user tracker image

लिवरपूल दुनिया का अंतिम अजूबा नहीं है: जोसे मौरिन्हो

no photo
camera iconcamera icon|

© Getty Images

लिवरपूल दुनिया का अंतिम अजूबा नहीं है: जोसे मौरिन्हो

एनफील्ड स्टेडियम में गतिरोध झेलने के बाद जोसे मौरिन्हो ने कहा लिवरपूल विश्व का आखिरी अजूबा नहीं है। मीडिया ने उसे खबरों में बनाये रखा है। मैनचेस्टर यूनाइटेड के टीम मैनेजर मौरिन्हो ने लिवरपूल के इस बात की भी आलोचना की कि मर्सीसाइड के क्लब गेम के दौरान पूरा प्रयत्न नहीं करते।

वे दुनिया के आठवें अजूबे नहीं हैं। जैसा की मीडिया ने प्रचारित कर रखा है। लेकिन वह बहुत अच्छी टीम है।मौरिन्हो ने मैच के बाद कहा।

मौरिन्हो ने कहा, ‘मैच में उन्हें ज्यादा परेशानी हुई। हमने मैच के दौरान ज्यादा समय तक अपना दबदबा बनाये रखा। पहले हाफ मे तो हम और भी प्रभावशाली थे। दूसरे हाफ में डेविड डे ने दो गोल बचाये। हमने उन्हें ज्यादा खेलने का मौका नहीं दिया, पर उनकी रक्षापंक्ति मजबूत थी। उनके कैन और हेंडरसन पूरे 90 मिनट तक खेले, जबकि सामन्यत: वे और भी अटैकिंग प्लेयर्स को रख सकते थे।

मैनचेस्टर यूनाइटेड लिवरपूल को सफलतापूर्वक गोलरहित ड्रॉ पर रोकने में कामयाब रहा। लिवरपूल एनफील्ड में खेले गये अपने पिछले दो मैचों में नौ गोल करने में सफल रहा था। मौरिन्हो ने अपनी रणनीति का बचाव करते हुए कहा कि उनके पास जितनी भी देर तक गेंद रही, उसमें वे सिर्फ दो असफल गोल के प्रयास कर पाये।

मौरिन्हो ने आगे कहा, ‘पिछले सीजन में लिवरपूल ने 14 गोल के प्रयास किये थे और मैनचेस्टर यूनाइटेड ने सिर्फ एक। उसके बाद भी हम मैच जीतने में सफल रहे थे। इस मैच की बात करें, तो लिवरपूल ने 65 प्रतिशत गेंद को अपने कब्जे में रखा, उसके बाद भी वे सिर्फ दो प्रयास ही कर पाये। यह उनकी कमी को दर्शाता है, हमारी नहीं।

यूनाइटेड के पास गेंद सिर्फ 35 प्रतिशत ही रही, हालांकि उसके बाद फिर भी गोल का मौका था, जब दूसरे हाफ में जलटान ने हेडर खेल कर गेंद को गोल की ओर धकेला।

मौरिन्हो ने कहा, ‘ जलटान के पास मौका था, हम थोड़े से चूक गये। अगर वह गोल हो गया होता, तो हम 1-0 से यह मैच जीत गये होते। हमें थोड़ा और प्रयास करने की जरूरत होगी।

मौरिन्हो के लिए मैच का रिजल्ट चाहे बेहतर रहा हो, पर 53 साल के मैनेजर को रेफरी के काम पर टिपण्णी करने के लिए फुटबॉल संघ से आलोचना झेलनी पड़ सकती है।

पुर्तगाली मैनेजर ने कहा था, ‘क्या मैं बिना सजा पाये रेफरी के बारे में कुछ कह सकता हूं। उनके लिए मैच अच्छा था। इतनी सारी जिम्मेवारियों को एक साथ दबाव में निभाना आसान नहीं होता। उन्होंने अच्छा काम किया है।

Follow us on Facebook here

Stay connected with us on Twitter here

Like and share our Instagram page here

SHOW COMMENTS drop down