user tracker image

जेजे लालपेखलुआ: भारतीय फूटबाल टीम का अगला लक्ष्य 2019 का एशियन कप क्वालिफिकेशन है

no photo
camera iconcamera icon|

Getty

जेजे लालपेखलुआ: भारतीय फूटबाल टीम का अगला लक्ष्य 2019 का एशियन कप क्वालिफिकेशन है

AIFF प्लेयर ऑफ़ द ईयर जेजे लालपेखलुआ ने कहा कि भारतीय टीम की नज़रें अब 2019 AFC एशियन कप में जगह बनाने पर है। मिजोरम के 26 वर्षीय फॉरवर्ड खिलाड़ी को यह भी लगता है कि युवा और नए प्रतिभाओं की वजह भारतीय फुटबॉल की स्थिति सुधरी है, सीनियर खिलाड़ियों ने भी अपना सहयोग दिया है।

101वे स्थान पर पहुँचते हुए भारत को 31 पायदानों का फायेदा हुआ है -- जो 1996 के बाद से अब तक की सबसे बड़ी रैंकिंग है। टीम की स्थिति भी इस वक़्त बहुत अच्छी है और वह 13 में से 11 मुकाबले जीत चुके हैं। 31 गोल स्कोर कर टीम ने लगातार सात मुकाबले जीते हैं।

"101वे स्थान पर पहुँचने के लिए हम सभी ने मेहनत की है और हमारा अगला लक्ष्य सर्वोच्च 100 में शामिल होना होगा। हम बहुत ज्यादा आगे की नहीं सोचेंगे। हमारा लक्ष्य इस वक़्त UAE में होने वाले AFC एशियन कप में जगह बनाना है और अगर हम यह कर सके तो यह हमारी अच्छी शुरुआत होगी," लालपेखलुआ ने टाइम्स ऑफ़ इंडिया से कहा।

"24 टीम UAE में होने वाले AFC एशियन कप में जगह बनायेंगे और हम भी उनमें शामिल होना चाहते हैं। मेरे ख्याल से अगर हम अच्छा खेलते रहे तो यह संभव होगा।"

पिछले साल मार्च में तुर्कमेनिस्तान में विश्व कप क्वालीफ़ायर में हारने के बाद से भारत एक भी मैच नहीं हारा है - फिर चाहे वह घरेलू मैदान में हुआ हो या विदेश में। "टीम में कुछ नए चहरों को शामिल किये जाने की कोशिश चल रही है। पिछले एक या दो सालों में कई युवा खिलाड़ियों ने फुटबॉल में कदम रखा है इसीलिए मुझे उम्मीद है कि वे सभी अच्छा करेंगे," लालपेखलुआ ने कहा।

"अगर किसी एक ख़ास खिलाड़ी का नाम लेने को कहा जाए तो मैं जेरी लालरिनजुआला का नाम लिंग क्योंकि वह सिर्फ 18 साल के हैं और इंडियन सुपर लीग में बेहतरीन प्रदर्शन करने के बाद अब उन्हें राष्ट्रीय टीम में शामिल किया जा रहा है। उन्होंने इंडियन सुपर लीग का इमर्जिंग प्लेयर अवार्ड भी जीता है। मेरे ख्याल से वह ज्यादा स्वस्थ हैं और उनके आगे का समय अच्छा रहेगा," उन्होंने कहा।

अपने बारे में बात करते हुए लालपेखलुआ ने कहा, "मैं अभी 25 का ही हूँ, आगे मुझे एक लम्बा सफ़र तय करना है। अच्छा है कि नए चहरे टीम में शामिल हो रहे है और इस वजह से हम भी निरंतर मेहनत करते रहते हैं। मुझे इससे कोई घबराहट नहीं होती। यह तो फुटबॉल का हिस्सा है।

"इंडियन सुपर लीग बहुत अच्छा है क्योंकि इससे खिलाड़ी और फुटबॉल को अच्छा एक्सपोज़र मिला है। हालांकि, अगर मौजूदा छोटे प्रारूप के बजाये, ढांचा और बड़ा होता तो बेहतर होता।"

Cricket FootBall Kabaddi

Basketball Hockey

SportsCafe

SHOW COMMENTS drop down