PBL । मरीन की नेहवाल पर मिली जीत हुई नाकाम, अवध ने दी हैदराबाद को मात

no photo
camera iconcamera icon|

© Getty Images

PBL । मरीन की नेहवाल पर मिली जीत हुई नाकाम, अवध ने दी हैदराबाद को मात

नए साल के मौके पर पीवी सिन्धु को हारने के बाद, स्पेनिश सितारा कैरोलिना मरीन ने सोमवार (2 जनवरी) को प्रीमियर बैडमिंटन लीग के मुकाबले में साइना नेहवाल को भी धुल चटाया। हालांकि, इसके बावजूद, नेहवाल की टीम अवध वारियर्स ने मुकाबले में हैदराबाद को 5-0 से हराया।

दूसरे दिन के पहले मैच में, वोंग विंग की ने साईं प्रणीत को 11-13,11-6,13-11 से हराकर वारियर्स को बढ़त दिलाई। प्रणीत ने शुरुआती मुकाबला जीतने के लिए तीन गेम पॉइंट अपने नाम किये लेकिन हांग कांग के की ने दूसरा मुकाबला जीत लिया। निर्णायक मैच बड़ा ही दिलचस्प रहा जिसमें पहले की ने 8-5 की बढ़त बनाई, लेकिन फिर लगातार पांच पॉइंट हार बैठे। हालांकि, विश्व के न. 25 खिलाड़ी ने आखिरकार 13-11 से जीत हासिल की।

अगला मुकाबला मरीन और नेहवाल के बीच था। पहला सेट बड़ा ही रोमांचक रहा, जिसमें दोनों खिलाड़ियों ने ज़बरदस्त प्रदर्शन किया। 5 पॉइंट की बराबरी पर, मरीन ने अपने खेल का स्तर बढ़ाया और लगातार चार पॉइंट अपने नाम किये। लेकिन नेहवाल ने भी तुरंत वापसी की और 9-9 का स्कोर खड़ा किया। 14 अंकों की बराबरी पर, मरीन ने नेहवाल की एक गलती पर मौका लिया और स्पेनिश खिलाड़ी ने खेल अपने नाम कर लिया। दूसरा मुकाबला एक तरफ़ा रहा जिसमें मरीन ने 8-0 की बढ़त के साथ मैच जीत लिया और अपनी टीम को 1-1 की बराबरी दिलाई।

वारियर्स ने पहला ट्रम्प मैच खेलने का निर्णय लिया और चाऊ होई वाह और सात्विक साईं राज के खिलाफ मिश्रित युगल मुकाबले को चुना। पहला मुकाबला बेहद दिलचस्प रहा जिसे वारियर्स के जोड़े, बोडिन इसारा और सावित्री अमित्रापाई ने, 11-9 से जीता। दूसरे मुकाबले में वारियर्स ने पहले 7-2 की बढ़त बनाई, फिर 7-9 से पीछे हुए लेकिन आखिरकर खेल जीतकर 3-1 के स्कोर में टीम को बढ़त दिलाई।  

चौथे मुकाबले में किदम्बी श्रीकांत का मुकाबला हुआ राजीव ओउसेफ के साथ। भारतीय खिलाड़ी ने पहले से अपनी मंशा ज़ाहिर की और पाला बदलने से पहले 6-2 की बढ़त हासिल की।

हालांकि, अगला पांच अंक ओउसेफ के खाते में रहा जिससे युवा भारतीय खिलाड़ी पर दबाव बना। इसके बाद श्रीकांत को कोई मौका नहीं मिला और ब्रिटिश खिलाड़ी ने पहला मुकाबला 13-11 से जीत लिया। दूसरे गेम में 23 वर्षीय भारतीय खिलाड़ी ने एक बार फिर 6-2 की बढ़त ली और इस बार 11-7 के स्कोर पर जीत सुनिश्चित किया।

निर्णायक पहले खेल की तरह ही रहा जिसमें पहले श्रीकांत ने 8-4 की बढ़त ली और फिर ओउसेफ ने इस अंतर को महज़ 1 अंक का बना लिया। अगले चार पॉइंट में, श्रीकांत को सिर्फ एक अंक मिला और ओउसेफ ने अपने नाम एक मैच पॉइंट किया। हालांकि, हार न मानने वाले भारतीय खिलाड़ी ने खेल को 13-11 की जीत के साथ समाप्त किया।

टीम को बचाने की ज़िम्मेदारी अब हंटर्स के जोड़े टेन बुन हियोंग और टेन वी कियोंग पर थी जिन्हें ट्रम्प कार्ड मुकाबला खेलना था। उन्होंने शुरुआत अच्छी की और 11-7 बढ़त से पहला गेम जीता लेकिन अगले दोनों मुकाबले में वह वारियर्स से हार गए। और दूसरे दिन के मुकाबले में वारियर्स को मिली 5-0 से जीत।

Follow us on Facebook here

Stay connected with us on Twitter here

Like and share our Instagram page here

SHOW COMMENTS drop down