रवि शास्त्री: विश्व कप की अहमियत कम कर रही है चैंपियंस ट्राॅफी

no photo
 |

रवि शास्त्री: विश्व कप की अहमियत कम कर रही है चैंपियंस ट्राॅफी

आईसीसी द्वारा काफी सारे वैश्विक टूर्नामेंट के आयोजन की रवि शास्त्री ने आलोचना की और उनके मुताबिक चैंपियंस ट्राॅफी की वजह से विश्व कप की अहमियत कम हो रही है। शास्त्री ने ये भी कहा कि आईपीएल में विदेशी खिलाड़ियों के साथ खेलने से भारतीय खिलाड़ियों के आत्मविश्वास को बढ़ावा मिला है।

2017 चैंपियंस ट्राॅफी का आगाज 1 जून से होगा। इसके मुकाबले इंग्लैंड और वेल्स में खेले जाएंगे जिसमें दुनिया की शीर्ष आठ एकदिवसीय टीमें हिस्सा लेंगी। बहरहाल, शास्त्री का मानना है कि इस टूर्नामेंट ने विश्व कप की चमक को फीका कर दिया है।

एनडीटीवी की वेबसाइट के मुताबिक शास्त्री ने कहा, ‘‘मैं सड़क पर किसी से भी मिलता हूं और मुझसे पूछा जाता है कि कितने विश्व कप हैं यार। विश्व चैंपियन है कौन। जो कि सच्चाई है। चैंपियंस ट्राॅफी और विश्व कप दोनों का आयोजन किया जा रहा है। ऐसे में आप विश्व कप के महत्व को कम कर रहे हो।’’

‘‘विश्व कप, टी20, टेस्ट क्रिकेट ठीक हैं। चैंपियंस ट्राॅफी की क्या जरुरत है? आप क्या साबित करना चाहते हो? कौन याद रखता है कि कौन जीता था?’’

‘‘अगर आप मुझसे पिछले 10-12 विश्व कप के विजेताओं के बारे में पूछेंगे तो मैं बता सकता हूं, लेकिन अगर आप मुझसे चैंपियंस ट्राॅफी के पिछले तीन विजेताओं के बारे में पूछोगे तो मैं नहीं जानता। पिछले (इंग्लैंड में 2013 में) सत्र के बारे में बता सकता हूं क्योंकि वह भारत ने जीता था।’’

54 वर्षीय रवि शास्त्री ने कहा, ‘‘अगर मेरी मानो तो पांच साल बाद 50 ओवरों की बहुत कम क्रिकेट होगी। आईसीसी के कई टूर्नमेंट हैं। किस खेल में इतने अधिक विश्व चैंपियन हैं।’’

शास्त्री ने देशों को अपने घरेलू क्रिकेट पर भी फोकस करने की सलाह दी। उन्होंने आईपीएल के जरिए भारतीय युवाओं को मिल रहे मौके पर भी बात की।

‘‘आठ फ्रैंचाइजी, हर फ्रैंचाइजी में 7 भारतीय खिलाड़ी, 56 भारतीयों को मौका मिलता है। हर दिन ये भारतीय खिलाड़ी चार विदेशी खिलाड़ियों के साथ खेलते हैं। उनकी झिझक दूर हो रही है।’’

SHOW COMMENTS