मारिया शारापोवा को संभवतः नहीं मिलेगा फ्रेंच ओपन का वाइल्डकार्ड

no photo
 |

© Getty Images

मारिया शारापोवा को संभवतः नहीं मिलेगा फ्रेंच ओपन का वाइल्डकार्ड

ऐसा लग रहा था जैसे मारिया शारापोवा की परेशानियां ख़त्म होने को आई है, लेकिन तभी फ्रेंच टेनिस फेडरेशन (FFT) ने कहा कि रोलैंड गेरोस में उनकी वाइल्डकार्ड एंट्री अभी निर्धारित नहीं है। प्रतिबंधित औषधि मेल्डोनियम के सेवन के कारण, 29 वर्षीय खिलाड़ी इस वक़्त 15 महीने के प्रतिबन्ध में है।

रूसी खिलाड़ी 26 अप्रैल को स्टुट्गार्ट के कोर्ट में अपनी वापसी करेंगी, जिसमें उन्हें वाइल्डकार्ड एंट्री का प्रस्ताव दिया गया है, इसके साथ ही मेल्डोनियम के सेवन के कारण उनपर लगे 15 महीने का प्रतिबन्ध भी समाप्त हो जायेगा।

हालांकि, FFT और उसके अध्यक्ष बर्नार्ड गियुडिसेली ने यह कहा है कि, दो बार फ्रेंच ओपन की विजेता को, इस बार, साल के दूसरे प्रमुख टूर्नामेंट में वाइल्डकार्ड एंट्री मिलेगी या नहीं, इस पर अब भी संदेह बना हुआ है।

"यह बहुत ही पेचीदा है। हम चाहते है कि वह अच्छी स्थिति में वापसी करे। निष्ठा हमारे लिए बेहद अहम है। हम यह तय नहीं कर पा रहे हैं कि एक तरफ तो हम एंटी-डोपिंग अभियान के लिए निधि इकठ्ठा करते हैं, फिर, दूसरी तरफ, हम उन्हें खेलने का प्रस्ताव देते हैं, ऐसा करना सही होगा या नहीं," गियुडिसेली ने रूसी खिलाड़ी को शामिल करने में हो रही हिचकिचाहट के बारे में स्पष्ट किया।

शारापोवा को स्टुट्गार्ट, मेड्रिड और रोम के लिए वाइल्डकार्ड मिल चूका है। एक साल तक न खेल पाने के कारण, शारापोवा का रैंक बेहद पीछे जा चुका है, इसी वजह से, वह ओपन में सीधे तौर पर शामिल नहीं हो सकती, जब तक उन्हें वाइल्डकार्ड न दिया जाए। हालांकि ऐसा करने का एक और रास्ता है। प्रतियोगिता के शुरू होने से पहले रूसी खिलाड़ी पेरिस में होने वाले क्वालीफाइंग टूर्नामेंट में हिस्सा ले सकती हैं।

हालांकि, यह रास्ता तभी खुलेगा जब वह स्टुट्गार्ट में जीत हासिल कर अपनी रैंकिंग सुधार पाती हैं।

एंडी मरे डोपिंग प्रतिबंधों से जूझ रहे खिलाड़ियों की वापसी में मदद करने के मामले में बोलते रहे हैं। शारापोवा के मामले में, ब्रिटिश खिलाड़ी ने कहा कि वह विंबलडन से पहले काफी अंक इकठ्ठा कर सकती है, जिससे उन्हें वाइल्डकार्ड की ज़रुरत नहीं होगी।

SHOW COMMENTS