सुमित के रजत पदक के साथ भारत के नाम हुए पदकों की संख्या 10 तक पहुंची

no photo
 |

Getty Images

सुमित के रजत पदक के साथ भारत के नाम हुए पदकों की संख्या 10 तक पहुंची

रविवार को, भारत ने एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप में अपने सफ़र ली सफलता भरी समाप्ति की। सुमित ने पुरुष 125 किलो की श्रेणी में रजत पदक हासिल किया। भारत ने इस चैंपियनशिप में कुल 10 पदक अपने नाम किये हैं जिसमें, बजरंग पुनिया का स्वर्ण पदक और पांच रजत तथा चार कांस्य पदक शामिल है।

भारत के एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप का सफ़र एक शानदार जीत के साथ समाप्त हुआ जब सुमित ने देश के नाम एक और रजत पदक कर दिया। सुमित के रजत पदक से भारत पिछले वर्ष के नौ पदकों की संख्या से आगे बढ़ने में कामयाब रहा।

125 किलो के पुरुष फ्रीस्टाइल के फाइनल में सुमित ईरानी पहलवान यादोल्ला मोहम्मदकाज़म मोहेबी से हार बैठे। सुमित अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सके और 2-6 से हारकर रजत पदक अपने नाम कर पाए।

भारतीय पहलवान पहला अंक हार गए थे लेकिन फिर लगातार दो अंक अपने नाम करने में कामयाब हुए। हालांकि मोहेबी ने बाद में उनपर दबदबा बनाया और दो और अंक अपने नाम कर ओपनिंग राउंड को 5-2 के स्कोर पर समाप्त किया।

दूसरे भाग में, ईरानी खिलाड़ी को एक और अंक हासिल हुआ और सुमित से बचते हुए उन्होंने जीत हासिल कर, स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया।

इससे पहले, हेवीवेट पहलवान ने क्वार्टर फाइनल और सेमी फाइनल में आसानी से जीत हासिल की थी।

क्वार्टरफाइनल में, सुमित ने जापानी खिलाड़ी ताइकी यामामोतो को 6-3 से हराया और सेमी में उन्होंने ताजीकिस्तान के फर्खोद आनाकुलोव को 7-2 से परास्त किया।

हालांकि कल मुकाबला करने वाले बाकी के भारतीय पहलवानों को हार का सामना करना पड़ा।

हरफूल पुरुषों के 61 किलो की श्रेणी में जापान के रेयी हिगुची से 6-7 के स्कोर से हारे और विनोद कुमार ओमप्रकाश को भी जापानी पहलवान मोमोजिरो नाकामुरा से पुरुष 70 किलो की श्रेणी में हार का सामना करना पड़ा।

Kidambi Srikanth or Chen Long? Who will win?

Presenting Nostragamus, the first ever prediction game which covers all sports, including Badminton. Play the Badminton Smashers challenge and predict the results with just a single swipe!

Win cash daily by just predicting the right result of matches. Click here to download the game on Android for FREE! To know more, visit Nostragamus.in

SHOW COMMENTS