user tracker image

योगेश्वर दत्त का ओलिंपिक कांस्य पदक रजत पदक में नहीं बदलेगा

no photo
camera iconcamera icon|

© Getty Images

योगेश्वर दत्त का ओलिंपिक कांस्य पदक रजत पदक में नहीं बदलेगा

योगेश्वर दत्त का 2012 ओलिंपिक का कांस्य पदक रजत पदक में बदलने की प्रक्रिया को उस समय विराम लग गया जब अंतर्राष्ट्रीय ओलिंपिक कमेटी ने दिवंगत कुश्ती खिलाड़ी बेसिक कुदुखोव पर डोपिंग की जांच को समाप्त करने का निर्णय लिया। इस रूसी खिलाड़ी पर कथित तौर पर प्रतिबंधित स्टेरॉयड लेने का आरोप लगा था।

कुदुखोव, जिन्होंने ने 2012 कमें हुए लन्दन ओलिंपिक में कुश्ती के 60 किलोग्राम फ्रीस्टाइल वर्ग में रजत पदक जीता था, की 2013 में एक कार दुर्घटना में मृत्यु हो गयी थी। रूस के कुश्ती महासंघ ने कहा है कि 2012 के खेलों के दौरान लिए गए नमूने का दोबारा परीक्षण करने पर उसमें प्रतिबंधित तत्व तुरिनाबोल के अंश पाए गए हैं।

अन्वेषण के परिणामों के फलस्वरूप इस केस को अंतर्राष्ट्रीय ओलिंपिक कमेटी के अनुशासनात्मक आयोग को दे दिया है जिसमें स्विट्ज़रलैंड के डेनिस ओसवाल्ड, स्वीडन के गुनिल्ला लिंडबर्ग और तुर्की के उगुर एर्देनेर हैं। कमेटी ने, हालांकि, रूसी खिलाड़ी को आरोपमुक्त कर दिया है।

“ अंतर्राष्ट्रीय ओलिंपिक कमेटी ने यह निर्णय लिया है कि हम कुश्ती खिलाड़ी कुदुखोव को 2012 के लन्दन ओलिंपिक के दौरान जीते रजत पदक से वंचित नहीं करेंगे,” यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग के उपाध्यक्ष जॉर्जी ब्र्युसोव कथन की पुष्टि करते हुए कहा।

यह सुझाव दिया गया था कि यदि जांच में कुदुखोव को दोषी पाया जाता है तो योगेश्वर दत्त का कांस्य पदक रजत पदक में बदल दिया जायेगा।

हालांकि, भारतीय कुश्ती खिलाड़ी ने पहले ही यह कह दिया है कि वो रजत पदक स्वीकार नहीं करेंगे और वह रजत पदक रूसी खिलाड़ी के परिवार के पास ही रहना चाहिए।

“ यह उनके परिवार के सम्मान को बनाये रखेगा। मेरे लिए मानवता हे सब कुछ है,” दत्त ने कहा जब पदक में संभावित बदलाव का सुझाव दिया गया था।

Follow us on Facebook here

Stay connected with us on Twitter here

Like and share our Instagram page here

SHOW COMMENTS drop down