user tracker image

भारत बनाम आॅस्ट्रेलिया। आॅस्ट्रेलियाई टीम लड़खड़ाई, मेज़बान टीम ने की सीरीज में वापसी

no photo
camera iconcamera icon|

© BCCI

भारत बनाम आॅस्ट्रेलिया। आॅस्ट्रेलियाई टीम लड़खड़ाई, मेज़बान टीम ने की सीरीज में वापसी

आज सुबह भारत को 188 के स्कोर पर रोकने के बाद बैंगलोर टेस्ट में आॅस्ट्रेलिया 76 रन से हारने से पहले जीत की कगार पर नजर आ रही थी। चेतेश्वर पुजारा अपने शतक से जरूर चूक गए लेकिन आर अश्विन के 5 विकेट हाॅल की बदौलत भारत ने सीरीज में 1-1 से बराबरी कर ली है।

स्कोरकार्डः भारत 189 (केएल राहुल 90; नेथन ल्योन 8/50) और (चेतेश्वर पुजारा 92, जे हेजलवुड 6/67) आस्ट्रेलिया 276 (शाॅन मार्श 66; रविन्द्र जडेजा 6/63) और 112 (स्मिथ 28; अश्विन 6/41) 75 रनों से मिली शिकस्त

पुणे टेस्ट में मिली हार टीम इंडिया के लिए एक सबक के तौर पर रही जो आॅस्ट्रेलिया टीम के आने से पहले 19 टेस्ट मुकाबलों में अजेय रही थी। आईसीसी द्वारा पुणे पिच को ‘खराब’ करार देने के बाद ये सवाल उठ रहे थे कि बैंगलोर की विकेट किस तरह की होगी। ये पिच भी टीम के लिए हैरान करने वाली रही जहां पहले दिन ही बड़ी-बड़ी दरारें नजर आ रही थी। 

मैच के आरंभ से पहले खेल पंडितों का मानना था कि विकेट बल्लेबाजों के मुफीद रहेगी लेकिन सैकड़ा पार करने से पहले ही भारत के तीन विकेट गिर जाने के बाद सबने अपने विचार पर विराम लगा लिए। लेकिन केएल राहुल की मदद से भारत दो सत्र के बाद 160/5 के स्कोर पर पहुंच पाया। चाय ब्रेक के बाद आॅस्ट्रेलियाई टीम नए जोश के साथ मैदान पर उतरी और भारत ने 15 रनों में अपने 5 विकेट गवां दिए और 189 का स्कोर किया। अनुभवी स्पिनर नेथन ल्योन ने भारत में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 8/50 का आंकड़ा हासिल किया। इसके बाद आॅस्ट्रेलिया ने पहले दिन के अंत तक 40/0 रन बना लिए थे।

दिन 1 - आॅस्ट्रेलिया

दूसरे दिन भी बल्ले और गेंद की जंग जारी रही। आॅस्ट्रेलिया पूरे दिन खेलने के बाद किसी तरह 200 रन बना पाने में सफल रही। वहीं दूसरी तरफ भारत दूसरे दिन 6 विकेट हासिल कर सका। भारतीय खिलाड़ी योजना बनाकर आए थे और वो उसी पर काम करते दिखे। तेज गेंदबाजों ने कसी हुई गेंदबाजी की और बल्लेबाजों को रन बनाने का कोई मौका नहीं दिया और वहीं दूसरी तरफ स्पिनर्स खिलाड़ियों को परेशान करते रहे। दूसरे दिन की समाप्ति तक आॅस्ट्रेलिया ने भारत के स्कोर के आधार पर बढ़त बना ली थी और मुकाबला उनके नियंत्रण में नजर आ रहा था।

दिन 2 - आॅस्ट्रेलिया

तीसरे तीन के पहले सत्र में रविन्द्र जडेजा के प्रदर्शन की बदौलत मुकाबला ही बदल गया। आॅस्ट्रेलियाई पारी को 276 में समेटने के लिए उन्होंने बचे हुए तीन विकेट लिए और डीप में खड़े होकर एक शानदार कैच लपका। इस समय तक पिच में ठहराव आ गया था और भारत ने बल्लेबाजी के दौरान इसका फायदा उठाया।

दो विकेट के नुकसान पर भारत ने इस सीरीज में पहली बार बढ़त हासिल करने की कोशिश की और ऐसा लग रहा था कि ये मुकाबला अब मेजबान टीम के हाथों में है लेकिन आॅस्ट्रेलिया ने इस स्थिति को तुरंत उस वक्त बदल दिया जब उन्होंने कोहली और जडेजा को काफी सस्ते में पवैलियन लौटा दिया। बहरहाल, पुजारा और रहाणे के बीच हुई शानदार साझेदारी ने आॅस्ट्रेलिया के लिए इस मुकाबले को थोड़ा मुश्किल बना दिया। भारत ने दिन की समाप्ति 213/4 के स्कोर और 126 रनों की बढ़त के साथ किया।

दिन 3 - भारत

पहले तीन दिनों की परंपरा को कायम रखते हुए आॅस्ट्रेलिया ने वापसी की। उन्होंने पहले सत्र में 59 रन देकर 6 विकेट निकाल लिए और इस तरह आॅस्ट्रेलिया के पास पांच सत्र में 188 रन बनाने का लक्ष्य था। भारत को मैट रेनशाॅ के विकेट के साथ अच्छा आगाज मिला। पांचवे ओवर में ही पहला विकेट गिर जाने से आॅस्ट्रेलियाई टीम दबाव में आ गई। मेहमान टीम का स्कोर 42 रन ही पहुंचा था जब उन्हें डेविड वाॅर्नर के रूप में दूसरा झटका लगा और सबसे अहम बात इस विकेट का रिव्यू रहा जिसने इस मुकाबले के नतीजे में महत्वपूर्ण रोल अदा किया।

शाॅन मार्श के जाने के बाद आॅस्ट्रेलिया का स्कोरकार्ड 67/3 पहुंच गया। आॅस्ट्रेलिया के पास केवल एक ही रिव्यू का मौका शेष था और उन्होंने इसका इस्तेमाल ना करने का फैसला किया। कुछ ही ओवर के बाद स्मिथ की भी मैदान से वापसी हो गई और आॅस्ट्रेलियाई टीम दबाव में आ गई। अश्विन ने 6/41 का आंकड़ा छूते हुए विरोधी टीम को 112 रनों में ही समेट दिया।

भारत ने ये मुकाबला जीत कर सीरीज में 1-1 की बराबरी कर ली है अब सीरीज का तीसरा टेस्ट मुकाबला रांची में खेला जाएगा।

दिन 4 - भारत

Cricket FootBall Kabaddi

Basketball Hockey

SportsCafe

SHOW COMMENTS drop down