user tracker image

हॉकी इंडिया ने पाकिस्तान फेडरेशन से बिना किसी शर्त के माफ़ी मांगने को कहा

no photo
camera iconcamera icon|

हॉकी इंडिया ने पाकिस्तान फेडरेशन से बिना किसी शर्त के माफ़ी मांगने को कहा

हॉकी इंडिया ने स्पष्ट किया है कि PHF जब तक 2014 CT में अपने खिलाड़ियों के गैर-पेशेवर हरकतों के लिए लिखित माफ़ी नहीं मांगता, भारत किसी द्वादेशीय शृंखला में इच्छुक नहीं होगा। लेकिन बोर्ड ने यह भी स्पष्ट किया है कि जूनियर विश्व कप में पाकिस्तान के न शामिल होने की वजह विलंब से आये वीसा एप्लीकेशन ही है।

हाल ही में, पाकिस्तान हॉकी फेडरेशन (PHF) के सचिव शाहबाज़ अहमद ने कहा था कि भुवनेश्वर में 2014 के चैंपियंस ट्रॉफी में हुई वारदात ही, लखनऊ में हुए जूनियर विश्व कप में पाकिस्तान की गैर-हाज़री की वजह है। इसी बयान पर, हॉकी इंडिया के कार्यकारी समिति के एथलिट प्रतिनिधि, आर पी सिंह ने कहा है कि यह बहुत शर्मनाक बात है कि पाकिस्तान ने एक बार फिर अपने खिलाड़ियों के गैर-पेशेवर हरकतों को बहाना बनाकर सामने रखा है।

"इसी के और पाकिस्तान हॉकी फेडरेशन द्वारा अपनी कमियों को छिपाने के लिए दूसरों पर दोष डालने के संदर्भ में, हॉकी इंडिया यह स्पष्ट करना चाहता है कि 2014 में हुए FIH चैंपियंस ट्रॉफी में पाकिस्तानी टीम के आपत्तिजनक व्यवहार और मीडिया के सामने हॉकी इंडिया के बारे में झूठी बातें बताने के लिए पाकिस्तान को बिना किसी शर्त के, लिखित में मांफी मांगनी होगी, वर्ना भारत पाकिस्तान के साथ द्वादेशीय शृंखला के लिए इच्छुक नहीं होगा।

"हम एक बार फिर यह कहना चाहेंगे कि पाकिस्तान हॉकी फेडरेशन को अपनी कमियों की ज़िम्मेदारी लेनी चाहिए और अपने स्थानीय लोगों को खुश करने के लिए भारत पर दोष देना बंद करना चाहिए। अब ज़रुरत यह है कि पाकिस्तान संगठित तौर पर कार्य करें, ना की अपने अंदरूनी दिक्कतों के लिए दूसरों को दोष दे," सिंह ने हॉकी इंडिया की प्रेस विज्ञप्ति में कहा।

PHF, टूर्नामेंट के 60 पहले वीसा के लिए एप्लीकेशन डालने में चूक गया था, जिस वजह से लखनऊ में हुए जूनियर विश्व कप में पाकिस्तान भाग नहीं ले पाया।

"पाकिस्तान हॉकी फेडरेशन ने टूर्नामेंट की शुरुआत से 60 दिन पहले तक वीसा एप्लीकेशन दर्ज नहीं किया था, जो समय सीमा भारतीय सरकार ने अनुमति लेने के लिए तय की थी। चूंकि, पाकिस्तान हॉकी फेडरेशन इस समय सीमा के अन्दर अपने वीसा जमा नहीं कर पाया, हॉकी इंडिया पर FIH द्वारा आमंत्रण के ख़ारिज किये जाने का दोष नहीं डाला जा सकता," हॉकी इंडिया के बयान में लिखा गया है।

"FIH ने भी कई बार पाकिस्तान हॉकी फेडरेशन को पाकिस्तानी टीम के वीसा देने के लिए कहा था, ऐसे में हॉकी जूनियर विश्व कप 2016 से पाकिस्तानी टीम को बाहर करने का निर्णय सिर्फ और सिर्फ FIH का है और इससे हॉकी इंडिया का कोई लेना देना नहीं है," उन्होंने अंत में कहा।

Follow us on Facebook here

Stay connected with us on Twitter here

Like and share our Instagram page here

SHOW COMMENTS drop down