user tracker image

वसीम अकरम ने किया दावा, वक़ार यूनुस रन-आउट होकर कुंबले का परफेक्ट 10 नहीं बनने देना चाहते थे

no photo
camera iconcamera icon|

© Getty Images

वसीम अकरम ने किया दावा, वक़ार यूनुस रन-आउट होकर कुंबले का परफेक्ट 10 नहीं बनने देना चाहते थे

वसीम अकरम ने कहा कि 1999 में फिरोजशाह कोटला में हुए मुकाबले में वकार यूनुस ने रन-आउट होने का विकल्प रखा था ताकि अनिल कुंबले एक पारी में 10 विकेट लेने की उपलब्धि हासिल ना कर पाएं। बहरहाल, युनूस ने इस बात को खारिज कर दिया है।

नौंवे विकेट के तौर पर सकलैन मुश्ताक का विकेट निकालने के बाद, अनिल कुंबले टेस्ट मैच की एक पारी में 10 विकेट हासिल करने वाले जीम लेकर के बाद दूसरे गेंदबाज बनने से सिर्फ एक विकेट दूर थे। अकरम जो उस वक्त क्रीज पर मौजूद थे, उन्होंने बताया कि यूनुस ने रन-आउट हो जाने की सलाह दी थी ताकि ये भारतीय खिलाड़ी इस उपलब्धि को हासिल ना कर सके।

अकरम ने डीएनए अखबार को बताया, ‘‘कुंबले नौ विकेट हासिल कर चुके थे, मैं और वकार क्रीज पर बल्ल्ेबाजी के लिए मौजूद थे। वकार मेरे पास आए और उन्होंने कहा, ‘रन-आउट होना कैसा रहेगा?’ ताकि कुंबले को विकेट ना मिल सके।’’

‘‘मैंने कहा कि ‘अगर उसकी किस्मत में ये उपलब्धि है तो आप उसे रोक नहीं सकते हैं। लेकिन मैं ये यकीन दिलाता हूं कि मैं अपना विकेट कुंबले को नहीं देने वाला हूं।’ लेकिन वो मैं ही था जिसने अपना विकेट तोहफे में कुंबले को दे दिया।’’

यूनुस ने इस बात को नकार दिया और ट्विट करते हुए कहा, ‘‘ऐसा कभी नहीं हुआ। मुझे लगता है कि वसीम भाई की उम्र हो गई है।’’

इस पर अकरम ने भी ट्वीट करके जवाब दिया कि ‘‘दोस्त आप इस सच्चाई को सही करें। अगर उम्र के मामले में हम जाएं तो आप जानते हैं कि मैं हर बार आपको हरा दूंगा।’’ बहरहाल, अकरम ने बाद में अपने अकाउंट से ये ट्वीट हटा दिया।

Follow us on Facebook here

Stay connected with us on Twitter here

Like and share our Instagram page here

SHOW COMMENTS drop down