यकाल को ख़त्म करने के बाद, वापसी नहीं की। उन्होंने यह भी कहा कि इस दौरान उन्हें मिडिल ईस्ट के कुछ क्लब से प्रस्ताव भी मिले।

खिलाड़ी के तौर पर वान गाल, 1972 से 1987 के बीच, अजाक्स, रॉयल एंटवेर्प, टेलस्टार,स्पार्टा रॉटरडैम और एजेड शामिल हुए। और इसके बाद उन्होंने डच क्लब एजेड में बतौर असिस्टेंट कोच, काम किया।

1991 में अजाक्स में उन्हें प्रमुख कोच बना दिया गया। उनके कोच रहते हुए, प्रमुख क्लब ने तीन डच लीग अपने नाम किये, 1992 का यूएफा जीता और 1995 के चैंपियंस ट्रॉफी में कामयाबी हासिल की।

इसके बाद, वान गाल स्पेन के क्लब बार्सिलोना को कोच करने लगे। 1997 में उन्होंने बॉबी रॉबसन की जगह ली और लगातार दो ला लीग तथा एक स्पेनिश क्लब में टीम को जीतने में मदद की। 2000 में वान गाल को नेदरलैंड्स राष्ट्रीय टीम का कोच चुना गया, लेकिन दो सालों के बाद, राष्ट्रीय टीम के 2002 के विश्व कप में जगह न बना पाने के कारण, देश ने उनके इस पद से हटा दिया।

उसी साल डच खिलाड़ी ने बार्सिलोना में वापसी की लेकिन उन्होंने आठ महीनों में ही इस्तीफा दे दिया। उन्होंने इसके बाद, अपने पूर्व क्लब एजेड एल्कमार में, बतौर कोच, ज्वाइन किया और 2005-06 में टीम को डच लीग में जीत दिलाई। 2009 में वह, जर्मनी के बुन्डेसलीगा की प्रमुख टीम बेयर्न म्युनिkh के कोच बने और 2009-10 के लीग खिताब में टीम को जीत दिलाई।

2012 में, वान गाल ने एक बार फिर डच राष्ट्रीय टीम के कोच का कार्यभार संभाला और 2014 के विश्व कप में टीम को तीसरे स्थान तक पहुंचाया। मई 2014 में, डचमैन यूनाइटेड में शामिल हुए और टीम के प्रबंधक डेविड मोयेज़ की जगह ली। हालांकि, प्रीमियर लीग टीम के साथ उनका रिश्ता महज़ दो सालों का रहा और 2015-16 के सत्र में टीम के पांचवे स्थान पर रहने के कारण, उन्हें यह पद छोड़ना पड़ा। उन्होंने क्लब को 2014 के FA क्लब में भी जीत दिलाई थी। 

Swansea vs Liverpool - who will hold higher possession?

Predict EPL matches on Nostragamus now! Join challenges and compete against India's biggest EPL fans. Play and win up to ₹40,000 today!

Download Nostragamus for FREE and get ₹20 Joining Bonus! Click here to download app on Android.

SHOW COMMENTS