'नरसिंह कम से कम एक रजत पदक तो जरूर लाते' - भारतीय कुश्ती संघ के सेक्रेटरी

no photo
camera iconcamera icon|

'नरसिंह कम से कम एक रजत पदक तो जरूर लाते' - भारतीय कुश्ती संघ के सेक्रेटरी

भारतीय कुश्ती संघ के सेक्रेटरी वीएन प्रसूद ने कहा है कि नरसिंह यादव अगर ओलंपिक में गए होते, तो भारत के खाते में कम से कम एक और रजत पदक तो जरूर आता। साथ ही रियो के ले फ्लाइट बोर्ड करने से पहले नरसिंह ने सारे मापदंडों को पास कर लिया था, इस बात पर भी जोर दिया।

नरसिंह कम से कम एक रजत पदक तो जरूर लेकर आते प्रसूद(पीटीआई)

प्रसूद से सिलसिलेवार तरीके से सबी घटनाओं को याद दिलाते हुए कहा कि अगर हमने नरसिंह को ओलंपिक में भेजा होता, तो रिजल्ट भी पहले ही हाथों में होता।यहां तक कि चयनित सूचि में पहले ही नरसिंह का नाम डाल दिया गया था, जिसकी सूचना उस दिन रात 8:30बजे दी गई – सी.ए.एस।

सीएएस न यहां तक कहा था कि आप अपना वजन कराएं, और किसी बात की चिंता छोड़ दें, हम शाम तक रिपोर्ट भेज दें”, इस बयान के बाद हम बैन के बारे में सोच भी नहीं सके।

यहां तक कि इस बारे में भी हमने सोचा कि अगर नरसिंह पर किसी का एक्शन होगा भी तो 21 अगस्त के बाद, वो भी अगर वो मेडल जीत जाते हैं तो उसे वापस लेकर।

नरसिंह के खिलाफ ऐसा निर्णय भी हो सकता है, ये हमारे सोच से परे था। अगर इस डीसिजन के बारे में पहले पता चला होता, तो शाद नरसिंह की जगह हमने प्रवीण राणा को भेज दिया होता- प्रसूद

प्रसूद ने इस बात का भी खुलासा किया की अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक कमिटी और यूनाईटेड वर्ल्ड रेसलिंग से नरसिंह को क्लिनचिट मिल गया था।

यूनाईटेड वर्ल्ड रेसलिंग और आईओसी से रास्ता साफ हो जाने के बाद कैसे आखिर रियो में जाने से नरसिंह को रोका जा सकता था।

और अगर वर्ल्ड एंटी डोपिंग एसोसिएशन को अपील करना ही तो, 10 अगस्त के पहले उन्होंने पहल क्यों नहीं की- प्रसूद

 

 

Follow us on Facebook here

Stay connected with us on Twitter here

Like and share our Instagram page here

SHOW COMMENTS drop down