अश्विन सुंदर की मौत से रेसिंग समुदाय सदमे में

no photo
 |

© Wiki

अश्विन सुंदर की मौत से रेसिंग समुदाय सदमे में

अश्विन सुंदर की दुखद मौत ने रेसिंग बिरादरी को सदमे में डाल दिया है। गौरतलब है कि कल उनकी गाड़ी पेड़ से टकरा कर दुर्घटनाग्रस्त हो गई थीे। टक्कर के बाद 27 वर्षीय अश्विन की गाड़ी में आग लग गई, इस दौरान उनकी पत्नी निवेदिता भी उनके साथ गाड़ी में मौजूद थी।

सुंदर पूर्व राष्ट्रीय चैंपियन थे जिन्होंने टू-व्हील और फोर-व्हील प्रारूप में राष्ट्रीय खिताब जीते थे। वो भारतीय सुपरस्टार रेसर नारायण कार्तिकेयन की एफ1 टीम स्पीड एनके रेसिंग का हिस्सा थे। सन् 2000 में वो इस स्टार एफ1 रेसर के सहायक बने। इस घटना को सुनने के बाद नारायण ने इस पर दुख जाहिर किया है और उन्होंने भारतीय मोटरस्पोर्ट फेडरेशन के लिए इसे भारी क्षति बताया।

द हिन्दु की रिपोर्ट के मुताबिक उन्होंने कहा, ‘‘जब हमने रेसिंग अकादमी की शुरूआत की तब वो उन चुनिंदा ड्राइवर में से था जिन्हें 30 लोगों में से चुना गया। उसने हमारे साथ दो साल तक रेसिंग की और उसने 2009 में फाॅम्र्यूला वन रोलाॅन शेवरोले टाइटल जीता।’’

‘‘ये काफी दुखद है और जो हुआ उस पर मैं अब भी यकीन नहीं कर पा रहा हूं।’’

सुंदर के विरोधी चालक इस युवा की मौत की खबर से सदमे में हैं। सुंदर के अहम प्रतिद्वंदियों में से एक सरन विक्रम ने याद करते हुए बताया की उन्होंने पिछले साल जेके नेशनल रेसिंग चैंपियनशिप में आखिरी बार इस हुनरमंद खिलाड़ी के खिलाफ प्रतियोगिता में हिस्सा लिया था।

सरन ने कहा, ‘‘वो एक बेहतरीन खिलाड़ी के साथ एक कंप्लीट पैकेज था। मुझे विश्वास नहीं हो रहा है। वो अपने दोस्तों से कहा करता था कि जब भी कोई तुम्हारे साथ हो तो सावधानीपूर्वक गाड़ी चलानी चाहिए।’’ सरन के मुताबिक वो एक सुरक्षित ड्राइवर था और इस बात पर यकीन करना मुश्किल है कि वो जल्दबाजी में गाड़ी चला रहे थे।

अरमान इब्राहिम भी इस घटना से हैरान हैं। उन्होंने उस वक्त को याद किया जब वो इस युवा के साथ प्रतियोगिता में हिस्सा लिया करते थे। इब्राहिम ने कहा, ‘‘हम साथ ही बड़े हुए और हमने 2004 में एक ही समय पर फाॅम्र्यूला एलजीबी रेसिंग में प्रवेश किया। वो काफी टेलेंटेड था और दो और चार पहिया वाहन, दोनों में ही कमाल था। मैं ये सुनकर काफी हैरान हूं।’’

भारतीय मोटरस्पोट्र्स समुदाय के दिग्गज गोकुल कृष्णा ने सुंदर की खूबियों पर रोशनी डाली।

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने 2010-2013 में जेके टायर नेशनल चैंपियनशिप के फाॅम्र्यूला स्विफट श्रेणी में उनके खिलाफ गाड़ी चलाई थी। उसे अपनी काबिलियत पर विश्वास था। और ये ट्रैक पर उनके व्यवहार में झलकता भी था।’’

पूर्व एफ3 चैंपियंस और एफएमएससीआई के अध्यक्ष अकबर इब्राहिम ने शोक जाहिर किया और कहा कि वो इस दुर्भाग्यपूर्ण खबर से काफी दुखी हैं।

सोशल मीडिया के जरिए इब्राहिम ने कहा, ‘‘दुखद खबर। अश्विन सुंदर, जो मोटरस्पोर्ट के सभी प्रारूपों में बेहतरीन थे वो नहीं रहे। इस बात पर यकीन कर पाना काफी मुश्किल है। उसे बचपन से देखा है जब वो इस खेल में बिल्कुल नया था और उसे हर प्रारूप में प्रदर्शन करते देखने को लेकर मैं उत्साहित रहता था। ये काफी दुखद है। ये बहुत ज्यादा दुख की बात है। भगवान अश्विन और उनकी पत्नी की आत्मा को शांति दे।’’

SHOW COMMENTS